पंजाब

जग्गू भगवानपुरिया ने डॉक्टर को दी धमकी, मांगे 1 करोड़ रूपए।

Sonali
24 Oct 2021 11:24 AM GMT
जग्गू भगवानपुरिया ने डॉक्टर को दी धमकी, मांगे 1 करोड़ रूपए।
x
अमृतसर की सिविल लाइंस के एक डॉक्टर को फोन पर धमकी देकर एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने वाले बदमाश को पुलिस ने शिकायत के 24 घंटों में गिरफ्तार कर लिया है। तकनीकी ढंग से जांच करते हुए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के बाद गठित जांच टीम की ओर से फैलाए जाल के बाद गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के पुराने साथी को शनिवार को दबोचा गया।

जनता से रिश्ता। अमृतसर की सिविल लाइंस के एक डॉक्टर को फोन पर धमकी देकर एक करोड़ रुपये की रंगदारी मांगने वाले बदमाश को पुलिस ने शिकायत के 24 घंटों में गिरफ्तार कर लिया है। तकनीकी ढंग से जांच करते हुए सीसीटीवी कैमरों की फुटेज खंगालने के बाद गठित जांच टीम की ओर से फैलाए जाल के बाद गैंगस्टर जग्गू भगवानपुरिया के पुराने साथी को शनिवार को दबोचा गया। आरोपी गिरफ्तार किए जाने के वक्त डॉक्टर से रंगदारी की वसूली करने पहुंचा था। यह जानकारी पुलिस कमिश्नर डा. सुखचैन सिंह ने दी। उन्होंने बताया कि गिरफ्तार किए युवक की पहचान हकीमां गेट स्थित फतेह सिंह कॉलोनी के रहने वाले इंद्रप्रीत सिंह उर्फ कैप्टन पुत्र तरलोक सिंह के रूप में हुई है।

सिविल लाइंस एरिया के डॉक्टर से गैंगस्टर जगदीप सिंह उर्फ जग्गू भगवानपुरिया ने अपने उक्त गुर्गे के जरिए फोन पर 1 करोड़ रुपये की रंगदारी देने की मांग की थी। इस बाबत पुलिस को बताए जाने पर डॉक्टर के परिवार को भी नुकसान पहुंचाने की धमकियां दी थी। पुलिस कमिश्नर ने बताया कि डॉक्टर की ओर से इसकी शिकायत दिए जाने के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए तुरंत एक टीम गठित की गई। इस टीम के एसीपी डिटेक्टिव और सीआईए स्टाफ के इंस्पेक्टर इंद्रजीत सिंह और सिविल लाइंस थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शिवदर्शन सिंह ने एडीसीपी जुगराज सिंह के नेतृत्व में जांच शुरू की थी।

एक तरफ पुलिस ने डॉक्टर के फोन पर आए मोबाइल नंबरों को खंगालना शुरू किया तो दूसरी तरफ योजना के तहत डॉक्टर ने रंगदारी की राशि देने के लिए जग्गू के गुर्गे को बुला लिया। पुलिस ने अपनी योजना के मुताबिक बिछाए जाल में गैंगस्टर जग्गू के गुर्गे को फंसाकर गिरफ्तार कर लिया। उसके कब्जे से रंगदारी मांगने के लिए इस्तेमाल किए गए मोबाइल फोन और एक्टिवा बरामद की गई है। सीपी ने बताया कि आरोपी के खिलाफ पहले भी दो केस दर्ज हैं। एक एफआईआर एनडीपीएस एक्ट में सिविल लाइंस थाने और दूसरी एफआईआर भी एनडीपीएस एक्ट में हकीमां गेट थाने में दर्ज है। पुलिस आरोपी को अदालत में पेश कर रिमांड पर लेकर उसके साथियों का पता लगा रही है

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it