पंजाब

हनीमून मनाने सिंघु बॉर्डर पहुंचा कपल, जानिए क्या है पूरा माजरा

Admin1
4 Nov 2021 2:01 AM GMT
हनीमून मनाने सिंघु बॉर्डर पहुंचा कपल, जानिए क्या है पूरा माजरा
x
पढ़े पूरा मामला

सोनीपत। केंद्र सरकार के तीन नए कृषि कानूनों (Agriculture Law) के खिलाफ सिंघु बॉर्डर (Sighu Border) पर किसानों का आंदोलन (Kisan Andolan) करीब एक साल से चल रहा है. बुधवार को किसान आंदोलन में लुधियाना से एक नवविवाहित जोड़ा (Newly married) सिंघु बॉर्डर पहुंचा और मंच पर मत्था टेककर नए जीवन की शुरुआत की. लुधियाना से आए हरजोत सिंह और मनप्रीत कौर ने अपनी वैवाहिक जीवन की शुरुआत किसान आंदोलन में हिस्सेदारी करके की. दोनों को शादी पर शगुन में जो धनराशि मिली थी, वह उन्होंने सिंघु बॉर्डर पर पहुंचकर किसान आंदोलन की अगुवाई कर रहे संयुक्त किसान मोर्चा (Sayunkt Kisan Morcha-SKM) को सौंप दी.

किसानों के मंच पर माथा टेकने के बाद नवविवाहित जोड़े ने आह्वान किया कि जो युवा किसी न किसी वजह से अभी तक आंदोलन में नहीं पहुंच पाए हैं, वह एक बार यहां जरूर आएं. किसानों ने भी नवविाहित जोड़े को आशीर्वाद दिया और आंदोलन के नाम शगुन भेंट किया. पंजाब में लुधियाना जिले के माच्छीवाड़ा एरिया के संघे गांव में रहने वाले हरजोत सिंह और मनप्रीत कौर की शादी पिछले महीने 18 अक्टूबर को हुई. दो हफ्ते शादी की रस्मों और रिश्तेदारी में ही गुजर गए. वहां से फ्री होने के बाद दोनों हनीमून पर जाने की बजाय सीधे किसान आंदोलन में हिस्सेदारी करने सिंघु बॉर्डर पर पहुंच गए. हरजोत सिंह के अनुसार, शादी के बाद जिंदगी का नया अध्याय शुरू हुआ है. दोनों ने जब अपने परिवार को सिंघु बॉर्डर पर जाने की इच्छा के बारे में बताया तो परिवार ने भी हौसला बढ़ाया. इसके बाद हरजोत सिंह व मनप्रीत कौर सिंघु बॉर्डर पर पहुंचे और शादी में शगुन के तौर पर मिले 11 हजार रुपए किसान आंदोलन में दान दे दिए. दोनों ने यह रकम किसान आंदोलन के मंच पर रखी गत्ते की पेटी में डाल दी. दोनों के साथ उनके रिश्तेदार भी यहां आए.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it