ओडिशा

ओडिसा पंचायत चुनाव के दौरान कई जगहों पर हुई हिंसक झड़प, पक्ष और विपक्ष ने एक दूसरे पर लगाया आरोप

Kunti Dhruw
17 Feb 2022 6:44 PM GMT
ओडिसा पंचायत चुनाव के दौरान कई जगहों पर हुई हिंसक झड़प, पक्ष और विपक्ष ने एक दूसरे पर लगाया आरोप
x
ओडिशा (Odisha) में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल, विपक्षी भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने राज्य में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के पहले चरण के मतदान (Voting) के दौरान एक दिन पहले हुई.

ओडिशा (Odisha) में सत्तारूढ़ बीजू जनता दल, विपक्षी भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने राज्य में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) के पहले चरण के मतदान (Voting) के दौरान एक दिन पहले हुई, हिंसा के लिए बृहस्पतिवार को एक-दूसरे को जिम्मेदार ठहराया है. राज्य के विभिन्न हिस्सों से मतपेटी छीनने, मतदान केंद्रों पर कब्जा और तोड़फोड़ की कई घटनाएं हुयीं और हिंसा में करीब 50 लोग घायल हुए थे. राज्य चुनाव आयुक्त एपी पाधी ने मुख्य सचिव एस. सी. महापात्र और पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) एसके बंसल के साथ तत्काल बैठक बुलाई. बैठक के बाद बंसल ने कहा कि 18, 20, 22 और 24 फरवरी को शेष चार चरणों के मतदान में ऐसी घटनाओं से सख्ती से निपटा जाएगा.

बुधवार को कम से कम 25 मतदान केंद्रों पर मतदान बाधित हुआ. एक जगह मीडियाकर्मियों पर भी हमला हुआ और उनके उपकरणों को क्षतिग्रस्त कर दिया. डीजीपी ने कहा कि हिंसा में शामिल लोगों को गिरफ्तार किया जा रहा है. बुधवार को मतदान के दौरान हुई हिंसा को लेकर बीजद, भाजपा और कांग्रेस ने एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाए. राज्य भाजपा अध्यक्ष समीर मोहंती ने हिंसक घटनाओं के लिए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक को जिम्मेदार ठहराया जो गृह विभाग के प्रभारी भी हैं.

बीजद सांसद ने भाजपा पर लगाया आरोप
दूसरी ओर बीजद सांसद और पार्टी प्रवक्ता सस्मित पात्रा ने घटनाओं के लिए भाजपा को जिम्मेदार ठहराया. उन्होंने आरोप लगाया कि पंचायत चुनावों में हार महसूस करने के बाद भाजपा हिंसा में लिप्त थी. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और विधायक सुरेश राउत्रे ने हिंसा के लिए बीजद और भाजपा दोनों को जिम्मेदार ठहराया है.

ओडिशा में पांच चरण में मतदान
आपको बता दें कि देश के कई हिस्सों में चुनाव का माहौल है. इस बीच ओडिशा में पांच चरणों में बुधवार को शुरू हुए पंचायत चुनावों में हिंसा की खबर सामने आई हैं. हिंसक झड़पों में दर्जनों लोग घायल हो गए. साथ ही दो स्थानीय टीवी चैनलों के चार पत्रकारों पर चुनाव कवर करते समय हमला किया गया. चुनाव पांच चरणों में हो रहे हैं.

पुरी के कृष्णप्रसाद ब्लॉक में हिंसा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पुरी जिले के कृष्णप्रसाद ब्लॉक के अलंदा ग्राम पंचायत के तिछीनी गांव में मतदान के दौरान जमकर हिंसा हुई. इसमें कम से कम 40 लोग घायल हो गए, जिनमें से 17 की हालत गंभीर है. साथ ही इसी जिले के कनास प्रखंड के बदला ग्राम पंचायत के एक बूथ पर स्थानीय टीवी चैनलों के चार पत्रकारों पर कथित रूप से हमला किया गया. वहीं पुरी जिले के ब्रह्मगिरी ब्लॉक के चापमानिक ग्रामपंचायत के काशीझरिया गांव में एक बूथ से मतपेटी उठाकर परिसर की दीवार पर मारा गया. ढेंकनाल जिले के निहालप्रसाद गांव में भी कुछ उपद्रवियों ने जमकर बवाल काटा. बदमाशो ने बैलेट पेटी को लेकर भागने की कोशिश की, इस बीच में आए एक बूथ में पीठासीन अधिकारी पर हमला कर दिया.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta