ओडिशा

पुरी में 10 लाख से अधिक भक्तों का होगा समागम, विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा की तैयारियां जोरों पर

Gulabi Jagat
18 Jun 2022 12:43 PM GMT
पुरी में 10 लाख से अधिक भक्तों का होगा समागम, विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा की तैयारियां जोरों पर
x
विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा की तैयारियां जोरों पर
पुरी जगन्नाथ धाम मे एक जुलाई को निकलने वाली महापभु जगन्नाथ जी की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा को शांति पूर्ण ढंग से सम्पन्न कराने के लिए पूरा प्रशासन युद्ध स्तर पर अपनी तैयारी कर रहा है। इसके ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सभी से सहयोग करने की कामना की है। मुख्यमंत्री ने रथयात्रा समन्वय कमेटी की चौथी आखिरी बैठक को वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से सम्बोधित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के बाद पहली भक्तों के समागम के बीच रथयात्रा निकाली जाएगी। इसके लिए मुख्यमंत्री ने खुशी व्यक्त करते हुए भक्तों के अनुशासित दर्शन एवं उनके लिए सभी प्रकार की सुविधा की व्यवस्था करने हेतु अधिकारियों को निर्देश दिया है।
मुख्‍यमंत्री ने दिया सेवकों का धन्‍यवाद
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के समय शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न हुई रथयात्रा में सेवकों का मैनेजमेंट में बहुत बड़ा सहयोग था। सेवकों ने खुद रथ को खींचकर महाप्रभु की विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा को शांतिपूर्ण ढंग से सम्पन्न कराया। इसके लिए मैं सभी सेवकों को धन्यवाद देता हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना का डर अभी भी खत्म नहीं हुआ है। ऐसे में सतर्कता के साथ रथयात्रा करने के लिए मुख्यमंत्री ने कहा है। रथ निर्माण से लेकर सुरक्षा व्यवस्था, पेज जल की व्यवस्था, डाक्टरी व्यवस्था, पार्किंग की सुविधा, रथयात्रा में होने वाली भीड़ को नियंत्रित करने की व्यवस्था, रास्तों की मरम्मत आदि कार्य कहां तक पूरा हुआ है, उसकी जानकारी भी समीक्षा बैठक के दौरान मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से ली है।
सभी से सहयोग की कामना
बैठक में जगन्नाथ मंदिर के मुख्य प्रशासक वीर विक्रम यादव ने जानकारी देते हुए कहा कि रथ निर्माण कार्य समय से हो रहा है। रथ निर्माण के लिए लकड़ी एवं अन्य तमाम सामग्री जैसे रथ का कपड़ा, रस्सी आदि मौजूद है। रथयात्रा को शांतिपूर्ण एवं व्यवस्थित ढंग से सम्पन्न कराने के लिए हम सभी से सहयोग की कामना करते हैं। पुलिस डीजी सुनील कुमार बंसल ने कहा कि इस साल की रथयात्रा में सुरक्षा व्यवस्था हमारे लिए बड़ी चुनौती है। क्योंकि दो साल बाद भक्तों के समागम के बीच इस साल रथयात्रा हो रही है। इस साल भारी संख्या में भक्तों का समागम होने की सम्भावना है। ऐसे में हम उसी हिसाब से तैयारी कर रहे हैं। पिछले सालों की तुलना में अधिक सीसीटीवी कैमरे लगाए जाएंगे तथा अधिक संख्या में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी 1 जुलाई से 12 जुलाई तक पुरी में तैनात रहेंगे।
दूरदर्शन पर होगा सीधा प्रसारण
विकास आयुक्त प्रदीप कुमार जेना ने कहा कि कोरोना के बाद भक्तों को लेकर रथयात्रा होने जा रही है, इसके लिए सभी पकार की तैयारी की जा चुकी है। 200 यूनिट रक्त की व्यवस्था, 20 आशु चिकित्सा केन्द्र, 233 अतिरिक्त डाक्टर, 6 फूड इंस्पेक्टर की नियुक्ति की जा चुकी है। गर्मी के लिए बड़दांड में भक्तों को पानी पीने के लिए 30 टैंकर, भक्तों के ऊपर पानी छिड़काव के लिए दो मशीन की व्यवस्था की गई है। बिजली विभाग की तरफ से 24 घंटे बिजली आपूर्ति करने की जानकारी दी गई। रथयात्रा के दौरान पुरी के लिए राज्य के अन्दर एवं राज्य के बाहर से अतिरिक्त 137 नई ट्रेन चलायी जाएगी। सरकार की तरफ से जरूरत के हिसाब से बस की व्यवस्था की गई है। सीसीटीवी के साथ ही अधिक संख्या में वैल्यूंटियर नियोजित किए जाएंगे। राज्य के कानून एव जनसंपर्क विभाग के मंत्री जगन्नाथ सारका ने कहा कि रथयात्रा के दिन पुरी में 10 लाख से अधिक भक्तों के समागम होने की उम्मीद है। हम इसी हिसाब से अपनी तैयारी कर लिए हैं। शहर के चारों तरफ 11 सूचना संपर्क केन्द्र की व्यवस्था की गई है। रथयात्रा का सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर किया जाएगा। केन्द्रांचल राजस्व आयुक्त सुरेश चन्द्र दलेई ने धन्यवाद ज्ञापन किया।
इस समीक्षा बैठक में श्रीमंदिर के मुख्य प्रशासक वीर विक्रम यादव, विकास आयुक्त प्रदीप कुमार जेना, मंत्री प्रताप देव, मंत्री प्रदीप कुमार अमात, मंत्री टुकुनी साहू, मंत्री अतनु सव्यसाची नायक, मंत्री अश्विनी पात्र, मंत्री जगन्नाथ सारका, मंत्री ऊषा देवी, पुलिस डीजी सुनील कुमार बंसल, अतिरिक्त डीजी राधा कृष्ण शर्मा, वरिष्ठ अधिकारी संजीव पंडा, अशोक मीना, आईजी ला एण्ड आर्डर नरसिंह भोल, ट्रांसपोर्ट आयुक्त अरूण बोथरा, पुरी पुलिस अधीक्षक के.विशाल सिंह, पुरी के विधायक जयंत कुमार षडंगी प्रमुख उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन पुरी के जिलाधीश समर्थ वर्मा ने किया। राज्य के सभी वरिष्ठ अधिकारी व मैनेंजिंग कमेटी के सदस्य उपस्थित थे। अतिरिक्त जिलाधीश प्रदीप कुमार साहू ने बैठक से पहले सभी का स्वागत किया।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta