ओडिशा

दूसरी जाति के युवक से शादी करने पर सामाजिक बहिष्कार मृत्यु के बाद भी नहीं हुआ खत्म, किसी ने नहीं दिया कंधा

Gulabi
15 Jan 2022 3:39 PM GMT
दूसरी जाति के युवक से शादी करने पर सामाजिक बहिष्कार मृत्यु के बाद भी नहीं हुआ खत्म, किसी ने नहीं दिया कंधा
x
सामाजिक बहिष्कार मृत्यु के बाद भी नहीं हुआ खत्म
राउरकेला : दूसरी जाति के युवक से शादी करने पर सामाजिक बहिष्कार मृत्यु के बाद भी खत्म नहीं हुआ। तलसरा थाना क्षेत्र के भंडारीशंकरा गांव में 30 वर्षीय पुष्पा बाग की पति के द्वारा गला दबाकर हत्या होने पर पुलिस द्वारा शव को जब्त कर पोस्टमार्टम कराया गया। जब उसके अंतिम संस्कार का समय आया तब समाज के लोग व परिजन सामने नहीं आए एवं शव पड़ा रहा। श्मशान बंधुओं ने उसका अंतिम संस्कार किया।
विज्ञान के इस युग में भी जाति भेद व छुआछूत खत्म नहीं हुआ है। सुंदरगढ़ जिले के तलसरा थाना अंतर्गत भंडारीशंकरा गांव में 30 वर्षीय पुष्पा बाग ने दूसरी जाति के युवक नंद कुमार कराली से शादी कर ली थी। इससे उसके मायके वालों ने उसका सामाजिक बहिष्कार कर दिया था। नंद कुमार कराली शादीशुदा था एवं विवाद होने के बाद उसकी पत्नी मायके में रह रही थी। मंगलवार की रात को नंद कुमार कराली एवं पुष्पा के बीच विवाद हो गया। गुस्से में नंद कुमार ने उसकी पिटाई करने के साथ ही गला घोंटकर हत्या कर दी। सूचना मिलने पर पुलिस वहां पहुंची और आरोपित को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। वहीं, शव को जब्त कर पुलिस इसकी जांच कर रही थी। शव का पोस्टमार्टम करने के बाद जब परिवार वालों को इसकी सूचना दी गई तब वे उसे लेने से इंकार कर दिया। दो दिनों तक किसी के नहीं आने पर श्मशान बंधु सिद्धांत पंडा को इसकी सूचना दी गई। टीम के शिशिर बेहरा, मनोज त्रिपाठी, कमलेश नथानी, चिटू रक्शा, देवेन साहू ने अस्पताल पहुंचकर शव को श्मशान घाट लाकर अंतिम संस्कार किया। तब अनुमंडलीय पुलिस अधिकारी मधुसिक्ता मिश्र भी उनके साथ थी।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it