मिज़ोरम

मिजोरम: अफ्रीकी स्वाइन फीवर बनी कहर, 37000 सूअरों की हुई मौत

Nidhi Markaam
2 Jun 2022 9:43 AM GMT
मिजोरम: अफ्रीकी स्वाइन फीवर बनी कहर, 37000 सूअरों की हुई मौत
x
पशुपालन और पशु चिकित्सा विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल मार्च से अब तक ASF के कारण 37,000 से अधिक सूअरों की मौत हो चुकी है

वैश्विक महामारी कोरोना का कहर अभी थमा भी नहीं की एक और खतरनाक बीमारी ने तबाही मचाना शुरू कर दिया है। अफ्रीकी स्वाइन फीवर ने पूर्वोत्तर भारत के राज्य मिजोरम में कहर बरपा दिया है। आलम ये है कि इस खतरनाक बीमारी से अब तक 37000 सूअरों की मौत हो चुकी है। अब हालातों को देखते हुए मिजोरम सरकार इस बीमारी को आपदा घोषित करने की तैयारी कर रही है।

मिजोरम के पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री डॉक्टर के बिछुआ ने कहा कि राज्य सरकार जल्द ही अफ्रीकी स्वाइन फीवर (ASF) के प्रकोप को 'राज्य आपदा' के रूप में घोषित करेगी, जिसकी वजह से 37 हजार से अधिक सूअर मारे जा चुके हैं। पशुपालन और पशु चिकित्सा मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री जोरमथांगा ने इस प्रकोप को राज्य आपदा घोषित करने के लिए अपनी सहमति पहले ही दे दी है। उन्होंने कहा कि ASF के प्रकोप की घोषणा करने वाली एक अधिसूचना जल्द ही जारी की जाएगी।
पशुपालन और पशु चिकित्सा विभाग द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार, पिछले साल मार्च से अब तक ASF के कारण 37,000 से अधिक सूअरों की मौत हो चुकी है, जिससे भारी आर्थिक नुकसान हुआ है। आंकड़ों में कहा गया है कि इसी अवधि के दौरान कम से कम 13,918 सूअरों को मार दिया गया था, ताकि प्रकोप को फैलने से रोका जा सके।
इसको लेकर डॉ. बिछुआ ने कहा कि राज्य सरकार को पहले ही किसानों के मारे गए सूअरों के मुआवजे के लिए पैसा मिल चुका है। उन्होंने कहा कि सूअर पालन करने वाले किसानों को जल्द ही सहायता राशि जारी की जाएगी। ASF ने मिजोरम के 7 जिलों के 50 से अधिक गांवों या इलाकों को प्रभावित किया है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta