मिज़ोरम

असम के वन अधिकारियों ने किया दावा, 'उनके राज्‍य की जमीन पर मिजोरम फिर बना रहा सड़क'

Kunti
23 Nov 2021 1:23 PM GMT
असम के वन अधिकारियों ने किया दावा, उनके राज्‍य की जमीन पर मिजोरम फिर बना रहा सड़क
x
अंतरराज्यीय सीमा के साथ विवादित क्षेत्रों में निर्माण के खिलाफ केंद्र सरकार की सलाह के बावजूद मिजोरम (Mizoram) ने असम (Assam) में एक आरक्षित वन के अंदर 3.5 किलोमीटर की सड़क का निर्माण किया है.

MIJORAM : अंतरराज्यीय सीमा के साथ विवादित क्षेत्रों में निर्माण के खिलाफ केंद्र सरकार की सलाह के बावजूद मिजोरम (Mizoram) ने असम (Assam) में एक आरक्षित वन के अंदर 3.5 किलोमीटर की सड़क का निर्माण किया है. अधिकारियों ने रविवार को असम के हैलाकांडी में किए गए एक ड्रोन सर्वेक्षण का हवाला देते हुए ये बात कही है. असम और मिजोरम 164.6 किलोमीटर की विवादित सीमा शेयर करते हैं. इसी साल जुलाई महीन में दोनों राज्यों की पुलिस के बीच गोलीबारी में छह लोगों के मारे जाने के बाद केंद्र के हस्तक्षेप के बाद से दोनों राज्यों ने सीमा पर बातचीत की है.

हैलाकांडी संभागीय वन अधिकारी जयंत डेका ने कहा कि असम के अंदर निर्माण किया जा रहा था और निर्माण कार्य सलाहकार के उल्लंघन में चल रहा था. उन्होंने कहा कि 100 से अधिक लोग हथियारों के साथ अंतरराज्यीय सीमा से लगभग एक किलोमीटर अंदर निर्माण के लिए काम कर रहे थे. पांच सदस्यों की हमारी टीम ने क्षेत्र का दौरा किया, लेकिन हम विरोध नहीं कर सके, क्योंकि वो बड़ी संख्या में थे. डेका ने मुश्किल इलाके का हवाला दिया और कहा कि टीम को वहां पहुंचने में पांच घंटे से ज्यादा का समय लगा.
'3.5 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण किया'
साथ ही कहा कि ये अंतरराज्यीय सीमा के पास एक पूर्ण आरक्षित वन क्षेत्र है. हमारे अधिकारी घंटों नावों पर सवार होकर मौके पर पहुंचे. वो रात में तस्वीरों और वीडियो के साथ वापस आए जो साबित कर सकते हैं कि निर्माण हो रहा है. उन्होंने कहा कि असम ने जंगल को अछूता रखा है और मिजोरम ने इसे नष्ट कर दिया है और उनके किनारे के पेड़ काट दिए हैं. उन्होंने 3.5 किलोमीटर लंबी सड़क का निर्माण किया है. हम अपने ड्रोन और सर्वेक्षण के आधार पर राज्य सरकार को एक रिपोर्ट भेजने जा रहे हैं.
हैलाकांडी के पुलिस अधीक्षक गौरव उपाध्याय ने कहा कि उन्होंने अपने मिजोरम समकक्ष के साथ इस मामले पर चर्चा की और वो निर्माण कार्यों को बंद करने पर सहमत हुए. हमने पिछले शनिवार को हैतीचेरा आरक्षित वन क्षेत्र में मशीनरी की कुछ आवाजाही देखी. चूंकि ये इलाका असम-मिजोरम सीमा के पास है, इसलिए हमने मिजोरम के कोलाशिब प्रशासन के साथ इस मामले को उठाया. उन्होंने तुरंत जवाब दिया और निर्माण गतिविधियों को रोकने का आश्वासन दिया.
वहीं मिजोरम के कोलाशिब जिले के पुलिस अधीक्षक वनलालफाका राल्ते ने भी उपाध्याय की बात सुनी. उन्होंने कहा कि सीमा के पास एक सड़क की मरम्मत का काम किया जा रहा था. सूचना मिलने के बाद हमने तुरंत उन्हें काम बंद करने का आदेश दिया और उन्होंने आदेशों का पालन करने का आश्वासन दिया है. केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 5 नवंबर को मिजोरम और असम को सीमा पर विवादित क्षेत्रों में यथास्थिति बनाए रखने और किसी भी निर्माण गतिविधियों को करने से परहेज करने के लिए एक सलाह जारी की. दोनों राज्यों के गृह विभागों ने तदनुसार सीमावर्ती जिलों के उपायुक्तों को अनुपालन करने का निर्देश दिया.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it