मिज़ोरम

मिज़ोरम में 57.2 फीसदी कोरोना के मामले

Gulabi
14 Nov 2021 11:52 AM GMT
मिज़ोरम में 57.2 फीसदी कोरोना के मामले
x
मिजोरम में बीते 24 घंटों में कोरोना के 531 नए मामले दर्ज हुए हैं

ईटानगरः मिजोरम में बीते 24 घंटों में कोरोना के 531 नए मामले दर्ज हुए हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना टेस्ट की दैनिक पॉजिटिविटी दर 11.11 फीसदी है. रिपोर्ट के मुताबिक, मिजोरम देश के आठ पूर्वोत्तर राज्यों में से मिजोरम में दैनिक आधार पर कोरोना संक्रमितों की संख्या सबसे अधिक बनी हुई है. स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, बीते 24 घंटों के दौरान पूर्वोत्तर में कुल नए मामलों की संख्या में से अकेले 57.28 फीसदी मामले मिजोरम में दर्ज हुए हैं.

मिजोरम में शनिवार को लगातार चौथे दिन कोरोना के मामले बढ़े हैं और 669 नए मामले दर्ज किए गए हैं, जिसके बाद राज्य में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1,28,217 हो गई है.
वहीं, शनिवार को कोरोना मृतकों की संख्या बढ़कर 458 हो गई है. मिजोरम में आइजॉल जिले में सबसे ज्यादा नए मामले 307 दर्ज किए गए हैं, जिसके बाद लुंगलेई में 102, चंफाई में 80 दर्ज किए गए हैं.
म्यांमार शरणार्थियों को कोविड-19 टीके की खुराक देगी मिज़ोरम सरकार
मिजोरम सरकार म्यांमार के उन नागरिकों को कोविड-19 रोधी टीकों की खुराक देने की योजना बना रही है, जिन्होंने बीते फरवरी महीने में पड़ोसी देश में सैन्य तख्तापलट के बाद राज्य में शरण ली है.
राज्य पुलिस के रिकॉर्ड के अनुसार, अभी म्यांमार के 12,736 लोग मिजोरम के विभिन्न हिस्सों, खासतौर से देश की सीमा के साथ लगते जिलों में रह रहे हैं.
अधिकारी ने बताया कि इन जिलों के प्राधिकारी सभी योग्य शरणार्थियों को टीके की खुराक देने की योजना बना रहे हैं. पूर्वी मिजोरम के चम्फाई जिले में सबसे अधिक 7,291, उसके बाद लांगतलाई जिले में 1746 और राज्य की राजधानी आइजोल में 1622 म्यांमार नागरिक हैं.
राज्य में शरण लेने वाले लोगों का एक बड़ा वर्ग चिन समुदाय से ताल्लुक रखता है जिसे 'जो' भी कहा जाता है. उनका मिजोरम के मिजो लोगों की तरह ही वंशावली और संस्कृति है. वे मुख्यत: म्यांमार के चिन राज्य के निवासी हैं जिसकी सीमा मिजोरम के साथ लगती है.
रिपोर्टों के मुताबिक, म्यांमार के चिन स्टेट के कई बच्चों सहित म्यांमार के 13,000 से अधिक नागरिकों ने इस साल फरवरी में उनके देश में सैन्य तख्तापलट के बाद मिजोरम में शरण ली थी.
मिजोरम के गृहमंत्री लालचमलियाना ने बताया कि म्यांमार के 13,000 से अधिक नागरिकों ने मौजूदा समय में मिजोरम के अलग-अलग जिलों में शरण ले रखी है.
लुंगलेई जिले के एक वरिष्ठ मेडिकल अधिकारी ने बताया कि सभी योग्य लोगों को इस कोविड-19 टीकाकरण अभियान में शामिल किया जाएगा.
अधिकारी ने बताया, 'मिजोरम के स्थानीय लोगों के अलावा म्यांमार के लगभग 200 नागरिकों को लुंगेलेई जिले में पहले ही कोविड-19 वैक्सीन लगा दी गई है.'
उन्होंने बताया कि ठीक इसी तरह म्यांमार के लगभग 100 नागरिकों को सिरचिप जिले में कोविड-19 वैक्सीन दी गई है.
इससे पहले मिजोरम के मुख्यमंत्री जोरामथंगा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर उनसे मानवीय आधार पर म्यांमार के नागरिकों को शरण देने का अनुरोध किया था. बहरहाल केंद्र ने इस पर अभी जवाब नहीं दिया है.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it