मणिपुर

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने मणिपुर की विकास गाथा को आगे बढ़ाने का दिया आश्वासन

Janta Se Rishta Admin
21 Nov 2021 9:29 AM GMT
केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने मणिपुर की विकास गाथा को आगे बढ़ाने का दिया आश्वासन
x
मणिपुर। केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग, उपभोक्ता मामले, खाद्य तथा सार्वजनिक वितरण और कपड़ा मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कल शनिवार को मणिपुर के उद्योग संगठनों को राज्य की विकास गाथा को आगे बढ़ाने का आश्वासन दिया। कल रात इम्फाल में राज्य के उद्योग, व्यापार और वाणिज्य के विभिन्न संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ बातचीत में, श्री पीयूष गोयल ने कहा कि मणिपुर की विकास गाथा के बिना भारत के विकास की कहानी पूरी नहीं है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार इस सुदूर क्षेत्र में उद्योग, व्यापार और वाणिज्य के विकास से संबंधित बड़ी चुनौतियों से अवगत है।


पीयूष गोयल ने कहा कि पूर्वोत्तर औद्योगिक विकास योजना और एकीकृत विकास तथा औद्योगिक परियोजनाओं के संवर्धन की मंजूरी सहित इस क्षेत्र में उद्योग, व्यापार एवं वाणिज्य को बढ़ावा देने के लिए अनेक प्रयास किए गए हैं और विशेष ढांचागत विकास परियोजनाएं शुरू की गई हैं। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में उद्योग, व्यापार और वाणिज्य के विकास को आगे बढ़ाने के लिए सहयोग और प्रतिस्पर्धा की भावना आवश्यक है। उन्होंने औद्योगिक संगठनों से उद्योग एवं वाणिज्यिक व्यापार को बढ़ावा देने के लिए सहकारी उद्यम और स्टार्ट-अप शुरू करने के साथ-साथ प्रयासों के मनोवांछित परिणाम पाने के लिए प्रौद्योगिकी तथा एक समान प्लेटफॉर्म साझा करने का भी आग्रह किया।

उन्होंने कहा कि उत्तर-पूर्व के राज्यों को उनकी पहचान बनाने पर ध्यान दिया जाएगा और हर मुद्दे के लिए दिल्ली या कोलकाता जाने की जरूरत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि सब कुछ ऑनलाइन करने के उनके मंत्रालय के प्रयास उसी को अमल में लाने के साथ-साथ पूर्ण पारदर्शिता लाने की दिशा में एक उपाय है। गोयल ने यह भी आश्वासन दिया कि उनका मंत्रालय हर संभव प्रयास करेगा ताकि मणिपुर को मुक्त व्यापार समझौते का पूरा लाभ मिल सके, क्योंकि यह राज्य म्यांमार और आसियान देशों का प्रवेश द्वार है।

मणिपुर के वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री थोंगम बिस्वजीत सिंह, भारत सरकार के कपड़ा मंत्रालय के सचिव श्री उपेंद्र प्रसाद सिंह, राज्य के मुख्य सचिव डॉ. राजेश कुमार और राज्य के वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के वरिष्ठ अधिकारी भी बातचीत में शामिल हुए। बातचीत के दौरान, राज्य के औद्योगिक संघों - मणिपुर चैंबर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, इंडो-म्यांमार बॉर्डर ट्रेडर्स यूनियन, ऑल मणिपुर एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन, बिजनेस एक्सीलेंस ग्रुप, मणिपुर पावर लूम डेवलपमेंट एसोसिएशन, मणिपुर हैंडलूम एंड हैंडीक्राफ्ट एंटरप्रेन्योर्स आर्टिसन डेवलपमेंट सोसायटी और आर्थिक विकास संगठन तथा स्वयं सहायता समूहों के प्रतिनिधियों ने सीमावर्ती राज्य के लिए उद्योग, व्यापार और वाणिज्य के विकास के लिए प्रचार के उपाय करने के लिए संक्षिप्त प्रस्तुतियों के साथ श्री पीयूष गोयल का ध्यान आकर्षित किया।

उन्होंने इंफाल में ट्रांजिट ड्यूटी सिस्टम शुरू करने, वीजा शुल्क घटाने, डीजीएफटी, फियो, एक्जिम बैंक, आरबीआई फॉरेक्स सेल जैसे व्यापार से संबंधित कार्यालय खोलने, मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक्स पार्क का विकास करने, निर्यात और आयात व्यापारियों के लिए परिवहन सब्सिडी प्रदान करने, कोल्ड स्टोरेज, सीमा शुल्क कार्यालय आदि की सुविधाओं से सुसज्जित इम्फाल हवाई अड्डे का उन्नयन करने की जरूरत पर जोर दिया।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it