मणिपुर

बर्खास्त कर्मचारी ड्रग्स तस्कर का गिरोह चलाने के आरोप में गिरफ्तार

Kunti
26 Nov 2021 3:18 PM GMT
बर्खास्त कर्मचारी ड्रग्स तस्कर का गिरोह चलाने के आरोप में गिरफ्तार
x
मणिपुर पुलिस में चालक पद से बर्खास्त कर्मचारी ड्रग्स तस्करी का गिरोह चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

नई दिल्ली। मणिपुर पुलिस में चालक पद से बर्खास्त कर्मचारी ड्रग्स तस्करी का गिरोह चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस की स्पेशल की टीम ने आरोपित मुहम्मद कासिम अली को असम के चुराचांदपुर जिले से गिरफ्तार किया है। यह वही इलाका है जहां पर हाल ही में असम राइफल के काफिले पर उग्रवादियों द्वारा हमला किया गया था। आरोपित की गिरफ्तारी पर दिल्ली पुलिस की तरफ से एक इसी साल एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था।

यह कई राज्यों में हेरोइन की तस्करी कर रहा था। गत वर्ष इसके दो साथियों को 10 किलो हेरोइन के साथ गिरफ्तार किया गया था। दोनों से पूछताछ के बाद इसके बारे में पता चला।स्पेशल सेल के उपायुक्त राजीव रंजन सिंह के मुताबिक, स्पेशल सेल की एसटीएफ ड्रग्स तस्करी को लेकर लगातार काम कर रही थी। गत वर्ष पुलिस टीम ने 10 किलो हेरोइन के साथ मुहम्मद इकबाल खान और मुहम्मद इशाक को गिरफ्तार किया था। इनसे पूछताछ के बाद मुहम्मद कासिम अली के बारे में पता चला ।
काशिम गुवाहाटी, दार्जिलिंग, सिलीगुड़ी, पश्चिम बंगाल, दिल्ली और यूपी में तस्करों के जरिये हेरोइन भिजवाता था। इसके लिए आरोपित ने वाहनों में विशेष प्रकार के केबिन बनाया था। उसी छुपा कर ड्रग्स की सप्लाई की जाती थी। कासिम को गिरफ्तार करने के लिए इंस्पेक्टर कृष्ण कादयान की देखरेख में एसआइ बिजेंदर और परविंदर, हवलदार शक्ति सिंह, संदीप, राजेश, सिपाही रवि, अब्दुल रजाक की टीम का गठन किया गया।
पुलिस टीम ने 23 नवंबर को छापेमारी को उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपित ने पूछताछ में बताया कि वह 12वीं तक पढ़ा है। मणिपुर पुलिस में वह चालक के तौर पर भर्ती हुआ था। इस दौरान पारिवारिक झगड़े में उसने एक हत्या को अंजाम दे दिया जिसमें उसकी गिरफ्तारी हुई थी। इसके चलते उसे बर्खास्त कर दिया गया था। इसके बाद जमानत पर आने के बाद वह ड्रग्स तस्करी करने लगा।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it