मणिपुर

मणिपुर: पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू, देश के अन्य हिस्सों के लिए जल्द चलेगी ट्रेन

Kunti
8 Jan 2022 9:40 AM GMT
मणिपुर: पैसेंजर ट्रेन का परिचालन शुरू, देश के अन्य हिस्सों के लिए जल्द चलेगी ट्रेन
x
बिहार और देश के अन्य राज्यों के लोग मणिपुर के इंफाल से सीधी रूप से रेल संपर्क से जुड़ जाएंगे।

इंफाल। बिहार और देश के अन्य राज्यों के लोग मणिपुर के इंफाल से सीधी रूप से रेल संपर्क से जुड़ जाएंगे। पूर्वोत्तर सीमांत रेल (Northeast Frontier Rail) के सीपीआरओ ने बताया कि रेल द्वारा मणिपुर की राजधानी इम्फाल को भारत के अन्य हिस्से के साथ जोड़ने वाली निर्माणाधीन रेलवे की नई लाइन परियोजना का रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव (Railway Minister Ashwini Vaishnav) ने मणिपुर के मुख्यमंत्री नोंगथोम्बम बीरेन सिंह (Manipur Chief Minister Nongthombam Biren Singh) के साथ हवाई निरीक्षण किया गया।

उन्होंने बताया कि इस महीने के अंत तक काईमाई रोड रेलवे स्टेशन तक मार्च 2022 तक वागईचुंगपाऊ-खोंगसांग रेल खंड में मालगाड़ी चालये जाने के लिए इंजन चलाने का लक्ष्य है। पैसेंजर ट्रेन सेवा के विस्तार से मणिपुर के लोगों की बहुप्रतीक्षित मांग पूरी होगी। उन्होंने बताया कि 6 जनवरी को इस ट्रेन सेवा के फेरों को द्वि-साप्ताहिक से बढ़ाकर प्रतिदिन कर दिया गया है।
उन्होंने बताया कि मणिपुर के लोगों को देश के अन्य हिस्सों से जोड़ने के लिए रेल मंत्री ने वांगईचुंगपाऊ तक विस्तारित सिचलर-जिरिबाम पैसेंजर ट्रेन के पुनर्बहाल सेवाओं को हरी झंडी दिखाकर इंफाल से वीडियो लिंक के माध्यम से रिमोट द्वारा किया गया है। ट्रेन संख्या 05659 सिलचर से प्रतिदिन शाम 4 बजे रवाना होकर वांगईचुंगपाऊ शाम 7.15 बजे पहुंचेगी। वापसी यात्रा के दौरान ट्रेन संख्या 05660 वांगईचुंगपाऊ से सुबह 7.15 बजे रवाना होकर सिचलर सुबह 10.40 बजे पहुंचेगी।
उन्होंने हा कि सिलचर से बेहतर संपर्क होने के कारण उन्नत चिकित्सा, शैक्षणिक सुविधाओं के साथ हवाई संपर्क उनकी जरूरतों को पूरा करने में मददगार साबित होगी। सीपीआरओ ने बताया कि पहाड़ी राज्य के लोग देश के सभी प्रमुख शहरों के लिए ट्रेन से सीधी यात्रा कर सकेंगे। मणिपुर के लोगों के लिए यात्रा की अवधि में 10 से 12 घंटे की कमी हो जाएगी। इससे मणिपुर के लोगों की सामाजिक-आर्थिक स्थिति में विकास होने की उम्मीद है। मौके पर एनएफ रेलवे के जीएम अंशुल गुप्ता व स्थानीय रेल अधिकारी मौजूद थे।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it