महाराष्ट्र

मुंबई में कोरोना की होम जांच किट पर रखी जाएगी नजर, BMC ने जारी की गाइडलाइन्स

Kunti
14 Jan 2022 6:19 PM GMT
मुंबई में कोरोना की होम जांच किट पर रखी जाएगी नजर, BMC ने जारी की गाइडलाइन्स
x
कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण का पता लगाने के लिए होमकिट के इस्तेमाल में अचानक से आई बढ़ोतरी को देखते हुए.

कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण का पता लगाने के लिए होमकिट के इस्तेमाल में अचानक से आई बढ़ोतरी को देखते हुए, बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (BMC) ने शहर में होम एंटीजन जांच किट (Antigen Test kit) के मैन्युफैक्चरर, आपूर्तिकर्ताओं एवं विक्रेताओं के लिए नई गाइडलाइन्स जारी की गई है. अपने निर्देश में बीएमसी ने कहा कि होम एंटीजेन जांच किट मैन्युफैक्चरिंग, सप्लाई और सेल के जिम्मेदार लोगों को रोजाना फिक्स फॉर्म में संबंधित महानगरपालिका अधिकारियों और फूट एवं ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन को कुछ खास जानकारी मेल करना होगा.

बीएमसी को ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि प्रयोगशालाओं या व्यक्तियों कि ओर से व्यक्तिगत रूप से रैपिड एंटीजेन जांच कीट या होम जांच किट के माध्यम से किये जाने वाले सभी कोविड-19 परीक्षण के जांच नतीजे मोबाइल ऐप के जरिए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) को भेजना जरूरी है.
महानगरपालिका ने कहा कि कुछ मामलों में होम जांच किट के परिणाम के बारे में आईसीएमआर को नहीं बताया गया जिसके कारण अधिकारियों के लिए मरीजों पर नजर रखना मुश्किल हो गया. ऐसे में संक्रमण तेजी से फैल गया. बीएमसी ने आदेश में कहा है, ''इसलिए, वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ऐसे व्यक्तियों पर नजर रखना जरूरी है.''
नए गाइडलाइन्स में होम जांच किट के मैन्युफैक्चरर और डिस्ट्रीब्यूटरों को मुंबई में केमिस्टों एवं दवा दुकानों को बेचे गये किट की संख्या के बारे में एफडीए आयुक्त एवं बीएमसी को सूचित करने को कहा गया है. गाइडलाइन्स के मुताबिक एफडीए आयुक्त शहर में सभी केमिस्टों एवं मेडिकल स्टोरों पर किट के वितरण एवं बिक्री पर निगरानी करेंगे. कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण का पता लगाने के लिए होमकिट के इस्तेमाल में अचानक से आई बढ़ोतरी को देखते हुए बृहन्मुम्बई महानगरपालिका (BMC) ने शहर में होम एंटीजन जांच किट (Antigen Test kit) के मैन्युफैक्चरर, आपूर्तिकर्ताओं एवं विक्रेताओं के लिए नई गाइडलाइन्स जारी की गई है. अपने निर्देश में बीएमसी ने कहा कि होम एंटीजेन जांच किट मैन्युफैक्चरिंग, सप्लाई और सेल के जिम्मेदार लोगों को रोजाना फिक्स फॉर्म में संबंधित महानगरपालिका अधिकारियों और फूट एवं ड्रग्स एडमिनिस्ट्रेशन को कुछ खास जानकारी मेल करना होगा.
बीएमसी को ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि प्रयोगशालाओं या व्यक्तियों कि ओर से व्यक्तिगत रूप से रैपिड एंटीजेन जांच कीट या होम जांच किट के माध्यम से किये जाने वाले सभी कोविड-19 परीक्षण के जांच नतीजे मोबाइल ऐप के जरिए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) को भेजना जरूरी है.
महानगरपालिका ने कहा कि कुछ मामलों में होम जांच किट के परिणाम के बारे में आईसीएमआर को नहीं बताया गया जिसके कारण अधिकारियों के लिए मरीजों पर नजर रखना मुश्किल हो गया. ऐसे में संक्रमण तेजी से फैल गया. बीएमसी ने आदेश में कहा है, ''इसलिए, वायरस के प्रसार को रोकने के लिए ऐसे व्यक्तियों पर नजर रखना जरूरी है.''
नए गाइडलाइन्स में होम जांच किट के मैन्युफैक्चरर और डिस्ट्रीब्यूटरों को मुंबई में केमिस्टों एवं दवा दुकानों को बेचे गये किट की संख्या के बारे में एफडीए आयुक्त एवं बीएमसी को सूचित करने को कहा गया है. गाइडलाइन्स के मुताबिक एफडीए आयुक्त शहर में सभी केमिस्टों एवं मेडिकल स्टोरों पर किट के वितरण एवं बिक्री पर निगरानी करेंगे.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it