मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश: अब गांवों का जन्मदिन और गौरव दिवस मनेगा, CM शिवराज सिंह ने कई प्रस्ताव किए पारित

Kunti Dhruw
8 Feb 2022 2:51 PM GMT
मध्य प्रदेश: अब गांवों का जन्मदिन और गौरव दिवस मनेगा, CM शिवराज सिंह ने कई प्रस्ताव किए पारित
x
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके गृह ग्राम जैत के ग्रामीणों ने संकल्प व्यक्त लिया है।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनके गृह ग्राम जैत के ग्रामीणों ने संकल्प व्यक्त लिया है, कि जैत को देश का सबसे अच्छा गांव बनाया जाएगा. मंगलवार को मुख्यमंत्री चौहान ने जैत से प्रदेश के सभी गांव और शहरों का जन्मदिन और गौरव दिवस वर्ष में एक दिन मनाने की शुरुआत की है. सांसद रमाकांत भार्गव और मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी साधना सिंह भी इस अवसर पर उपस्थित थे.

बनाई जाएगी स्थानीय जनों की समितियां
मुख्यमंत्री चौहान ने एक दिन जन्मदिन और गौरव दिवस की अवधारणा को स्पष्ट करते हुए कहा कि सरकार की योजनाएं स्थानीय जनों की सहभागिता से पूरा होना संभव नहीं है. इसलिए अब तय किया गया है कि स्थानीय जनों की समितियां बनाकर सभी सरकारी कामों में सबकी हिस्सेदारी सुनिश्चित की जाएगी. उन्होंने कहा कि ऐसे लोग जो अन्य व्यवसायों के कारण गांव और शहर से चले गए हैं. वे भी एक दिन आएं और मिल बैठकर विकास का प्लान बनाएं. उन्होंने कहा कि अनेक कामों में स्थानीय जन भी सहयोग कर सकते है.
मुख्यमंत्री चौहान ने गांव के नर्मदा घाट पर ही ग्रामसभा में सम्मलित होकर ग्रामीणों की सहमति से जीवन से जुड़े लगभग एक दर्जन से अधिक कामों को आगामी एक वर्ष में पूर्ण करने के प्रस्ताव पारित किए.
गांव में पोषण मटका रखा जाएगा
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामसभा में प्रस्ताव रखा कि जैत में जन्म लेने वाला कोई भी बच्चा अब कुपोषित नहीं होगा. ग्रामीणों की सहमति से तय किया गया है कि गांव में पोषण मटका रखा जाएगा. ग्रामीण अनाज देकर बच्चों के पौष्टिक भोजन का इंतजाम करेंगे.
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के सुझाव पर ग्रामसभा ने तय किया कि अब सभी बच्चों की काउंसलिग के माध्यम से उनकी बुद्धि की परीक्षा की जाएगी. होनहार बच्चों की उच्च और उत्कृष्ट शिक्षा में कोई कमी नहीं आएगी. सीएम ने यह भी कहा कि हमारा गांव पूरी तरह से नशा मुक्त होना चाहिए. इसको लेकर सभी संकल्प लें और आज से प्रण लें कि गांव के अंदर कोई भी नशा नहीं होगा.

अब जमीन की कमी से नही रुकेंगे विकास कार्य
मुख्यमंत्री के समक्ष ग्रामसभा में प्रस्ताव रखा गया कि स्वास्थ्य केंद्र, सामुदायिक भवन, धर्मशाला निर्माण, बड़ी स्कूल आदि का निर्माण भी किया जाये. यहां समस्या शासकीय भूमि नहीं होने की है. मुख्यमंत्री के आह्वान पर गांव के ही ताहर सिंह ने अपनी जमीन देने का आश्वासन दिया. मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से आग्रह किया कि किसी की जमीन जबरन नहीं ली जाएगी. जमीन की अदला बदली भी की जा सकती है. मुख्यमंत्री ने कहा कि वे अपनी जमीन भी बदले में देने के लिए तैयार है.

नर्मदा पट्टी और पठार पट्टी की सड़क स्वीकृत
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि भारकच्छ से जैत होते हुए शाहगंज की नर्मदा पट्टी और बकतरा से शाहगंज की दर्जन भर गांव को जोड़ने वाली पठार पट्टी सड़क स्वीकृत की गई है. उन्होंने कहा कि पठार पट्टी की सड़क को एन.एच जैसा विकसित किया जाएगा.
समला मोहल्ले में बनेगा सामुदायिक भवन
राशि स्वीकृत होने लेकिन जमीन नहीं होने के कारण सामुदायिक भवन नहीं बन पाने का मुद्दा भी ग्रामसभा में आया. जैत के केवट बहुल ग्राम समला के ग्रामीणों ने कहा कि वहां जमीन है और सभी की सहमति से तय किया गया कि अब सामुदायिक भवन समला में बनेगा.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta