मध्य प्रदेश

दिखने में बच्ची लगती है 17 साल की सोनाली, दुनिया की सबसे छोटी लड़कियों में एक होने का दावा

jantaserishta.com
22 May 2022 3:59 PM GMT
दिखने में बच्ची लगती है 17 साल की सोनाली, दुनिया की सबसे छोटी लड़कियों में एक होने का दावा
x
पढ़े पूरी खबर

बड़वानी: मध्य प्रदेश के बड़वानी जिले में 17 साल की सोनाली का शरीर बच्ची जैसा है, उसे देखकर डॉक्टर भी हैरान हो रहे हैं. सोनाली की हाइट म​हज दो फीट तीन इंच है. सोनाली के माता-पिता का कहना है कि वह बचपन से कई परेशानियों का सामना कर रही है. सोनाली के माता-पिता उसे बड़वानी के अस्पताल में डॉक्टरों को दिखाने पहुंचे थे. इस दौरान डॉक्टर सोनाली की उम्र के बारे में सुनकर हैरान रह गए. दावा किया जा रहा है कि सोनाली दुनिया की सबसे कम हाइट की लड़कियों में से एक हो सकती है

बड़वानी के अस्पताल में स्वास्थ्य जांच के लिए माता-पिता के साथ पहुंची सोनाली की उम्र 17 वर्ष है. सोनाली दिखने में छोटी बच्ची लगती है, लेकिन उम्र 17 वर्ष है. अस्पताल में सोनाली का चेकअप किया गया और उसका दिव्यांग सर्टिफिकेट भी बनाया गया. सोनाली के माता के अनुसार, न तो वह ठीक से चल पाती है, न ही बोल पाती है. इस बात का भी दावा किया जा रहा है कि सोनाली दुनिया की सबसे कम हाइट वाली लड़कियों में शामिल हो सकती है. क्योंकि दुनिया की सबसे कम हाइट वाली लड़की महाराष्ट्र के नागपुर की ज्योति आमगे को माना जाता है, जिसकी हाइट 2 फीट है.
डॉक्टर के अनुसार, सोनाली की हाइट 2 फीट 3 इंच है. डॉक्टरों का कहना है कि गर्भावस्था में मां में आयोडीन की कमी या मां ने सही पोषण आहार नहीं लिया तो भी यह स्थिति बन सकती है. इसके अलावा थायराइड हार्मोन भी इसकी वजह हो सकता है. डॉक्टर मानते हैं कि सोनाली में परिवर्तन आने की बहुत कम संभावना है. सोनाली के माता पिता बड़वानी जिले के पानसेमल तहसील के आमदा के रहने वाले हैं.
डॉक्टर उमेश ने कहा कि बालिका की उम्र 17 वर्ष है और इसकी हाइट 2 फीट 3 इंच है. प्रेग्नेंट महिला में आयरन की कमी और विटामिन डी की कमी के चलते बच्चों में ग्रोथ नहीं हो पाती. इससे पहले भी ऐसे कुछ केस देखे हैं, लेकिन बच्चों की हाइट ज्यादा थी. राष्ट्रीय बाल सहायता योजना के तहत निशुल्क उपचार किया जाएगा. इंदौर या भोपाल जहां भी इलाज होगा, निशुल्क होगा. हाइट बढ़ने की संभावना के बारे में कुछ बोल नहीं सकते हैं, लेकिन इलाज निशुल्क होगा.
लड़की के पिता शांतिलाल ने कहा कि वे चाहते हैं कि सरकारी योजना के तहत सोनाली का इलाज हो, क्योंकि वह कई जगह इलाज करा चुके हैं, अब उनके पास इलाज के लिए पैसे नहीं हैं. शांतिलाल ने कहा कि बेटी की उम्र 17 साल है. 8 साल के बाद कई जगह इलाज के लिए लेकर गया. पैसे नहीं होने के चलते फिर इलाज नहीं करा पाया. सोनाली न बोलती है, न चल पाती है. खाना भी खुद नहीं खा पाती
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta