कर्नाटक

हिजाब पहनने पर क्लास में नहीं मिली एंट्री, इस्लामिक संगठन और छात्राओं ने किया विरोध

Kunti Dhruw
2 Jan 2022 10:50 AM GMT
हिजाब पहनने पर क्लास में नहीं मिली एंट्री, इस्लामिक संगठन और छात्राओं ने किया विरोध
x
कर्नाटक (Karnataka) के उडुपी जिले (Udupi) से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है.

कर्नाटक (Karnataka) के उडुपी जिले (Udupi) से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जहां एक सरकारी कॉलेज द्वारा शनिवार को कथित तौर पर कुछ छात्राओं को हिजाब पहनकर क्लास में आने पर रोक दिया गया. इसकी जानकारी जिला अधिकारियों ने दी. इस घटना पर भारतीय इस्लामिक संगठन के कुछ सदस्यों और कॉलेज के छात्रों ने आपत्ति जताई है.

कॉलेज की एक छात्रा ने बताया, 'हम में से जो हिजाब पहने हुए थे. उन्हें कक्षा में प्रवेश करने से रोक दिया गया.' जानकारी के मुताबिक, इस्लामिक संगठन के कुछ सदस्यों के साथ कॉलेज के कुछ छात्रों के एक प्रतिनिधिमंडल ने घटना के संबंध में जिला कलेक्टर कूर्म राव से संपर्क किया. जिन पांच लड़कियों को क्लास में हिजाब पहनकर आने से रोक दिया गया था, वे लड़कियां भी प्रतिनिधिमंडल का हिस्सा थीं.
छात्राओं मे लगाया भेदभाव करने का आरोप
कलेक्टर ने कहा कि उन्होंने इस मामले में कॉलेज के प्राचार्य से बात की है. एक छात्र ने कहा, 'हमें अपने माता-पिता को कॉलेज लाने के लिए कहा गया था, लेकिन जब वे पहुंचे. तब स्कूल के अधिकारियों ने उन्हें तीन से चार घंटे तक इंतजार कराया.' एक अन्य छात्र ने कहा, 'हिजाब पहनना शुरू करने से पहले सब कुछ ठीक था लेकिन अब हमारे साथ इस तरह से भेदभाव किया जा रहा है.'
महिला पीयू कॉलेज की छह मुस्लिम छात्राओं ने आरोप लगाया कि प्राचार्य उन्हें कक्षा में हिजाब पहनने की अनुमति नहीं दे रहे हैं. छात्राओं ने यह भी शिकायत की कि उन्हें उर्दू, अरबी और बेरी भाषाओं में बात करने की अनुमति नहीं दी जा रही है. छात्राएं तीन दिन से विरोध स्वरूप कक्षा के बाहर खड़ी हैं. छात्राओं ने दावा किया है कि उनके माता-पिता ने प्राचार्य रुद्र गौड़ा से संपर्क भी किया, लेकिन उन्होंने इस मुद्दे पर बातचीत करने से साफ इनकार कर दिया.
कक्षा के भीतर हिजाब पहनने की अनुमति नहींं
लड़कियों ने बताया कि पिछले तीन दिन से उनकी उपस्थिति भी नहीं दर्ज की जा रही है और उन्हें डर है कि इससे कॉलेज में उनकी उपस्थिति कम हो सकती है. वहीं, कॉलेज के प्राचार्य रुद्र गौड़ा ने कहा कि छात्राएं परिसर में हिजाब पहन सकती हैं लेकिन कक्षा के भीतर इसकी अनुमति नहीं है. इस नियम का पालन कक्षा में एकरूपता सुनिश्चित करने के लिए किया जा रहा है. प्राचार्य ने कहा कि इस मुद्दे पर जल्द ही अभिभावक-शिक्षक बैठक भी बुलाई जाएगी. इसी बीच, एसडीपीआई की उडुपी इकाई के अध्यक्ष नजीर अहमद ने कहा कि अगर छात्राओं को हिजाब के साथ कक्षा में बैठने की अनुमति नहीं दी गई, तो वे प्रदर्शन करेंगे.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta