कर्नाटक

बजरंगबली के जन्म स्थल को लेकर नया विवाद आया सामने, जानें पूरा मामला

Renuka Sahu
30 May 2022 2:23 AM GMT
A new controversy has come to the fore regarding the birth place of Bajrangbali, know the whole matter
x

फाइल फोटो 

हनुमान चालीसा विवाद और ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के बाद भगवान हनुमान के जन्म स्थान को लेकर एक नया विवाद सामने आया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। हनुमान चालीसा विवाद और ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे के बाद भगवान हनुमान के जन्म स्थान को लेकर एक नया विवाद सामने आया है. इसके बाद दावा किया जा रहा है कि भगवान बजरंगबली का जन्म कर्नाटक के किष्किंधा में हुआ था, वहीं कुछ संतों का कहना है कि भगवान हनुमान का जन्म महाराष्ट्र के अंजनेरी में हुआ था.

विवाद सुलझाने के लिए बुलाई गई धर्म संसद
भगवान हनुमान के जन्म स्थान (Birthplace of Lord Hanuman) को लेकर विवाद को सुलझाने के लिए महंत श्री मंडलाचार्य पीठाधीश्वर के स्वामी अनिकेत शास्त्री देशपांडे महाराज (Swami Aniket Shastri Deshpande Maharaj ) ने 31 मई को नासिक में धर्म संसद बुलाई है. स्वामी अनिकेत ने कहा कि धर्म संसद में देशभर के सभी साधु भगवान हनुमान की जन्मभूमि के संबंध में अपने विचार रखेंगे और उसके बाद संसद में जो भी निर्णय होगा उसे सभी को मानना होगा.
अंजनेरी या किष्किंधा? कहां हुआ था बजरंगबली का जन्म?
कर्नाटक के एक संत ने दावा किया है कि भगवान हनुमान का जन्म नासिक के अंजनेरी में नहीं, बल्कि कर्नाटक के किष्किंधा में हुआ था. वाल्मीकि रामायण का जिक्र करते हुए किष्किंधा के महंत गोविंद दास ने दावा किया है कि भगवान हनुमान का जन्म किष्किंधा में हुआ था. उन्होंने कहा कि रामायण में महर्षि वाल्मीकि ने कहीं नहीं लिखा है कि हनुमान जी का जन्म अंजनेरी में हुआ था. जन्म स्थान हमेशा एक ही रहता है और कहीं भी यह नहीं लिखा है कि भगवान हनुमान का जन्म अंजनेरी में हुआ था.
त्र्यंबकेश्वर पहुंचे महंत गोविंद
इसी दावे के साथ महंत गोविंद रथ लेकर त्र्यंबकेश्वर पहुंचे, जहां वे शास्त्रों के आधार पर भगवान हनुमान (Lord Hanuman) की जन्मभूमि के संबंध में नासिक में संतों के साथ चर्चा करेंगे. 31 मई को होने वाली धर्म संसद के मद्देनजर नासिक पुलिस ने आयोजकों को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए नोटिस जारी किया है.
भगवान हनुमान के जन्मस्थान से जुड़े कई दावे
भगवान हनुमान के जन्म स्थान (Birthplace of Lord Hanuman) को लेकर बहस कोई नई नहीं है और इसको लेकर कई कहानियां प्रचलित हैं. इससे पहले तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (TTD) ने दावा किया था कि भगवान हनुमान का जन्मस्थान अंजनाद्री था. कुछ पौराणिक कथाओं में बताया गया है कि बजरंगबली का जन्म झारखंड के गुमला जिले के अंजन गांव की एक गुफा में हुआ था. वहीं कुछ अन्य लोग ने भगवान हनुमान का जन्म स्थान नासिक के पास महाराष्ट्र की अंजनेरी पहाड़ियों को बताते हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta