झारखंड

दो अफीम तस्करों को 20-20 साल की सजा, एक-एक लाख का जुर्माना

Renuka Sahu
27 March 2022 4:20 AM GMT
दो अफीम तस्करों को 20-20 साल की सजा, एक-एक लाख का जुर्माना
x

फाइल फोटो 

झारखंड के रांची स्टेशन से पांच किलो अफीम की तस्करी के आरोप में दोषी करार दिए गए पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर गांव के रहने वाले समीउल इस्लाम और अजहर मुमिन को अपर न्यायायुक्त आरके मिश्रा की अदालत ने 20-20 साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। झारखंड के रांची स्टेशन से पांच किलो अफीम की तस्करी के आरोप में दोषी करार दिए गए पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर गांव के रहने वाले समीउल इस्लाम और अजहर मुमिन को अपर न्यायायुक्त आरके मिश्रा की अदालत ने 20-20 साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही दोनों पर एक-एक लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। जुर्माने की राशि नहीं देने की स्थिति में दोनों को एक-एक साल की अतिरिक्त जेल की सजा काटनी पड़ेगी। अदालत ने दोनों को 23 मार्च को दोषी करार दिया था। सजा के बिन्दु पर सुनवाई के दौरान दोनों आरोपी को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोर्ट में पेश किया गया।

मामले के विशेष लोक अभियोजक बीएन शर्मा ने बताया की दोनों आरोपी 11 जून 2020 को पांच किलो अफीम के साथ रांची से नई दिल्ली जाने के लिए राजधानी एक्सप्रेस में अलग-अलग बोगियों में बैठे थे। सूचना के आधार पर रांची जीआरपी पुलिस ने राजधानी एक्सप्रेस ट्रेन में छापेमारी की कार्रवाई की। इसी बीच दोनों के पास से रांची जीआरपी के तत्कालीन थाना प्रभारी रमेश सिंह ने पांच किलो अफीम बरामद की। मामले की सुनवाई के दौरान जीआरपी के थाना प्रभारी रमेश सिंह और डीएसपी समेत नौ की गवाही कराई गई थी।
मादक पदार्थ तस्करी में अधिकतम सजा
बीएन शर्मा ने बताया कि यह पहला अवसर है जब मादक पदार्थ तस्करी अधिनियम के मामले में किसी अभियुक्त को अधिकतम 20 साल की सजा दी गई है। सजा के साथ-साथ कोर्ट ने इस मामले के दोनों आरोपियों को जुर्माना भी लगाया है।
दशमफॉल से 50 लाख की अफीम के साथ दो धराये
दशमफॉल थाना पुलिस ने कोड़दा मोड़ के पास से नौ किलो अफीम के साथ दो तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। तस्कर दशमफॉल थाना क्षेत्र निवासी सावन मुंडा व चंबरा मुंडा हैं। बरामद अफीम 50 लाख रुपए की बताई गई है। शुक्रवार देर शाम गिरफ्तारी के बाद आरोपियों ने बताया कि वे अफीम को यूपी भेजने वाले थे। इसे लेने के लिए दो तस्कर यूपी से रांची आए हुए थे, लेकिन दोनों फरार हो गए। हालांकि आरोपियों ने फरार तस्करों के नामों का खुलासा कर दिया है। आरोपियों ने बताया कि वे अफीम को यूपी के अलावा बिहार समेत अन्य जगहों पर भी भेजते हैं। बताया जा रहा है कि एसएसपी को दशमफॉल थाना क्षेत्र में अफीम की खरीद-बिक्री की सूचना मिली थी। इस पर एसएसपी ने बुंडू डीएसपी अजय कुमार के नेतृत्व में टीम गठित कर कोड़दा मोड़ के पास भेजा। तभी बाइक सवार दोनों आरोपी पुलिस को देखकर भागने लगे। टीम ने दौड़ाकर दोनों को दबोचा तो प्लास्टिक में अफीम मिली।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta