झारखंड

गुलदस्ते से भी कम नहीं हुआ डीआरएम का पारा, रिसीव न करने पर प्रोजेक्ट मैनेजर की जमकर ली क्लास

Shantanu Roy
14 Nov 2021 6:53 AM GMT
गुलदस्ते से भी कम नहीं हुआ डीआरएम का पारा, रिसीव न करने पर प्रोजेक्ट मैनेजर की जमकर ली क्लास
x
डीआरएम विजय कुमार साहू आदित्यपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे. यहां डीआरएम ने रेल विकास निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर की जमकर क्लास ली. वे रिसीव न किए जाने पर नाराज थे.

जनता से रिश्ता। डीआरएम विजय कुमार साहू आदित्यपुर रेलवे स्टेशन पहुंचे. यहां डीआरएम ने रेल विकास निगम के प्रोजेक्ट मैनेजर की जमकर क्लास ली. वे रिसीव न किए जाने पर नाराज थे. इसके अलावा काम की धीमी गति पर भी नाराजगी जताई.डीआरएम का सैलून आदित्यपुर रेलवे स्टेशन पहुंचने के बाद डीआरएम स्टेशन पहुंचे. यहां अव्यवस्थाओं और रिसीव न किए जाने को लेकर डीआरएम का पारा चढ़ गया. वे अधिकारियों पर खफा हो गए और फटकार लगाई. सबसे पहले गुलदस्ता लेकर खड़े प्रोजेक्ट मैनेजर पर नाराजगी जताई. सैलून तक पहुंच कर रिसीव नहीं किए जाने पर भी डीआरएम ने नाराजगी जताई. इसके बाद आदित्यपुर में चल रही विकास योजनाओं पर प्रोजेक्ट मैनेजर की जमकर क्लास ली. उन्होंने अन्य क्षेत्रों में रेलवे का काम पूरा न होने का हवाला देते हुए पूछा कि आपके यहां अब तक क्यों काम पूरा नहीं हुआ है. डीएआरएम ने कहा कि बरसात के मौसम में अतिक्रमण मुक्त कराकर जमीन दिया है लेकिन काम नहीं हो रहा है.

कांग्रेस नेता पर भी भड़के, बोले- आपको किसने बुलाया, दूर रहिए वर्ना बिना शिलान्यास चला जाऊंगा आदित्यपुर में विकास योजनाओं का शिलान्यास करने पहुंचे डीएआरएम कांग्रेस नेता सुरेशधारी पर भी नाराज हो गए और किसी तरह की बात करने से इनकार कर दिया. डीएआरएम इतना झल्ला गए कि यहां तक कह दिया कि आपको मैंने नहीं बुलाया है. इसलिए आप अभी दूर रहिए वर्ना बगैर शिलान्यास के चला जाऊंगा. शिलायान्स के पूर्व डीएआरएम ने विकास कार्यों का निरीक्षण किया. डीएआरएम ने प्रोजेक्ट मैनेजर के बारे में भी सवाल किए.
रेलवे की जमीनों पर अतिक्रमण न करने की अपील
डीआरएम ने आदित्यपुर रेलवे स्टेशन पर लोगों से रेलवे की जमीनों पर अतिक्रमण न करने की भी अपील की. कहा कि यहां कई सुविधाएं बढ़ाई जानी हैं, इसलिए जमीन आवश्यक है. अगर कोई दे सके तो बेहतर रेलवे की जमीन पर नजर न गड़ाए. यहां जमशेदपुर के हिसाब से सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी, क्योंकि वहां रेलवे के पास जमीन नहीं है. जो भी नई गाड़ी प्लान करनी है, इसी एरिया में करनी है, इन गाड़ियों के मेंटेनेंस के लिए व्यवस्था की यहां योजना बन रही है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta