झारखंड

श्रीलंका में फंसे झारखंड के मजदूरों ने लगाई वतन वापसी की गुहार

Rani Sahu
2 May 2022 5:34 PM GMT
श्रीलंका में फंसे झारखंड के मजदूरों ने लगाई वतन वापसी की गुहार
x
मलेशिया में झारखंड के गिरिडीह समेत हजारीबाग और बोकारो के फंसे 30 मजदूरों में से 10 मजदूर सकुशल शनिवार को अपने वतन लौट चुके हैं

Jharkhand News: मलेशिया में झारखंड के गिरिडीह समेत हजारीबाग और बोकारो के फंसे 30 मजदूरों में से 10 मजदूर सकुशल शनिवार को अपने वतन लौट चुके हैं,जबकि अभी भी 20 मजदूर मलेशिया में फंसे हुए हैं. राज्य सरकार के प्रवक्ता ने रविवार को यह जानकारी दी की शेष 20 मजदूरों की वापसी हेतु सरकार प्रयास कर रही है.

इस पूरे मामले में झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने संज्ञान लेते हुए कहा कि विदेश मंत्री से इस दिशा में पहल करने का आग्रह किया है. बता दें कि श्रीलंका में गिरिडीह जिले के बगोदर के 13 मजदूर समेत हजारीबाग, बोकारो एवं धनबाद जिले के 19 मजदूर फंसे हुए हैं.
वतन वापसी की गुहार सोशल मीडिया पर लगाई
आपको बता दें कि सभी मजदूरों ने कल्पतरू ट्रांसमिशन कंपनी की ओर से पिछले दो महीने का वेतन भुगतान नहीं करने की बात सोशल मीडिया के जरिए बताई . मजदूरों का कहना है कि यहां भोजन की समस्या हो गयी है. कंपनी ने सभी मजदूरों का पासपोर्ट जब्त कर लिया गया है. मजदूरों ने बताया कि स्थानीय ठेकेदार के माध्यम से फरवरी माह में काम करने गये थे, जहां कंपनी ने दो माह की मजदूरी रख ली है. वेतन की मांग करने पर कंपनी से संतुष्ट जवाब नहीं मिल पा रहा है. मजदूरों ने भारत सरकार और झारखंड के मुख्यमंत्री से वतन वापसी की गुहार लगाई है.
मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने लिया संज्ञान
फंसे मजदूरों में सरिया प्रखंड के चिचाकी के तिलक महतो, राजेश महतो शामिल हैं. महेश महतो टिगरा डूमरी के रहने वाले हैं. धनबाद जिले के मनोज कुमार गोमो के रहने वाले हैं. साथ ही नागेश्वर महतो, देवेन्द्र महतो गांव भलुवा हजारीबाग जिले के विष्णुगढ़ के रहने वाले हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta