झारखंड

20 एकड़ जमीन के लिए भाभी की हत्या, 4 दिन बाद खुला राज

Rani Sahu
19 May 2022 4:31 PM GMT
20 एकड़ जमीन के लिए भाभी की हत्या, 4 दिन बाद खुला राज
x
झारखंड के दुमका में 20 एकड़ जमीन के लिए ननद ने भाभी की हत्या कर दी

दुमका. झारखंड के दुमका में 20 एकड़ जमीन के लिए ननद ने भाभी की हत्या कर दी. घटना काठीकुंड के आमगाछी गांव के प्रधान टोला की है. इस घटना में आरोपी ननद ने अपनी बेटी और दामाद को भी शामिल कर लिया था. चार दिन के अनुसंधान के बाद पुलिस ने पर्याप्त साक्ष्य के आधार पर ननद मुनु मरांडी, उसकी बेटी सुकुल मुर्मू और दामाद पिंडलू हांसदा को गिरफ्तार कर गुरुवार को जेल भेज दिया. पुलिस के मुताबिक आरोपी ननद सारी जमीन पर अपने दामाद और बेटी को हक दिलाना चाहती थी.

एसडीपीओ नूर मुस्तफा अंसारी ने बताया कि गत 14 मई को 55 साल की फुलीन टुडू दिव्यांग पति सुकुल मरांडी के साथ पंचायत चुनाव में मतदान करने के बाद शाम को खाना खाकर सो गई. पति जमीन पर और पत्नी खाट पर सो गई. रात करीब एक बजे तीन लोग घर के आंगन में आए और पति पर कंबल डालकर गला दबाने का प्रयास किया. इस पर उसकी नींद खुल गई. तीनों ने उसे छोड़ दिया और खाट पर सोई फुलीन के चेहरे पर ईंट से प्रहार कर मार डाला.
सुकुल मरांडी के बयान पर अज्ञात पर मामला दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू की तो ननद की सच्चाई सामने आई. दरअसल फुलीन सुकुल मरांडी से दूसरी शादी की थी. शादी के बाद फुलीन के बेटा और बेटी साथ रहते थे. यह बात ननद मुनु मरांडी को नागवार लगती थी. भाई का कोई वारिश नहीं होने के कारण बहन को लगता था कि कहीं भाई सारी जमीन फुलीन के दोनों बच्चों को नाम न कर दे. इसी डर से तीनों ने मिलकर दोनों की हत्या का प्रयास किया. लेकिन आंख खुल जाने के कारण वृद्ध सुकुल की जान तो बच गई, लेकिन फुलीन की हत्या कर दी गई.
एसडीपीओ नूर मुस्तफा ने बताया कि सुकुल मरांडी के पास अपनी दस से ज्यादा एकड़ जमीन थी और दादी की भी इतनी जमीन का वह मालिक था. कई बार आरोपी बहन ने जमीन अपने नाम करवाने के लिए दबाव डाला, लेकिन उसने मना कर दिया. फिर आरोपी ने दोनों को रास्ते से हटाने के लिए अपने दामाद पिंडलू हांसदा और बेटी सुकुल मुर्मू को साजिश में शामिल किया. और रात के अंधेरे में सुकुल मरांडी और फुलीन टुडू की जान लेने की कोशिश की. हालांकि सुकुल सकुशल बच गये.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta