झारखंड

झारखंड में बीते 13 दिनों के अंदर 16 गुना बढ़ी कोरोना मरीजों की तादाद, पाबंदियों पर फैसला आज

Renuka Sahu
15 Jan 2022 2:50 AM GMT
झारखंड में बीते 13 दिनों के अंदर 16 गुना बढ़ी कोरोना मरीजों की तादाद, पाबंदियों पर फैसला आज
x

फाइल फोटो 

झारखंड में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि के साथ ही अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। झारखंड में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि के साथ ही अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। बीते 13 दिनों में राज्य के अस्पतालों में लगभग 10 गुना मरीज बढ़े हैं। 31 दिसंबर को जहां 137 मरीज ही भर्ती थे वहीं मंगलवार को अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या 1191 हो गई। गुरुवार को यह संख्या 1322 पर पहुंच गयी है। अभी भी करीब 31 हजार मरीज होम आयसोलेशन में हैं। प्रतिशत के लिहाज से देखें तो 31 दिसंबर को राज्य में एक्टिव मरीजों के लगभग 7 प्रतिशत (137) अस्पतालों में भर्ती थे, बाकी होम आयसोलेशन में थे। रविवार को यह प्रतिशत 8 पर पहुंच गया था। बीते मंगलवार को राज्य भर के अस्पतालों में महज 4.10 प्रतिशत मरीज ही भर्ती थे।

जनवरी में 13 हजार हुए स्वस्थ
राज्य में जनवरी के 13 दिनों में कोरोना के 43787 नए मरीज मिले हैं। जिसमें से 13494 स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि, इसी अवधि में 45की मौत भी हुई।
16 गुना बढ़े एक्टिव मरीज
राज्य में 31 दिसंबर को एक्टिव मरीजों की संख्या 2002 थी, जो 13 दिसंबर को 32250 पहुंच चुकी है। यानी बीते 13 दिनों में एक्टिव मरीजों की संख्या 16.10 गुना बढ़ी है।
9 हजार जांच लंबित
दिसंबर में राज्यभर में रोज औसतन 30 हजार सैंपलों की जांच हो रही थी। जो 70 हजार पहुंच चुकी है। बावजूद पेंडिंग सैंपलों की संख्या जीरो नहीं हो रही है। 31 दिसंबर को 4316 सैंपलों की जांच पेंडिंग थी। 13 जनवरी भी भी राज्य में 9077 सैंपलों की जांच पेंडिंग है।
राज्य में मिले 3749 नए संक्रमित, तीन की मौत
झारखंड में शुक्रवार शुक्रवार को राज्य में 3749 नए संक्रमित मिले। वहीं रांची 1355 नए मरीज मिले हैं। वहीं सूबे में शुक्रवार को तीन मरीजों की मौत भी हुई। रांची में नए मरीजों की संख्या बढ़ी है जबकि राज्य में इनकी तादाद घटी है।
झारखंड में कोरोना मरीजों की संख्या में हो रही वृद्धि के साथ ही अस्पतालों में भी मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। बीते 13 दिनों में राज्य के अस्पतालों में लगभग 10 गुना मरीज बढ़े हैं। 31 दिसंबर को जहां 137 मरीज ही भर्ती थे वहीं मंगलवार को अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या 1191 हो गई। गुरुवार को यह संख्या 1322 पर पहुंच गयी है। अभी भी करीब 31 हजार मरीज होम आयसोलेशन में हैं। प्रतिशत के लिहाज से देखें तो 31 दिसंबर को राज्य में एक्टिव मरीजों के लगभग 7 प्रतिशत (137) अस्पतालों में भर्ती थे, बाकी होम आयसोलेशन में थे। रविवार को यह प्रतिशत 8 पर पहुंच गया था। बीते मंगलवार को राज्य भर के अस्पतालों में महज 4.10 प्रतिशत मरीज ही भर्ती थे।
जनवरी में 13 हजार हुए स्वस्थ
राज्य में जनवरी के 13 दिनों में कोरोना के 43787 नए मरीज मिले हैं। जिसमें से 13494 स्वस्थ हो चुके हैं। जबकि, इसी अवधि में 45की मौत भी हुई।
16 गुना बढ़े एक्टिव मरीज
राज्य में 31 दिसंबर को एक्टिव मरीजों की संख्या 2002 थी, जो 13 दिसंबर को 32250 पहुंच चुकी है। यानी बीते 13 दिनों में एक्टिव मरीजों की संख्या 16.10 गुना बढ़ी है।
9 हजार जांच लंबित
दिसंबर में राज्यभर में रोज औसतन 30 हजार सैंपलों की जांच हो रही थी। जो 70 हजार पहुंच चुकी है। बावजूद पेंडिंग सैंपलों की संख्या जीरो नहीं हो रही है। 31 दिसंबर को 4316 सैंपलों की जांच पेंडिंग थी। 13 जनवरी भी भी राज्य में 9077 सैंपलों की जांच पेंडिंग है।
राज्य में मिले 3749 नए संक्रमित, तीन की मौत
झारखंड में शुक्रवार शुक्रवार को राज्य में 3749 नए संक्रमित मिले। वहीं रांची 1355 नए मरीज मिले हैं। वहीं सूबे में शुक्रवार को तीन मरीजों की मौत भी हुई। रांची में नए मरीजों की संख्या बढ़ी है जबकि राज्य में इनकी तादाद घटी है।
राज्य में जारी रह सकती हैं पाबंदियां, फैसला आज
सरकार राज्य में संक्रमण के प्रसार की समीक्षा शनिवार को करेगी। उसमें पाबंदियों को जारी रखने पर फैसला होगा। वैसै सूत्रों के अनुसार पाबंदियों को अगले पंद्रह दिनों तक जारी रखा जा सकता है।
जमशेदपुर में एक हफ्ते में सात व धनबाद में डेढ़ गुना बढ़ी संख्या
पूर्वी सिंहभूम में भी अस्पताल में भर्ती होने वाले संक्रमितों की संख्या सात गुना बढ़ी है जबकि धनबाद में यह संख्या डेढ़ गुना बढ़ी है। पूर्वी सिंहभूम में अभी 714 मरीज भर्ती हैं। जनवरी के पहले सप्ताह से यह संख्या सिर्फ 96 थी। वहीं धनबाद के दो अस्पतालों में अभी 102 मरीज भर्ती हैं। जनवरी के पहले सप्ताह में यह संख्या 79 थी। यानी एक सप्ताह में एसे मरीजों की संख्या डेढ़ गुना बढ़ गई है।
सरकार राज्य में संक्रमण के प्रसार की समीक्षा शनिवार को करेगी। उसमें पाबंदियों को जारी रखने पर फैसला होगा। वैसै सूत्रों के अनुसार पाबंदियों को अगले पंद्रह दिनों तक जारी रखा जा सकता है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it