झारखंड

सरकारी अस्पताल की लापरवाही, नवजात बच्ची को चूहों ने कुतरा

Rani Sahu
2 May 2022 2:36 PM GMT
सरकारी अस्पताल की लापरवाही, नवजात बच्ची को चूहों ने कुतरा
x
झारखंड के गिरिडीह जिले के चैताडीह स्थित मातृत्व शिशु इकाई केंद्र में चिकित्सकों और अस्पताल कर्मियों की लापरवाही उजागर हुई है

Dhanbad: झारखंड के गिरिडीह जिले के चैताडीह स्थित मातृत्व शिशु इकाई केंद्र में चिकित्सकों और अस्पताल कर्मियों की लापरवाही उजागर हुई है. जिंदगी और मौत से जुझ रहे एक नवजात के मुंह, पैर और एक हाथ को चूहे ने बुरी तरह से कुतर डाला है. जिसके बाद से नवजात की हालत गम्भीर बनी हुई है. आनन-फानन में बच्चे को धनबाद रेफर किया गया है.

मातृत्व शिशु इकाई केंद्र का मामला
चैताडीह स्थित मातृत्व शिशु इकाई केंद्र में चिकित्सकों और कर्मियों की लापरवाही के कारण एक नवजात बच्चे को भुगतना पड़ा है. सिविल सर्जन डॉ एसपी मिश्रा ने कहा कि जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
अस्पताल प्रबंधन की बड़ी लापरवाही, नवजात बच्ची को चूहे ने कुतरा
बता दें कि चार दिन पूर्व शुक्रवार की रात को जमुआ के असको गांव निवासी राजेश सिंह की पत्नी ममता देवी ने गिरिडीह के चैताडीह स्थित मातृत्व शिशु केंद्र में एक बच्ची को जन्म दिया था. इसी बीच चिकित्सकों ने राजेश सिंह से कहा कि उनकी बच्ची की तबीयत खराब है और पीलिया हो गया है. इतना कहकर चिकित्सकों ने बच्ची को चाइल्ड वार्ड में भर्ती करा दिया, लेकिन बच्ची को चाइल्ड वार्ड में रखने के बाद बच्ची पर किसी की नजर नहीं गयी और बच्ची को चूहों ने बुरी तरह से कुतर दिया. परिजनों ने आरोप लगाया की वहां के नर्स बेहतर इलाज के एवज में चार हजार नगद भी लिया.
आनन-फानन में बच्ची को धनबाद रेफर किया
सोमवार की अहले सुबह जब चिकित्सकों को इसकी जानकारी मिली तो आनन-फानन में बच्ची के परिजनों को बिना कुछ बताये धनबाद रेफर कर दिया गया. जब परिजन धनबाद पहुंचे तो परिजनों से वहां भी बातें छिपाई गईं, लेकिन परिजनों के दबाव डालने के बाद उन्हें बताया गया कि बच्ची को चूहा ने कुतर दिया है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta