झारखंड

झारखंडः मुंबई की महिला बेटे की चाहत में पहुंच गयी जेल, जाने मामला

Bhumika Sahu
15 Jan 2022 2:39 AM GMT
झारखंडः मुंबई की महिला बेटे की चाहत में पहुंच गयी जेल, जाने मामला
x
रांची पुलिस ने एयरपोर्ट से 22 हजार में बच्चा खरीदने वाली मुंबई की एक महिला निकहत परवीन को गिरफ्तार किया है। पुलिस पछताछ महिला ने बच्चे को खरीदने की बात कबूल ली है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। रांची पुलिस ने एयरपोर्ट से 22 हजार में बच्चा खरीदने वाली मुंबई की एक महिला निकहत परवीन को गिरफ्तार किया है। पुलिस पछताछ महिला ने बच्चे को खरीदने की बात कबूल ली है। उसने पुलिस को पूछताछ में बताया कि उसने सोनाहातू के बिरडीडीह जरेया की रतनी कुमारी से 22 हजार में तीन दिन के बेटे को खरीद कर पालने के ले लिया था।

गुरुवार को व मुंबई जाने के लिए निकली। एयरपोर्ट पर जवानों ने उसे जरूरी पूछताछ के लिए रोक लिया। गोद में पड़े नवजात के संबंध में जरूरी जानकारी नहीं देने पर उसे एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट थाना के जिम्मे कर दिया गया । बाद में प्राथमिकी दर्ज करने उसे होटवार स्थित सेंट्ल जेल भेज दिया गया।
बेटे की चाहत ने ठाणे की निकहत को पहुंचाया जेल
मुंबई के ठाणे ठाकुर पाड़ा मुंबा की रहने वाली 36 साल की महिला निकहत परवीन को बेटे की चाहत ने जेल पहुंचा दिया। पुलिसिया पूछताछ में यह खुलासा हुआ है कि उसने सोनाहातू के बिरडीडीह जरेया की रहने वाली मां रतनी कुमारी से 22 हजार रुपए में तीन दिन के बेटे को खरीद कर पालने के ले लिया था। मां रतनी ने अपनी गरीबी की वजह से बेटे को निकहत को दे दिया था। उसे वह अपना बेटा बनाकर गुरुवार को विमान से मुंबई जा रही थी। वह एयरपोर्ट पर हंसी-खुशी पहुंची थी।
इस क्रम में वह गोद में पड़े अपने लाल को बार-बार निहार रही थी और खुश हो रही थी। निकहत को शायद ही यह भान रहा होगा कि उसकी खुशी कुछ ही देर में गायब हो जाएगी और वह बड़ी परेशानी में फंस जाएगी। वह संदेह होने पर बिरसा मुंडा एयरपोर्ट के मुख्य प्रवेश द्वार पर तैनात जवानों द्वारा जरूरी पूछताछ के लिए रोक ली गई थी। गोद में पड़े नवजात के संबंध में जरूरी जानकारी नहीं देने पर सुरक्षाकर्मियों का शक और गहरा हुआ। इसके बाद उसे एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट थाना के जिम्मे कर दिया गया था। जहां पर दारोगा दुर्गा कुमारी गुप्ता ने आवश्यक पूछताछ की। यहां पर भी वह बच्चे के जन्म और उससे रिश्ता के संबंध में हुई जांच-पड़ताल में जरूरी बात नहीं बता पाईं। इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज करने के बाद आरोपी निकहत को होटवार स्थित केंद्रीय कारागार भेज दिया गया।
परिवार में पति, दो बेटी और सास हैं
निकहत परवीन ने बताया कि ठाणे में वह गाजी महल अपर नाइस स्कूल के समीप की रहने वाली है। वहां उसका अपना मकान है। उसके परिवार में पति जावेद शेख, दो बेटी और सास हैं। पति जावेद शेख ठाणे में जनता होटल में वेटर का काम करता है और समय मिलने पर ऑटो चलाता है। निकहत की मां और पिता हजारीबाग में रहते हैं। उसने बताया है कि उसे बेटे की चाहत थी। इसी लोभ में वह मुंबई से यहां आई थी और रतनी को लोभ-लालच में लेकर रुपए देकर बच्चे को हासिल कर लिया था।
एयरपोर्ट पर ऐसे पकड़ में आई निकहत परवीन
निकहत परवीन तीन दिन के बच्चे को लेकर जब एयरपोर्ट पहुंची तो सुरक्षाकर्मियों ने गोद में पड़े बच्चे के संबंध में टिकट में उल्लेख नहीं होने पर उसे रोक लिया। उसका दिन के एक बजे की विमान सेवा से मुंबई जाने के लिए ऑनलाइन टिकट बुक था। इसके बाद वह इंडिगो के काउंटर पर पहुंची और टिकट में बच्चे का नाम जुड़वाने का प्रयास किया। इसी समय मामले का खुलासा हुआ। काउंटर पर मौजूद इंडिगो विमान सेवा के कर्मचारी ने जब पाया कि निकहत नवजात की आयु और अन्य सूचना नहीं दे पा रही है तो उसने इसकी जानकारी एयरपोर्ट थाना पुलिस को दी। एयरपोर्ट पुलिस ने निकहत को पकड़ कर एंटी ट्रैफिकिंग सेल के हवाले कर दिया। इधर, इंडिगो के प्रबंधक ने मामले की जांच की तो पता चला कि निकहत पिछले 11 जनवरी को अकेले ही मुंबई से रांची पहुंची थी। उसने 13 जनवरी को वापसी के लिए गुरुवार को दिन के दो बजे उड़ान संख्या छह ई 341 से ऑनलाइन टिकट लिया था। टिकट में शिशु से संबंधित कोई जानकारी अंकित नहीं थी।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it