झारखंड

साल 2021 में झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 410 नक्सलियों को किया गया गिरफ्तार, 19 का सरेंडर और मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए

Renuka Sahu
30 Dec 2021 6:14 AM GMT
साल 2021 में झारखंड पुलिस को मिली बड़ी सफलता, 410 नक्सलियों को किया गया गिरफ्तार, 19 का सरेंडर और मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए
x

फाइल फोटो 

झारखंड में साल 2021 में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस को बड़ी सफलताएं मिलीं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। झारखंड में साल 2021 में नक्सलियों के खिलाफ पुलिस को बड़ी सफलताएं मिलीं। जनवरी 2021 से अबतक राज्य पुलिस के नक्सल अभियान में 410 नक्सली गिरफ्तार हुए, वहीं 19 का सरेंडर पुलिस ने विभिन्न जिलों में कराया, जबकि पुलिस मुठभेड़ में 6 नक्सली मारे गए।

राज्य पुलिस के आंकड़ों के मुताबिक, पुलिस ने पोलित ब्यूरो सदस्य व एक करोड़ के इनामी प्रशांत बोस, सेंट्रल कमेटी सदस्य शीला मरांडी, सैक सदस्य व 25 लाख के इनामी प्रद्युम्न शर्मा, रीजनल कमेटी मेंबर व 15 लाख के इनामी रमेश गंझू उर्फ आजाद समेत 28 बड़े उग्रवादियों को गिरफ्तार किया है। वहीं, पुलिस ने दो रीजनल कमेटी मेंबर, दो जोनल कमांडर, 4 सबजोनल कमांडर, 4 एरिया कमांडर का सरेंडर कराया। साल 2021 में टीपीसी के 15 लाख के इनामी माओवादी मुकेश गंझू, माओवादी जोनल कमांडर जीवन कंडुलना समेत 19 माओवादियों ने सरेंडर किया है।
वहीं, राज्य के अलग-अलग हिस्सों में पुलिस मुठभेड़ में बुद्धेश्वर उरांव, शनिचरा सुरीन, महेश भुईंया, विनोद भुईंया, मंगरा लुगून व एक अज्ञात उग्रवादी मारे गए थे।
28 उग्रवादियों की संपत्ति हुई जब्त: झारखंड पुलिस और एनआईए ने भाकपा माओवादियों व दूसरे उग्रवादी समूहों से जुड़े उग्रवादियों की संपत्ति भी यूएपीए एक्ट के तहत जब्त की है। भाकपा माओवादियों के 14, टीपीसी के 10 और पीएलएफआई के 4 उग्रवादियों की संपत्ति पुलिस ने जब्त की है। वहीं, एनआईए ने टीपीसी के 6 उग्रवादियों की संपत्ति जब्त की है। पुलिस मुख्यालय के आंकड़ों के मुताबिक, कुल 34 कांडों में लोहरदगा में एक, हजारीबाग में दो, चतरा में नौ, गिरिडीह में चार, खूंटी में तीन, बोकारो में एक, रांची में एक, पलामू में नौ, लातेहार में पांच, सिमडेगा में एक, गढ़वा में एक, रामगढ़ में एक कांड में यूएपीए एक्ट के तहत नक्सलियों की संपत्ति जब्त की गई।
एनआईए व ईडी की भी भूमिका अहम
नक्सलियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए एनआईए को कुल 17 केस सौंपे गए हैं। इन कांडों में हजारीबाग के एक, लातेहार के तीन, रांची के चार, चतरा के चार, गिरिडीह के दो, पलामू के एक, सरायकेला व चाईबासा के एक केस केस शामिल हैं। राज्य पुलिस ने 25 लाख से ऊपर की लेवी से जुड़े कांडों की सूची व कार्रवाई का निवेदन ईडी से किया है। ईडी को 10 कांडों की सूची भेजी गई है। भाकपा माओवादियों के खिलाफ 8, टीपीसी के खिलाफ 1 व पीएलएफआई के खिलाफ 1 केस की जांच का प्रस्ताव ईडी को भेजा गया है।
पुलिस पर महज एक बार हुआ नक्सली हमला
भाकपा माओवादियों के द्वारा इस साल महज एक बार पुलिस पर हमला हुआ। वहीं, नक्सलियों के द्वारा 10 आम लोगों को मौत के घाट उतारा गया। उग्रवादियों ने 2 अपहरण, 16 आईईडी ब्लास्ट, 40 लेवी वसूली समेत कुल 95 वारदातों को अंजाम दिया।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta