झारखंड

खराब मौसम के कारण घंटों आसमान में चक्कर काटता रहा विमान, डायवर्ट हुए कई विमान, जानिए- वजह

Renuka Sahu
17 Jan 2022 3:04 AM GMT
खराब मौसम के कारण घंटों आसमान में चक्कर काटता रहा विमान, डायवर्ट हुए कई विमान, जानिए- वजह
x

फाइल फोटो 

खराब मौसम का असर रांची आने-जाने वाले विमानों पर भी पड़ा। कोहरे के कारण रविवार को सुबह में विमान सेवाएं पूरी तरह प्रभावित रहीं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। खराब मौसम का असर रांची आने-जाने वाले विमानों पर भी पड़ा। कोहरे के कारण रविवार को सुबह में विमान सेवाएं पूरी तरह प्रभावित रहीं। दिल्ली व कोलकाता से आने वाले कई विमान घंटों विलंब से आए।

गो एयर की दिल्ली-रांची-कोलकाता विमान सेवा सुबह 7.40 बजे सही समय में रांची आ गई थी, जिसे सुबह 8.30 बजे रांची-कोलकाता के लिए उड़ान भरना था, परंतु लो विजिबिलिटी होने के कारण विमान को बिरसा मुंडा एयरपोर्ट में उतरने की अनुमति नहीं मिली। घंटों रांची के आसमान में चक्कर लगाने के बाद विमान को सीधे कोलकाता डायवर्ट कर दिया गया। विमान सुबह 9.10 बजे कोलकाता चली गई। वहां पहुंचने के बाद इस विमान को रद्द कर दिया। यह विमान दोबारा रांची नहीं आया।
वहीं दिल्ली से आने वाला विस्तारा एयरलाइंस का विमान अपने निर्धारित समय से घंटों विलंब रहा। इस विमान को सुबह 8.20 बजे रांची आना था, परंतु यह विमान करीब दो घंटे तक रांची आने के बाद आसमान में चक्कर लगाता रहा। इस विमान को सुबह 10 बजे एयरपोर्ट पर उतारा गया। इसके अलावा कोलकाता से रांची आने वाले इंडिगो का विमान, जिसे सुबह साढ़े आठ बजे रांची आना था। यह सुबह 9.55 बजे रांची आया। कोहरे के कारण विमान सेवाओं के परिचालन में आई समस्या के कारण यात्रियों को घंटों बोर्डिंग के बाद भी इंतजार करना पड़ा।
देर से आने वाले विमान भी घंटों विलंब से रवाना हुए। वहीं गो एयर के दिल्ली-रांची-कोलकाता विमान सेवा के रांची-कोलकाता के यात्रियों को अपनी यात्रा रद्द करनी पड़ी। विमानों के विलंब की वजह से सुबह 10 बजे तक एयरपोर्ट पर यात्रियों की काफी भीड़ जमा हो गई थी। परंतु एयरपोर्ट प्रशासन के द्वारा खराब मौसम की जानकारी देने व इंतजार कर रहे यात्रियों को सुविधा देने के कारण किसी भी यात्री ने हंगामा नहीं किया।
क्या हो रही थी समस्या
विमानों के सामान्य परिचालन के लिए 1300 विजिबिलिटी होनी चाहिए, परंतु रविवार की सुबह में अचानक विजिबिलिटी कम हो गई। यह विजिबिलिटी 1100 से कम हो गई थी। इससे विमानों के उड़ान व लैंडिंग कराने में समस्या आ रही थी। सुरक्षा कारणों से विमानों का परिचालन कुछ देर के लिए रुक गया था और विमान को डायवर्ट करना पड़ा। जब मौसम साफ हुआ और विजिबिलिटी सामान्य हुई, तब विमानों ने उड़ान भरा। सुबह के समय में रांची में विजिबिलिटी कम हो गई थी। जब विजिबिलिटी 1300 से ऊपर हो गयी, तब विमानों को एयरपोर्ट पर उतरने की अनुमति दी गई। - विनोद शर्मा, निदेशक, बिरसा मुंडा एयरपोर्ट, रांची
ठंड के कारण कम हो रही यात्री संख्या
रांची। देश के अन्य शहरों की तरह रांची में हो रहे ठंड के प्रकोप के कारण दिन ब दिन यात्री संख्या में गिरावट देखने को मिल रही हैं। रविवार को 21 विमानों का परिचालन हुआ। रांची आने वाले मात्र 1877 यात्री रहे और जाने वाले 2246 यात्री रहे। जबकि 15 जनवरी को मात्र 16 विमान बिरसा मुंडा एयरपोर्ट से उड़ान भरी। इसमें आने वाले 1799 और जाने वाले 1520 रहे। 14 जनवरी को कम विमान उड़ान रहे। सिर्फ 14 विमानों का परिचालन हुआ। जबकि आने वाले यात्री 1461 और जाने वाले 1164 यात्री रहे। 13 जनवरी को 15 विमान उड़ान भरी। इसमें आने वाले 1398 और जाने वाले 1076 यात्री रहे। ऐसी ही स्थिति 12 जनवरी को रही। इस दिन 14 विमान उड़ान भरे। इससे 1623 यात्री आए और 1287 यात्री अन्य शहरों के लिए रवाना हुए। 11 जनवरी को 16 विमान रही। इसमें 1703 आए और 1242 रवाना हुए। 10 जनवरी को 14 विमान रही और 1443 आए और 1502 रवाना हुए।
जबकि सामान्य दिनों में विमानों की संख्या 28-30 तक होगी है और यात्री संख्या 45 सौ से ज्यादा। इन दिनों लगातार यात्री और विमान संख्या के गिरावट में उतार चढ़ाव दर्ज किया जा रहा हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta