जम्मू और कश्मीर

जम्मू-कश्मीर के बाजारों में दिखी रौनक, ग्राहक जमकर कर रहे खरीदारी

Dev upase
2 Nov 2021 2:53 PM GMT
जम्मू-कश्मीर के बाजारों में दिखी रौनक, ग्राहक जमकर कर रहे खरीदारी
x

फाइल फोटो 

पढ़े पूरी खबर

जनता से रिस्ता वेबडेसक | पिछले दो साल कोविड की मार झेलने के बाद इस साल धनतेरस सहित अन्य त्योहारों पर बाजार को रफ्तार मिली है। जम्मू संभाग में धनतेरस पर विभिन्न क्षेत्रों में एक हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की खरीदारी का अनुमान है। सराफा, बर्तन, कपड़ा, इलेक्ट्रानिक, आटोमोबाइल आदि क्षेत्रों में खरीदारों की जमकर भीड़ पहुंची। बाजारों में दिनभर चहल रही। कारोबारियों को दिवाली पर भी कारोबार को रफ्तार मिलने की उम्मीद है। दिवाली की भी जमकर खरीदारी की जा रही है। धनतेरस पर सबसे अधिक भीड़ बर्तन और सराफा बाजार में देखी गई।

हालांकि कोविड से पूर्व के सालों की तुलना में उतनी भीड़ नहीं है, लेकिन पिछले दो साल महामारी के बाद बाजार में नई रौनक देखने को मिली है। शहर के प्रमुख मोती बाजार, पक्का डंगा, रघुनाथ बाजार, सिटी चौक, लखदात्ता बाजार, हरि मार्केट, गांधीनगर, शास्त्रीनगर, जानीपुर और तालाब तिल्लो आदि क्षेत्रों में सुबह से ही बाजारों में खरीदारों की भीड़ पहुंचना शुरू हो गई थी और रात तक यह सिलसिला जारी रहा।

इस बार बर्तनों की कीमतें बढ़ने से ग्राहकों को थोड़ी जेब ढीली करनी पड़ी है। महिलाओं ने बर्तन और ज्वैलरी की खरीदारी को अधिक पसंद किया। इसमें सोने चांदी के आभूषणों में नए डिजाइन ने महिलाओं को आकर्षित किया। शहर के लखदत्ता, जैन बाजार, गांधीनगर, शास्त्रीनगर आदि क्षेत्रों में सराफा बाजार का मुख्य कारोबार हुआ। धनतेरस में बाजार में सोना प्रति तोला 47000 रुपये और चांदी प्रति तोला 650 रुपये में बिकी, जो पिछले साल की तुलना में कम थी।

चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री एसोसिएशन जम्मू के प्रधान अरुण गुप्ता ने कहा कि पिछले दो सालों की तुलना में बाजार को नई रफ्तार मिली है। धनतेरस में बाजारों में भीड़ रही, लेकिन भविष्य में इसमें और बढ़ोतरी से ही कारोबार को अधिक राहत मिलेगी। इसके साथ दरबार मूव में कश्मीर से कर्मियों के जम्मू न पहुंचने और दरबार मूव से पहले दिवाली का पर्व होने से घाटी के कर्मचारियों का जम्मू में निवेश नहीं हो पाया है।

अलबत्ता बाजार को नई मजबूती मिली है। फेडरेशन आफ रिटेलर्स एसोसिएशन के प्रधान यशपाल गुप्ता ने कहा कि इस साल त्योहारों पर बाजारों में खरीदारों की भीड़ पहुंची है और उम्मीद है कि आगामी त्योहारों में भी इसमें इजाफा होगा। बाजार से मिले फीडबैक के मुताबिक धनतेरस और अन्य दूसरे त्योहारों पर बाजार में रौनक लौटी है।

धनतेरस पर बाजारों में भीड़ के बीच कोविड एसओपी की जमकर धज्जियां उड़ी। शहर के अधिकांश बाजारों में कहीं भी सामाजिक दूरी का पालन नहीं हुआ। भीड़ में बड़ी संख्या में लोग बिना मास्क के ही नजर आए, यही हाल दुकानदारों का भी रहा। त्योहारों को देखते हुए कोविड एसओपी का पालन करने में प्रवर्तन एजेंसियां भी नरम रहीं।

धनतेरस और दिवाली की खरीदारी के चलते मंगलवार को पूरा शहर जाम के जाल में जकड़ा रहा। खासतौर पर पुराने शहर के संकरी बाजारों में हालात ज्यादा खराब रहे। शहर के रघुनाथ बाजार, सिटी चौक, पुरानी मंडी, शालामार, लिंक रोड, राज तिलक रोड, मोती बाजार, पक्का डंगा आदि क्षेत्रों में बार बार लग रहे जाम को खुलवाने के लिए पुलिस और ट्रैफिक कर्मियों को कड़ी कसरत करनी पड़ी।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it