जम्मू और कश्मीर

आतंकियों ने सीआरपीएफ बंकर पर फेंके ग्रेनेड, दो जवान घायल, 4 मददगार ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार

Renuka Sahu
24 March 2022 2:49 AM GMT
आतंकियों ने सीआरपीएफ बंकर पर फेंके ग्रेनेड, दो जवान घायल, 4 मददगार  ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार
x

फाइल फोटो 

आतंकियों ने बुधवार की शाम रैनावाड़ी इलाके में सीआरपीएफ के एक बंकर पर ग्रेनेड फेंक दिया।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। आतंकियों ने बुधवार की शाम रैनावाड़ी इलाके में सीआरपीएफ के एक बंकर पर ग्रेनेड फेंक दिया। धमाके में सीआरपीएफ का एक व जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक जवान घायल हो गयी। वहीं ग्रेनेड फेंकने वाले एक मॉड्यूल का भंडाफोड़ कर पुलिस ने चार आतंकी मददगारों को बेमिना इलाके में चार ग्रेनेड के साथ गिरफ्तार किया है। यह सभी लश्कर-ए-ताइबा के लिए काम कर रहे थे। जुबैर नाम का आरोपी सुरक्षा बल पर हथगोला फेंकने जा रहा था।


पुलिस ने बताया कि शहर के रैनाबाड़ी इलाके में आतंकियों द्वारा इलाके में सीआरपीएफ की 82 बटालियन के बंकर पर ग्रेनेड फेंका। ग्रेनेड थोड़ी दूरी पर फट गया जिसके चलते नाका पार्टी में तैनात दो जवानों को मामूली चोटें पहुंची। उन्हें तुरंत पास के अस्पताल ले जाया गया। जबकि हमलावरों की तलाश में पूरे इलाके को घेर कर तलाशी अभियान चलाया गया।
उधर बुधवार शाम बेमिना चौक पर एक नाका चेकिंग के दौरान सौरा निवासी एक आतंकी मददगार जुबैर शेख को रोक कर सुरक्षाबलों ने उसके पास से एक ग्रेनेड बरामद किया। इसके बाद पूछताछ मे उसने बताया कि उसे यह ग्रेनेड टेंगपोरा निवासी एक अन्य ओजीडब्ल्यू शमीम अहमद ने दिया था। शमीम ने कबूल किया कि उसने चार (4) हथगोले की एक खेप प्राप्त की थी और टेंगपोरा के अमीर रहमान डार, नौगाम के शाहिद अहमद मीर जुबैर शेख (पहला गिरफ्तार ओजीडब्ल्यू) को एक-एक ग्रेनेड सौंपा था। इसके बाद चारों को गिरफ्तार कर ग्रेनेड बरामद कर लिए गए।
उड़ी में पोस्ट पर तैनात जवान ने गोली मारकर की आत्महत्या
उत्तरी कश्मीर के बारामुला जिले के उड़ी इलाके में माइक पोस्ट पर बुधवार दोपहर सेना के एक जवान ने अपनी सर्विस राइफल से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। सैन्य कर्मी ने यह कदम क्यों उठाया इसके बारे में अभी कोई जानकारी नहीं मिली है। जवान की पहचान 21 कुमाऊं के विक्रम कुमार यादव के रूप में हुई है।
आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि घटना उड़ी सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर स्थित माइक पोस्ट पर हुई। सूत्रों ने बताया कि सेना के जवान को गंभीर अवस्था में ब्रिगेड अस्पताल उड़ी लाया गया जहां उसकी मौत हो गई। इसके बाद कानूनी औपचारिकताओं को पूरा करने के लिए शव को उप खंड अस्पताल (एसडीएच) भेज दिया गया है। एक पुलिस अधिकारी ने घटना की पुष्टि करते हुए बताया कि इस संबंध में आवश्यक जांच के लिए मामला दर्ज कर लिया गया है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta