जम्मू और कश्मीर

J&K : सर्दी का मौसम में बढ़ जाएगी आतंकी घुसपैठ की घटनाएं, सेना ने बढ़ाई सख्ती

Kunti
15 Nov 2021 11:52 AM GMT
J&K : सर्दी का मौसम में बढ़ जाएगी आतंकी घुसपैठ की घटनाएं, सेना ने बढ़ाई सख्ती
x
सर्दी का मौसम शुरू होते ही सुरक्षाबलों के लिए आतंक से निपटने की चुनौती बढ़ गई है.

जम्मू । सर्दी का मौसम शुरू होते ही सुरक्षाबलों के लिए आतंक से निपटने की चुनौती बढ़ गई है, क्योंकि बर्फबारी में आतंकी घुसपैठ की घटनाएं बढ़ जाती हैं। पिछले कुछ दिनों से पीर पंजाल रेंज में घुसपैठ की घटनाओं को बढ़ते हुए देखा जा रहा है। ऐसे में सर्दी का मौसम शुरू होते ही सुरक्षाबलों की तरफ से सख्ती करना शुरू कर दिया गया है।कश्मीर के अलावा राजौरी और पुंछ जिलों में भी एलओसी पर तैनाती को बढ़ाया गया है। पुंछ और राजौरी में गर्मी के मौसम में भी घुसपैठ की घटनाएं देखने को मिली हैं। पिछले माह से राजौरी के बॉर्डर पर आतंकियों के साथ सुरक्षाबलों का ऑपरेशन चल रहा है।

जानकारी के अनुसार, इस समय कश्मीर में पाक आतंकियों की संख्या लगातार कम हो रही है। पूरे कश्मीर में सिर्फ 38 पाक आतंकी ही बचे हुए हैं, जोकि पूरे कश्मीर में स्थानीय आतंकियों को चलाने का काम कर रहे हैं। ऐसे में कश्मीर में पाक आतंकियों की कम होती गिनती को देखकर सीमा पार से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं कि आतंकियों को इस तरफ भेजा जा सके।
मौजूदा समय में पाक ट्रेनिंग कैंपों में आतंकियों की गिनती बढ़ रही है, जोकि घुसपैठ के इंतजार में हैं, लेकिन घुसपैठ सफल नहीं हो पा रही है। अब जब सर्दी का मौसम शुरू हो चुका है तो कश्मीर के अलावा पीर पंजाल में भी बर्फबारी शुरू हो गई है। ऐसे में आतंकियों का प्रयास रहता है कि बर्फबारी का फायदा उठाकर घुसपैठ की जा सके, क्योंकि बर्फबारी के मौसम में एलओसी से लगते पहाड़ी इलाकों में कई रास्ते बंद हो जाते हैं। जिससे की सुरक्षा भी कम होती है।आतंकी इन रास्तों का इस्तेमाल करके घुसपैठ के प्रयास करते हैं। इन दिनों कश्मीर के साथ पीर पंजाल रेंज में भी आतंकी घुसपैठ की घटनाएं देखने को मिल रही हैं। आतंकी इस इलाके से घुसपैठ करके फिर जंगल के रास्ते कश्मीर की तरफ जा रहे हैं। पुंछ और राजौरी में कई दिनों से ऑपरेशन चल रहा है। आतंकी घुसपैठ करके आए और फिर नौ जवानों को शहीद करने के बाद उनकी कश्मीर में चले जाने की अंतिम सूचना आई है।
इन सब बातों को देखते हुए सुरक्षाबलों की तरफ से सर्दी के मौसम के लिए तैयारी शुरू कर दी गई है। पूरी एलओसी पर सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया है, ताकि आतंकियों को बर्फबारी के मौसम में कोई फायदा न लेने दिया जाए। एक तरफ कश्मीर में आतंकियों को मार गिराकर सफलता प्राप्त की जा रही है तो दूसरी तरफ घुसपैठ के प्रयास को रोककर आतंक की कमर को तोड़ा जा रहा है।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it