हिमाचल प्रदेश

पुरानी पेंशन बहाली को लेकर एनपीएस कर्मचारी करेंगे विधानसभा का घेराव, दो जून से प्रदेश भर में धरने-प्रदर्शन का दौर

Renuka Sahu
24 May 2022 5:56 AM GMT
NPS employees will besiege the assembly for restoration of old pension, from June 2, a period of dharna-demonstration across the state
x

फाइल फोटो 

पुरानी पेंशन की बहाली के लिए एनपीएस कर्मचारी फिर से विधानसभा का घेराव करेंगे।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पुरानी पेंशन की बहाली के लिए एनपीएस कर्मचारी फिर से विधानसभा का घेराव करेंगे। विधानसभा के घेराव के लिए एनपीएस कर्मचारी महासंघ हिमाचल प्रदेश ने रणनीति तैयार कर ली है। राजस्थान में ओल्डपेंशन बहाली के लिए हुई दो दिवसीय राष्ट्रीय बैठक में हिमाचल प्रदेश के पदाधिकारियों रूप रेखा बताई। एनपीएस कर्मचारी महासंघ हिमाचल के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर व भरत शर्मा ने कहा कि प्रदेश स्तर पर भी आंदोलन को तेज करने के लिए विभिन्न कार्यक्रम तय किए गए हैं, जिसमें दो जून से प्रदेश के सभी जिला में धरना प्रदर्शन किए जाएंगे। दो जून को जिला किन्नौर, 11 जून को जिला चंबा, 14 जून को जिला हमीरपुर, 19 जून को जिला सोलन में कार्यक्रम तय किए गए हैं। उन्होंने कहा कि मानसून सत्र में शिमला में बहुत बड़ी रैली का आयोजन भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि नई पेंशन स्कीम कर्मचारी महासंघ हिमाचल प्रदेश प्रदेश के कर्मचारी की पुरानी पेंशन बहाली के लिए वचनबद्ध है, जिसके लिए संगठन की तरफ से कोई कसर नहीं छोड़ी जाएगी और पुरानी पेंशन बहाली तक इस लड़ाई को पूरे दम से लड़ा जाएगा।

बता दें कि राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार बंधु की अध्यक्षता में राजस्थान टीम द्वारा आयोजित एनएओपीएस की राष्ट्रीय बैठक दो दिन हुई। जयपुर में आयोजित इस बैठक में देश के कोने-कोने से पदाधिकारी शामिल हुए और अनेक महत्त्वपूर्ण निर्णय लिए गए। राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय बंधु और राष्ट्रीय महासचिव प्रज्ञा के नेतृत्व में हुई बैठक में पंजाब से वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुखजीत सिंह, तेलंगाना से एतकाद खान, दिल्ली से अध्यक्ष मंजीत सिंह पटेल, महासचिव आकिल अख्तर, संयोजक शमसाद हुसैन, हरियाणा से अध्यक्ष विजेंद्र धारीवाल, महासचिव ऋषि नैन, हिमाचल से राष्ट्रीय सलाहकार नरेश ठाकुर, प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप ठाकुर, राष्ट्रीय सचिव भरत शर्मा, कर्नाटक से अध्यक्ष शांताराम तेजा, उत्तर प्रदेश से महासचिव नीरज पति त्रिपाठी, मीडिया सचिव राजेश यादव, आदि राज्यों से प्रतिनिधि मौजूद रहे।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta