हिमाचल प्रदेश

एचआरटीसी ड्राइवर्स यूनियन ने जताया रोष, तीस को बसें नहीं चलाएंगे ड्राइवर

Renuka Sahu
19 May 2022 6:19 AM GMT
HRTC drivers union expressed anger, drivers will not run buses on thirty
x

फाइल फोटो 

एचआरटीसी ड्राइवर यूनियन ने सरकार व निगम प्रबंधन को चेतावनी दी है। ड्राईवर यूनियन ने चेताया है कि अगर 29 मई तक सरकार व निगम प्रबंधन उनकी मांगों को पूरा नहीं करते हैं, तो फिर 30 मई को एचआरटीसी के ड्राइवर बसें नहीं चलाएंगे।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। एचआरटीसी ड्राइवर यूनियन ने सरकार व निगम प्रबंधन को चेतावनी दी है। ड्राईवर यूनियन ने चेताया है कि अगर 29 मई तक सरकार व निगम प्रबंधन उनकी मांगों को पूरा नहीं करते हैं, तो फिर 30 मई को एचआरटीसी के ड्राइवर बसें नहीं चलाएंगे। 30मई को एचआरटीसी ड्राइवर यूनियन की ओर से काम छोड़ो आंदोलन चलाया जाएगा। 29 मई रात 12 बजे के बाद एचआरटीसी की बसें नहीं चलेंगी। राजधानी शिमला के पुराना बस स्टैंड में हुई एचआरटीसी ड्राइवर्ज यूनियन की गेटिंग मीटिंग में यह ऐलान किया गया है। एचआरटीसी ड्राईवर यूनियन के प्रधान मान सिंह ठाकुर ने आरोप लगाया है कि सरकार व निगम प्रबंधन की ओर से एचआरटीसी के कर्मचारियों के साथ सौतेला व्यवहार किया जा रहा है।

प्रदेश के अन्य विभागों में जहां छठे वित्तायोग की सिफारिशों को लागू कर दिया गया है, तो वहीं एचआरटीसी कर्मचारियों के लिए अभी तक छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू नहीं किया गया है। वहीं पिछले कई वर्षो से लंबित वित्तीय मांगों को भी पूरा नहीं किया जा रहा है। सरकार व प्रबंधन की ओर से हर बार मांगों को पूरा करने का आश्वासन दिया जाता है, लेकिन मांगें पूरी नहीं की जा रही हैं। ऐसे में अब एचआरटीसी ड्राइवर्स यूनियन ने सरकार व निगम प्रबंधन को अंतिम चेतावनी दे दी है। ड्राइवर्स यूनियन की मांग है कि विसंगितयों को दूर कर एचआरटीसी कर्मचारियों के लिए छठे वेतन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाए। इसके अलावा प्रदेश के 36 महीने का नाइट ओवर टाइम भी जारी किया जाए। कर्मचारियों को 2006 से एरियर की राशि जारी नहीं की गई है। वह राशि भी जल्द से जल्द जारी की जाए।
जेसीसी ने भी दिया जून तक का समय
एचआरटीसी की संयुक्त समन्वय समिति ने भी सरकार व निगम प्रबंधन को मांगें पूरी करने के लिए जून तक का समय दिया है। जेसीसी ने चेताया है कि अगर जून तक उनकी मांगों को पूरा नहीं किया जाता है, तो फिर जून से संयुक्त समन्वय समिति की ओर से भी प्रदर्शन किया जाएगा। उधर, एचआरटीसी पेंशन ने आठ जून को सचिवालय का घेराव करने की रणनीति तैयार कर ली है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta