हिमाचल प्रदेश

सभी सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद जश्न में डूबी कांग्रेस, जानिए विस्तार से

RAO JI
2 Nov 2021 6:30 PM GMT
सभी सीटों पर जीत दर्ज करने के बाद जश्न में डूबी कांग्रेस, जानिए विस्तार से
x

फाइल फोटो 

पढ़े पूरी खबर

जनता से रिस्ता वेबडेसक | हिमाचल प्रदेश में उपचुनाव के नतीजे आने पर पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह का निजी आवास हॉलीलॉज एक बार फिर से उनके चाहने वालों से गुलजार हुआ। उनके निवास पर लंबे अंतराल के बाद जयघोष लगे। मंडी संसदीय सीट के साथ तीन हलकों में कांग्रेस की शानदार जीत के बाद समर्थकों ने राजा साहब अमर रहे... रानी साहिबा जिंदाबाद और विक्रमादित्य सिंह जिंदाबाद के नारे लगाए। प्रदेश भर में कार्यकर्ताओं ने मिठाइयां बांटकर और पटाखे फोड़ कर जीत का जश्न मनाया।

मंडी संसदीय सीट के अलावा अर्की, जुब्बल-कोटखाई व फतेहपुर विधानसभा में जीत हासिल करने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता जश्न में डूब गए। सुबह से ही मंडी से कांग्रेस की उम्मीदवार प्रतिभा सिंह और शिमला ग्रामीण के विधायक विक्रमादित्य सिंह की धड़कनें तेज होती रहीं। उन्होंने और उनके समर्थकों ने बराबर नतीजों की पल-पल की अपडेट ली। मंडी का नतीजा आने के बाद ही प्रतिभा सिंह घर से बाहर आईं और समर्थकों के बीच पहुंचीं। यहां उन्होंने सभी का आभार जताया।

जीतने के बाद वह और उनके पुत्र विक्रमादित्य सिंह सीधे कांग्रेस कार्यालय राजीव भवन के लिए निकले। कांग्रेस प्रत्याशियों की जीत पर राजधानी शिमला स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन के बाहर समर्थकों ने खूब आतिशबाजी की। प्रतिभा सिंह के पार्टी कार्यालय पहुंचने पर फूल मालाएं पहनाकर स्वागत किया गया

प्रतिभा सिंह ने प्रदेश अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर सहित अन्य नेताओं से कार्यालय में मुलाकात की। यहां से प्रतिभा सिंह और विक्रमादित्य सिंह मंडी के लिए रवाना हुए। पूर्व मंत्री जीएस बाली के निधन के चलते पार्टी कार्यालय में बड़े स्तर पर जश्न नहीं मनाया गया।

शिमला ग्रामीण से विधायक विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि उपचुनाव में जन बल से धन बल की हार हुई है। कांग्रेस ने सकारात्मक चुनाव प्रचार किया। भाजपा ने प्रधानमंत्री मोदी और मुख्यमंत्री जयराम के नाम पर वोट मांगे। दिवंगत पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के नाम पर वोट मांगना हमारा अधिकार है। उनके कार्यों को आने वाले समय में भी याद करवाएंगे। वीरभद्र सिंह एक संस्थान हैं। संस्थान की भूमिका हमेशा रहती है, वो विचारधारा भी हैं। मंडी में प्रतिभा की जीत के बाद कांग्रेस ने जश्न मनाया।

वहीं, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा है कि उपचुनाव का सेमीफाइनल जीतकर पार्टी लापरवाह नहीं होगी। अभी से वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव के फाइनल की तैयारी शुरू हो गई है। मंगलवार को कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन शिमला में पत्रकार वार्ता में राठौर ने कहा कि उपचुनाव में लोगों को धर्म, जाति और क्षेत्र के नाम पर बांटने के भाजपाइयों के हथकंडे काम नहीं आए। राठौर ने कहा कि प्रदेश सरकार को अब सत्ता में रहने का कोई अधिकार नहीं है। मुख्यमंत्री को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा देना चाहिए।

राठौर ने उपचुनाव में जीत का श्रेय पार्टी कार्यकर्ताओं को दिया। उन्होंने कहा कि पार्टी ने एकजुट होकर चुनाव लड़ा है। हर नेता की जिम्मेवारी तय की गई थी। कांग्रेस को मंडी संसदीय सीट के आठ विधानसभा क्षेत्रों में मिले कम मतों की समीक्षा की जाएगी। पूरी ईमानदारी से काम नहीं करने वाले नेताओं के खिलाफ सख्त कदम उठाए जाएंगे।

कांग्रेस ने जन बल से धन बल को मात दी है। इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि उपचुनाव में सत्ता पक्ष को एक भी सीट पर जीत दर्ज नहीं हुई। उन्होंने कहा कि भाजपा ने चुनावों में मुद्दों से भटकाया। मुख्यमंत्री ने मंडी की दुहाई तक दी। इसके बावजूद मंडी संसदीय सीट के नौ विधानसभा क्षेत्रों रामपुर, किन्नौर, लाहौल स्पीति, भरमौर, कुल्लू, मनाली, बंजार, आनी और नाचन में कांग्रेस को लीड मिली है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta