हिमाचल प्रदेश

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गरजेंगी आज, प्रदर्शन में शामिल होंगी प्रदेश भर की 37 हजार योजना कर्मी

Renuka Sahu
24 Feb 2022 4:22 AM GMT
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता गरजेंगी आज, प्रदर्शन में शामिल होंगी प्रदेश भर की 37 हजार योजना कर्मी
x

फाइल फोटो 

सीटू से संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायक गुरुवार को हड़ताल पर रहेंगी।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। सीटू से संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायक गुरुवार को हड़ताल पर रहेंगी। प्रदेश भर में अठारह हजार आंगनबाड़ी केंद्र बंद रहेंगे। लगभग 37 हजार आंगनबाड़ी योजना कर्मी इस हड़ताल में शामिल होंगी। आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं ने विधानसभा के बाहर प्रदर्शन की भी चेतावनी दी है। यूनियन अध्यक्ष नीलम जसवाल और महासचिव वीना शर्मा ने कहा है कि आंगनबाड़ी कर्मी प्री-प्राइमरी में 100 फीसदी नियुक्ति, इस नियुक्ति में 45 वर्ष की शर्त खत्म करने, सुपरवाइजर नियुक्ति के लिए भारतवर्ष के किसी भी मान्यता प्राप्त विश्विद्यालय की डिग्री को मान्य करने, वरिष्ठता के आधार पर मैट्रिक और ग्रेजुएशन पास की सुपरवाइजर में तुरंत भर्ती करने, सरकारी कर्मचारी के दर्जे, हरियाणा की तर्ज पर वेतन देने, रिटायरमेंट की आयु 65 वर्ष करने की मांग और नंद घर बनाने की आड़ में आईसीडीएस को वेदांता कंपनी के हवाले करके निजीकरण की साजिश और डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, पोषण ट्रैकर ऐप और तीस प्रतिशत बजट कटौती के खिलाफ सड़कों पर उतरेंगे।

उन्होंने केंद्र और प्रदेश सरकार को चेताया है कि अगर आईसीडीएस का निजीकरण किया गया। आंगनबाड़ी वर्कर को नियमित कर्मचारी घोषित न किया गया, तो आंदोलन और तेज होगा। उन्होंने नई शिक्षा नीति को वापस लेने की मांग की है यह आइसीडीएस विरोधी है। आईसीडीएस को वेदांता कंपनी के हवाले करने के लिए नंद घर की आड़ में निजीकरण को किसी भी सूरत में बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उन्होंने आंगनबाड़ी कर्मियों को वर्ष 2013 का नेशनल रूरल हैल्थ मिशन के तहत बकाया राशि का भुगतान तुरंत करने की मांग की है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta