हिमाचल प्रदेश

जहरीली शराब पीने के बाद 5 लोगों की मौत, 4 की हालत गंभीर, मामले की जांच के लिए SIT गठित

Kunti Dhruw
20 Jan 2022 11:23 AM GMT
जहरीली शराब पीने के बाद 5 लोगों की मौत, 4 की हालत गंभीर, मामले की जांच के लिए SIT गठित
x
हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले के सलप्पर (Salappar) क्षेत्र में नकली देशी शराब के सेवन से लोगों की मौत का मामला सामने आया है।

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के मंडी जिले के सलप्पर (Salappar) क्षेत्र में नकली देशी शराब के सेवन से लोगों की मौत का मामला सामने आया है, (Mandi Spurious liquor Death). जबकि चार अन्य बीमार हो गये हैं. प्रारंभिक जांच के अनुसार, इन सभी व्यक्तियों ने 17 जनवरी की शाम को अलग-अलग समय पर सलप्पर और आसपास के क्षेत्रों में विभिन्न दुकानों/घरों में शराब का सेवन किया था. जिसके अगले दिन इनकी तबियत खराब होने लगी थी. वहीं मामले की जांच के लिए सरकार ने एसआईटी (SIT Formed) का गठन किया है. साथ ही मृतकों के परिवार को 8-8 लाख रुपये राहत राशि प्रदान करने की घोषणा की है.

मंडी एसपी शालिनी अग्निहोत्री (Mandi SP Shalini Agnihotri) ने बताया कि बुधवार सुबह बल्ह थाने में श्री लाल बहादुर शास्त्री मेडिकल कॉलेज (Lal Bahadur Shastri Medical College) नेरचौक से सूचना मिली कि चार लोगों को जहरीली शराब पीने के संदेह में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है. सूचना सुंदरनगर पुलिस के साथ साझा की गई, जिसने कानूनी कार्रवाई शुरू की. बाद में, चार अन्य व्यक्तियों को इसी तरह के लक्षणों के इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया, जबकि एक व्यक्ति को मृत लाया गया.जहरीली शराब से इन लोगों की गई जान
मृतकों की पहचान सालप्पर निवासी चेत राम (47) और सुदेश कुमार (49) के रूप में हुई है. सुधन के मणि राम (55), कंगू के कला राम (52) और मंडी के खोराटा गांव के रजनीश कुमार (40) ने कहा. उन्होंने बताया कि, मालथानी के भगत राम (42), सलप्पर के रमन ठाकुर (40) और बीरबल (42) और कंगू गांव के गणपत का मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है.
17 जनवरी की शाम को किया पी थी शराब
प्रारंभिक जांच के अनुसार, इन सभी व्यक्तियों ने 17 जनवरी की शाम को अलग-अलग समय पर सलप्पर और आसपास के क्षेत्रों में विभिन्न दुकानों/घरों में शराब का सेवन किया था. अगले दिन, उन्होंने समान लक्षण दिखाना शुरू कर दिए. सबसे पहले, उनमें से दो को सीएचसी सुंदरनगर में भर्ती कराया गया और बाद में इंटुबैटेड हालत में मेडिकल कॉलेज, नेरचौक में स्थानांतरित कर दिया गया, जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई.
मामले में SIT का गठन
जहरीली शराब मामले की जांच के लिए सरकार ने एसआईटी का गठन किया है. मामले की गंभीरता को देखते हुए प्रदेश सरकार ने मृतकों के परिवार को 8-8 लाख रुपये राहत राशि प्रदान करने की घोषणा की है. जिसमें 4 लाख प्रदेश सरकार और 4 लाख की राशि जिला प्रशासन की ओर से पीड़ित परिवार को दी जाएगी.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta