हिमाचल प्रदेश

केंद्र सरकार के बजट से हिमाचल में बनेंगी 440 किलोमीटर सडक़ें, चुनाव से पहले दिखेगी डबल इंजन की पॉवर

Renuka Sahu
29 Aug 2022 3:05 AM GMT
440 km of roads will be built in Himachal with the budget of the central government, double engine power will be seen before the elections
x

फाइल फोटो 

विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार मास्टर स्ट्रोक खेलने की तैयारी में है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले सरकार मास्टर स्ट्रोक खेलने की तैयारी में है। केंद्र की मदद से बड़ा प्रोजेक्ट हिमाचल में लांच कर डबल इंजन के संदेश की प्लांनिग चल रही है। आगामी दिनों में सडक़ें हिमाचल में बनेंगी और पूरा खर्च केंद्र सरकार उठाएगी। पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण का उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हिमाचल से करेंगे। केंद्र से मंजूरी के बाद लोक निर्माण विभाग ने इस परियोजना की शुरुआत की बड़ी तैयारी की है। अंदरखाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बुलाने की औपचारिकताएं पूरी की जा रही हैं। प्रधानमंत्री के सितंबर में सिलसिलेवार कई दौरे होने वाले हैं। इनमें प्रधानमंत्री बिलासपुर में एम्स और चंबा के होली में निर्मित होली-बजोली परियोजना का उद्घाटन करेंगे। इसी कड़ी में एक और नाम प्रधानमंत्री ग्राम सडक़ योजना के तीसरे चरण का भी जोड़ा जा रहा है। पीएमजीएसवाई के तहत प्रदेश में 440 किलोमीटर सडक़ निर्माण के पहले भाग को मंजूरी मिली है। केंद्र सरकार इस निर्माण पर 442 करोड़ रुपए खर्च करेगी। विधानसभा चुनाव से ठीक पहले ग्रामीण सडक़ों के लिए यह बड़ी घोषणा होने वाली है।

प्रदेश सरकार भी इस परियोजना की शुरुआत प्रधानमंत्री के हाथों करवाना चाह रही है। दरअसल, तीसरे चरण में वे ग्रामीण क्षेत्र जो पूर्व में सडक़ से अछूते रह गए, उन्हें अब सडक़ के साथ जोड़ा जाएगा। प्रदेश के 15 ब्लॉक में इनका निर्माण होने वाला है। लोक निर्माण विभाग ने इन सभी ब्लॉक से ऐसे स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, पंचायत भवन, पशु चिकित्सालयों को सडक़ से जोडऩे का प्रोजेक्ट तैयार किया है, जिनमें अभी तक पैदल ही आवाजाही की व्यवस्था थी। जिन ब्लॉक का चयन हुआ है, उनमें मंडी जिला से मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का विधानसभा क्षेत्र सराज और जलशक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर के धर्मपुर के साथ ही सिरमौर जिला के पच्छाद, राजगढ़ और संगड़ाह, चंबा के भटियात और तीसा, किन्नौर जिला के पूह, शिमला के छोहारा, कुल्लू के नग्गर और निरमंड को शामिल किया गया है। पीएमजीएसवाई की बात करें तो प्रदेश से केंद्र को 3160 किलोमीटर का प्रस्ताव परियोजना की कुल अवधि के दौरान भेजा गया है। इसकी डीपीआर टुकड़ों में तैयार की जा रही है। पहले हिस्से में 440 किलोमीटर सडक़ें आई हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बिलासपुर एम्स के दौरे के दौरान ही प्रदेश में पीएमजीएसवाई का उद्घाटन भी कर सकते हैं।
15 ब्लॉक चयनित, खर्च होंगे 442 करोड़ रुपए
लोक निर्माण विभाग प्रधान सचिव भरत खेड़ा ने बताया कि पीएमजीएसवाई के तीसरे चरण को मंजूरी मिल गई है। इस परियोजना के तहत पहले चरण में 440 किलोमीटर सडक़ों का निर्माण होना है। इसके लिए 15 ब्लॉक का चयन किया गया है। इस पर 442 करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। केंद्र सरकार के माध्यम से जल्द ही इस परियोजना का उद्घाटन किया जाएगा।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta