हिमाचल प्रदेश

आसमानी बिजली की चपेट में आए 2 लोग, एक की मौत

Gulabi Jagat
22 May 2022 5:14 PM GMT
आसमानी बिजली की चपेट में आए 2 लोग, एक की मौत
x
बिजली की चपेट में आए 2 लोग
नाहन: सिरमौर जिले में सड़क की टारिंग का कार्य सही न होने पर ग्रामीण भड़क गए. मामला दुर्गम क्षेत्र नौहराधार-पुन्नरधार सड़क मार्ग का है. टारिंग कार्य सही न होने पर ग्रामीणों में लोक निर्माण विभाग व ठेकेदार के प्रति रोष देखा जा रहा है. इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. दरअसल सड़क निर्माण में मानक के अनुरूप निर्माण सामग्री न लगने के चलते ठेकेदार द्वारा करीब 18 किलोमीटर नौहराधार-पुन्नरधार मार्ग पर कार्य की गुणवत्ता न होने से ग्रामीण खूब भड़के. सोशल मीडिया पर वीडियो डालकर देवामानल के पास सड़क पर की गई टायरिंग उखाड़ दी. वीडियो में कहा जा रहा है कि बड़े मुश्किल से वर्षों बाद सड़क पक्की हो रही है, मगर टारिंग मिट्टी के ऊपर डाली जा रही है.
ग्रामीणों का कहना है कि सड़कें क्षेत्र की भाग्य रेखाएं (Video of road tarring in Sirmaur goes viral) होती हैं, लेकिन यदि यह भाग्य रेखाएं ही आमजन के लिए असुविधा बन जाएं, तो इससे बड़ा दुर्भाग्य क्या हो सकता है. लिहाजा संबंधित सड़क को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों द्वारा लोक निर्माण विभाग व ठेकेदार को खूब ट्रोल किया जा रहा है. बता दें कि वर्षों पुरानी सड़क को पूर्व में स्थानीय लोग पक्का करवाने को लेकर आवाज बुलंद करवाते रहे हैं. जब यह अब यह सड़क पक्की हो रही है, तो कार्य सही न होने के आरोप लगाए जा रहे हैं. इन दिनों उक्त सड़क मार्ग की घटिया टारिंग को लेकर लोग लोनिवि व ठेकेदार को कोस रहे हैं. इस सड़क मार्ग पर इन दिनों टारिंग का काम जोरों पर चला है. मगर लोग ठेकेदार द्वारा करवाए जा कार्य से संतुष्ट नहीं है.
सड़क मार्ग की घटिया टारिंग को लेकर स्थानीय युवा ओम प्रकाश द्वारा जब घटिया टारिंग का वीडियो शेयर किया गया, तो लोग इसे आगे से आगे शेयर कर रहे है. वहीं लोक निर्माण विभाग ने सड़क की टारिंग का निरीक्षण करने की बात कहीं है. साथ में विभाग ठेकेदार द्वारा किए गए कार्य को सही बता रहे है. बता दें कि इस मार्ग पर बनी पुलिया, पैराफिट व डंगो का कार्य ठेकेदार द्वारा सही किया गया है. मगर ग्रामीणों के अनुसार टारिंग सही नहीं की जा रही है.
वहीं, संगड़ाह लोक निर्माण विभाग के एक्सईएन रतन शर्मा ने बताया कि ठेकेदार द्वारा उक्त कार्य ठीक किया गया है. वह खुद हाल ही में चंद रोज पहले निरीक्षण पर गए थे. लोगों ने ताजी की गई टारिंग को उखाड़ दिया. उधर एसडीओ लोक निर्माण नौहराधार खजान सिंह ने बताया कि फिलहाल कार्य गुणवत्ता सहीं है. यदि मिट्टी के ऊपर तारकोल बिछाया जा रहा है, तो निरीक्षण कर कार्य को सही करवाया जाएगा. कुल मिलाकर यह मार्ग नोहराधार से पुन्नरधार 18 किलोमीटर पक्का होने जा रहा है, जिस पर जानकारी के अनुसार करीब साढ़े 6 करोड़ की राशि खर्च हो रही है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta