हरियाणा

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना: किसानों ने ई-केवाईसी करने के लिए दो और दिनों का वक़्त

Admin Delhi 1
30 July 2022 12:02 PM GMT
प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना: किसानों ने ई-केवाईसी करने के लिए दो और दिनों का वक़्त
x

नारनौल न्यूज़: सरकार की ओर से किसानों को आर्थिक मदद देने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) चलाई जा रही है। इस योजना के तहत लाभ ले रहे किसानों को 31 जुलाई तक अपना ई-केवाईसी (e-KYC) करवाना जरूरी है। अगर 31 जुलाई तक ई-केवाईसी नहीं करवाई तो उन किसानों को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की आगामी किस्त नहीं मिलेगी। उप कृषि निदेशक बलवंत सिंह ने बताया कि कृषि एवं किसान कल्याण विभाग की ओर से जनवरी 2022 से किसानों के सत्यापन का कार्य किया जा रहा है। अभी भी काफी संख्या में किसानों ने ई-केवाईसी नहीं करवाया है। उन्होंने बताया कि ई-केवाईसी ना करवाने के कारण उनका ब्यौरा पोर्टल पर सत्यापित नहीं हो पा रहा है। ऐसे में इन किसानों को आगे की किसान सम्मान निधि नहीं मिल पाएगी। उन्होंने बताया कि जिले में एक लाख एक हजार 125 पंजीकृत किसानों में से अब तक 30 हजार 535 किसानों ने अभी तक अपनी ई-केवाईसी अपडेट नहीं करवाई है। उन्होंने बताया कि अब तक जिन किसानों ने अपनी केवाईसी नहीं करवाई है वे किसान आगामी 31 जुलाई तक ई-केवाईसी करवाएं। उन्होंने बताया कि यदि किसानों ने अपना ई-केवाईसी नहीं करवाया तो किसानों का डाटा पोर्टल पर अपडेट नहीं होगा और उन्हें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की आगामी किस्त नहीं मिलेगी। उन्होंने किसानों से अपील की है कि वे जल्द से जल्द पोर्टल पर अपनी ई-केवाईसी करवाएं ताकि किसान सम्मान निधि की किस्त उन्हें मिल सके।

ई-केवाईसी की ओटीपी आधारित सत्यापन प्रक्रिया: किसान ई-केवाईसी के लिए सबसे पहले पीएम किसान पोर्टल पर जाएं। इसके बाद ई-केवाईसी ऑप्शन पर क्लिक कर स्क्रीन पर प्रदर्शित कैप्चा का विवरण दर्ज करें। इसके बाद किसान अपना आधार लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करें। आधार लिंक मोबाइल नंबर दर्ज करने पर मोबाइल पर ओटीपी आएगा उस ओटीपी को दर्ज करें तथा ओटीपी सत्यापन के लिए सबमिट बटन दबाएं। इसके बाद ई-केवाईसी सफलतापूर्वक सबमिटेड मैसेज आपको स्क्रीन पर दिखाई देगा। यदि आपका ई-केवाईसी पहले से हो चुका है तो ईकेवाईसी ऑलरेडी डन का मैसेज आएगा।

बायोमेट्रिक सत्यापन प्रक्रिया: यह सुविधा अपने निकटतम सभी जन सेवा केंद्र पर उपलब्ध है। जिन किसानों के मोबाइल नंबर आधार पंजीकृत नहीं है अथवा सत्यापन करते समय ओटीपी नहीं आ रहा है वह जन सेवा केंद्र पर जाकर अपने बायोमेट्रिक सत्यापन करवाएं। ई-केवाईसी ऑप्शन पर क्लिक करें। बायोमेट्रिक सत्यापन के लिए फिंगर ऑप्शन का चयन करें। पीएम किसान पोर्टल पर पंजीकृत आधार संख्या दर्ज करें। इसके बाद स्क्रीन प्रदर्शित कैप्चा दर्ज करें। कैप्चर फॉर ई-केवाईसी दबाएं तथा पुन: आधार संख्या दर्ज करें। मोबाइल नंबर दर्ज करने के बाद बायोमेट्रिक मशीन पर अंगुली लगाएं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta