हरियाणा

25 साल के लड़के की छाती में था 14 किलो का ट्यूमर, सर्जरी कर बचाई जान, पढ़े पूरी खबर

Rani Sahu
21 Oct 2021 3:13 PM GMT
25 साल के लड़के की छाती में था 14 किलो का ट्यूमर, सर्जरी कर बचाई जान, पढ़े पूरी खबर
x
गुरुग्राम (Gurugram) के निजी अस्पताल में डॉक्टरों ने एक 25 साल के लड़के की छाती (Chest) से करीब 14 किलोग्राम का ट्यूमर (Tumor) निकाला है

गुरुग्राम (Gurugram) के निजी अस्पताल में डॉक्टरों ने एक 25 साल के लड़के की छाती (Chest) से करीब 14 किलोग्राम का ट्यूमर (Tumor) निकाला है. इस ट्यूमर ने मरीज की छाती की अधिकतर जगह घेर रखी थी. उसके फेफड़े भी केवल दस फीसदी ही काम कर रहे थे. यह ट्यूमर फुटबॉल (Football) से भी बड़े आकार का था. ट्यूमर की सर्जरी करने वाले फोर्टिस अस्पताल के डॉक्टरों का दावा है कि यह दुनिया में अभी तक छाती का सबसे बड़े आकार का ट्यूमर था जिसको सफलतापूर्वक निकाला गया है.

दिल्ली (Delhi) निवासी मरीज बलवीर शर्मा (बदला हुआ नाम) को गंभीर हालत में फोर्टिस अस्पताल लाया गया था. उनको सांस लेने में परेशानी हो रही थी. डॉक्टरों ने सबसे पहले मरीज की खून की जांच की और उसके बाद अल्ट्रासाउंड (Ultrasound) किया. जिसमें पता चला कि उनकी छाती में एक बड़े आकार का ट्यूमर है. जिसने न सिर्फ उसके हृदय (Heart) को ढक रखा था बल्कि फेफड़ों (Lungs) को भी अपनी जगह से हिला दिया था. अस्पताल के वरिष्ठ डॉक्टर उद्गीथ धीर ने बताया कि मरीज की स्थिति देखते हुए उसका ऑपरेशन करना एक बड़ी चुनौती थी. इसके लिए सबसे पहले विशेषज्ञ डॉक्टरों की एक टीम बनाई गई. मरीज की पूरी मेडिकल हिस्ट्री की भी जांच हुई. सर्जरी के लिए नवीन उपकरणों का प्रयोग करके मरीज की छाती को दोनों तरफ से खोला गया और बीचों-बीच मौजूद छाती की मुख्‍य हड्डी (स्‍टरनम) को काटना पड़ा था. इतने बड़े आकार के ट्यूमर को मिनीमल सर्जरी से हटाना नामुमकिन था. इसलिए छाती को पूरा खोलने के अलाला कोई विकल्‍प नहीं था. इस पूरी प्रक्रिया के दौरान मरीज के शरीर में पर्याप्‍त रक्‍त प्रवाह (Blood circulation) को बनाए रखना सबसे ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण था. सभी चीजों का ध्यान रखते हुए मरीज की सर्जरी सफलतापूर्वक हो गई.
काफी सावधानी से की गई सर्जरी
डॉक्टर ने बताया कि मरीज की सर्जरी करने में काफी सावधानी बरती गई. क्‍योंकि जरा भी भूल जानलेवा साबित हो सकती थी. भारी ट्यूमर के चलते यह काफी जोखिमपूर्ण सर्जरी थी और अनेक रक्‍तवाहिकाओं के चलते सर्जरी करना भी मुश्किल था.मरीज बलवीर ने बताया कि सर्जरी से पहले इस ट्यूमर की वजह से उनका वजन 82 किलो हो गया था . लेकिन अब वह काफी हल्का महसूस करने लगे हैं. अब उनका वजन 69 किलो रह गया था. बलवीर का कहना है कि इस ट्यूमर के निकलने के बाद अब उन्हें सांस लेने में भी कोई परेशानी नही हो रही है और वह बिलकुल स्वस्थ हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it