छत्तीसगढ़

देखें 2 बजे की LIVE बुलेटिन, और बने रहिए jantaserishta.com पर

Janta Se Rishta Admin
8 May 2022 8:33 AM GMT
देखें 2 बजे की LIVE बुलेटिन, और बने रहिए jantaserishta.com पर
x

मुंबई। शिवसेना नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे (Aaditya Thackeray Shiv Sena) के अयोध्या जाने का मुहुर्त तय हो गया है. आदित्य ठाकरे श्री राम का दर्शन करने अपने चाचा महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे (Raj Thackeray MNS) के बाद जाएंगे. राज ठाकरे का अयोध्या दौरा 5 जून को होना है. आदित्य ठाकरे इसके बाद 10 जून को अयोध्या पहुंचेंगे. इस बात की जानकारी आज (8 मई, रविवार) शिवसेना सांसद संजय राउत (Sanjay Raut) ने मीडिया से बात करते हुए दी. साथ ही संजय राउत ने राज ठाकरे पर कटाक्ष करते हुए कहा कि नकली भावना से अयोध्या जाने वाले को श्री राम का आशीर्वाद नहीं मिलेगा. संजय राउत ने कहा कि राज ठाकरे राजनीतिक मकसद से अयोध्या जा रहे हैं जबकि आदित्य ठाकरे श्री राम लला का दर्शन करने और मन में श्रद्धा होने की वजह से जा रहे हैं.

संजय राउत ने कहा कि अयोध्या में आदित्य ठाकरे के आगमन की शिवसेना की ओर से जोरदार तैयारी शुरू है. बता दें कि इसी बीच अयोध्या के नयाघाट इलाके में शिवसेना की ओर से आदित्य ठाकरे की यात्रा को लेकर उद्धव और बालासाहेब ठाकरे के पोस्टर्स और बैनर्स लगाए गए हैं. इन पोस्टरों और बैनरों में भी राज ठाकरे पर ताने कसे गए हैं. इनमें लिखा गया है, 'असली आ रहा है नकली से सावधान!'

संजय राउत ने मीडिया से बात करते हुए आदित्य ठाकरे के अयोध्या दौरे को लेकर कहा, ' अयोध्या में शिवसेना के स्वागत की तैयारी शुरू हो चुकी है. प्रमु राम सबके हैं. लेकिन कोई नकली भाव से जाता है, राजनीतिक भाव से जाता है, किसी को नीचा दिखाने के लिए जाता है तो स्वागत नहीं होता है, विरोध होता है. पहले भी उद्धव ठाकरे अयोध्या जा चुके हैं.' यहां संजय राउत उस मुद्दे का जिक्र कर रहे हैं जिसमें यूपी से बीजेपी सांसद बृजभूषण शरण सिंह ने यह चेतावनी दी है कि राज ठाकरे जब तक उत्तर भारतीयों के साथ किए गए अपने व्यवहार के लिए माफी नहीं मांगेंगे, तब तक वे उनके अयोध्या आने का विरोध करेंगे और अयोध्या में उतरने नहीं देंगे.

संजय राउत ने आगे कहा, 'आदित्य ठाकरे अयोध्या कब जाएंगे. मैं आपको बता रहा हूं कि आदित्य ठाकरे 10 जून को प्रभु श्री राम का दर्शन करने जाएंगे. हमें बृजभूषण शरण सिंह और एमएनएस के पचड़े में पड़ना नहीं है. हमारा दौरा राजनीतिक नहीं है. हम दर्शन के लिए जा रहे हैं. हमारा दौरा राजनीतिक नहीं है. हमारी श्रद्धा है, हमारी भावना है. अयोध्या में शिवसेना के नाम पर किसने असली-नकली वाले बैनर्स लगाए, इसकी हमें जानकारी नहीं है. लेकिन उत्तर प्रदेश की जनता समझदार है. नकली भावना से जाने वालों को वहां प्रभु श्री राम का आशीर्वाद नहीं मिलता.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta