छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ हाउसिंग बोर्ड के तीन भ्रष्ट अधिकारियों ने साजिश के तहत संपदा अधिकारी को बनाया टारगेट!

Admin2
16 Oct 2020 6:50 AM GMT
छत्तीसगढ़ हाउसिंग बोर्ड के तीन भ्रष्ट अधिकारियों ने साजिश के तहत संपदा अधिकारी को बनाया टारगेट!
x

तीनों घोटालेबाज अधिकारियों की आपसी तनातनी से शुरू हुआ जूतम-पैजार

महिला की आड़ में तीनों अधिकारियों ने शेखको फंसाने की कोशिश

हाउसिंग बोर्ड कर्मचारी यूनियन ने मंत्री से शेख के खिलाफ प्रताडऩा की शिकायत की

कार्रवाई नहीं होने पर काम नहीं करने की दी चेतावनी

ईमानदारी अधिकारी के खिलाफ भ्रष्ट एवं निकम्मे अधिकारियो ंकी घेराबंदी, हाउसिंग बोर्ड में आपसी विवाद सतह पर

रायपुर (जसेरि)। हाल ए हाउसिंग बोर्ड में अधिकारियों के घपलों और आपसी मलाई बंटवारे की लड़ाई में तीन भ्रष्ट अधिकारियों ने संपदा अधिकारी को टारगेट बनाकर महिला को प्रताडि़त करने का आरोप कर्मचारी यूनियन के माध्यम से लगाकर प्रभारी संपदा अधिकारी एमएच शेख की चरित्रहत्या करने की कोशिश शुरू कर दी है। शेख की ही सहयोगी महिला कर्मचारी ने मानसिक प्रताडऩा का आरोप लगाया है। इसकी शिकायत हाउसिंग बोर्ड के कमिश्नर से की है। हाउसिंग बोर्ड कर्मचारी यूनियन ने आवास व पर्यावरण मंत्री मोहम्मद अकबर से शेख के खिलाफ प्रताडऩा, गाली-गलौज करने की शिकायत की है। ज्ञापन में कार्रवाई नहीं होने पर काम नहीं करने की चेतावनी दी गई है।

शेख की सहयोगी वरिष्ठ सहायक महिला कर्मचारी पूनम बंजारे ने कमिश्नर से लिखित शिकायत की है। इसमें कहा है-कई महीने से लगातार प्रभारी संपदा अधिकारी बदजुबानी कर मानसिक रूप से प्रताडि़त कर रहे हैं। वह खरी-खोटी सुनाते हैं, अपशब्दों का प्रयोग करते हैं। फाइल लेकर जाने पर गलत शब्दों का प्रयोग करते हैं, जो बताने लायक नहीं है। मैं मानसिक उत्पीडऩ से परेशान हो गई हूं। वर्तमान में मेरा स्वास्थ्य ठीक नहीं है, उनका ऐसा बर्ताव मेरे स्वास्थ्य के लिए घातक है। अधिकारी के व्यवहार से मुझे मानसिक आघात पहुंचा है। मेरे ऊपर परिवार की बहुत सारी जिम्मेदारी है, नौकरी करना अपने स्वाभिमान को रोज-रोज ठेस पहुंचाना है। एक महिला को कार्यस्थल पर अश्लील शब्द बोलना क्या सही है? क्या उनके घर में मां-बहन नहीं हैं? ऐसी घटिया मानसिकता के चलते ही महिलाएं अब नौकरी करने से घबराती हैं।

नौकरी से निकालने का आरोप : शेख पर आरोप है कि उन्होंने कई प्लेसमेंट कर्मचारियों को कोरोना काल में नौकरी से निकलवाने में भूमिका निभाई। उन्हें इतनी छूट है कि जो चाहे वह करें। नौकरी जाने पर कर्मचारियों के सामने भुखमरी की स्थिति है।

हाल की घटना में चर्चा में आए वर्मा के करीबी : क्वींस क्लब को अवैध रूप से लीज पर जमीन देने के मामले में चर्चा में आए हाउसिंग बोर्ड के अतिरिक्त कमिश्नर हेमंत कुमार वर्मा का करीबी शेख को बताया जाता है। विभागीय चर्चा के मुताबिक हेमंत कुमार वर्मा की हर कारगुजारी में शेख शामिल रहे हैं।

क्या लेकर आए थे और क्या लेकर जाएंगे : एमएच शेख महंगे ब्रांडेड कपड़े पहनते हैं और सिर पर सफेद साफा बांधने के शौकीन हैं। बताया जाता है कि वे किसी के साथ गाली-गलौज व दबंगई करने में कमी नहीं करते। किसी फिल्म के खलनायक का किरदार निभाते नजर आते हैं। जैसे ही कोई उनसे कुछ पूछता है, उनका जुमला होता है- क्या लेकर आए थे और क्या लेकर जाएंगे।

-मेरी सहयोगी मानसिक रूप से पीडि़त हैं। मैं तो एक पिता की तरह हमेशा मार्गदर्शन करता हूं। फाइलों के निपटारे के लिए कर्मचारियों को दिशा-निर्देश देता हूं। मेरे खिलाफ कुछ लोग साजिश कर रहे हैं, क्योंकि वे गलत काम नहीं करवा पाते हैं।

- एमएच शेख, हाउसिंग बोर्ड, प्रभारी संपदा

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta