छत्तीसगढ़

आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका की हरकत से विभाग में मचा हड़कंप, नोटिस जारी कर मांगा जवाब

Janta Se Rishta Admin
14 Oct 2021 7:55 AM GMT
आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका की हरकत से विभाग में मचा हड़कंप, नोटिस जारी कर मांगा जवाब
x
छत्तीसगढ़

दुर्ग। दुर्ग जिले की एक आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका ने आंगनबाड़ी केंद्र के अंदर कोई है या नहीं यह देखे बिना ही दोनों केंद्र में ताला लगाकर अपने-अपने घर चली गईं। इस दौरान तीन साल की एक बच्ची केंद्र के अंदर बंद रह गई। उसका वहां रो-रोकर बुरा हाल था। बच्ची को खोजते हुए जब परिजन आंगनबाड़ी केंद्र पहुंचे तो पता चला। उन्होंने किसी तरह बच्ची को बेसुध हालत में वहां से निकाला। इसके बाद वह बच्ची को लेकर लिटिया सेमरिया पुलिस चौकी पहुंचे और मामले की लिखित शिकायत दी।

यह मामला धमधा ब्लाक अंतर्गत ग्राम टेमरी की है। यहां के आंगनबाड़ी केंद्र क्रमांक 2 में बुधवार को देवांगन परिवार की 3 साल की बच्ची अकेली गई थी। इसके बाद बच्ची खेलने लगी और उसे छोड़ आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका दूसरे काम में लग गईं। सुबह करीब 10.45 बजे केंद्र पहुंची बच्ची अकेले खेलते-खेलते दूसरी तरफ चली गई। जब बच्ची केंद्र में नहीं दिखी तो बच्ची को घर जाना समझकर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका केंद्र में ताला बंद कर अपने घर चले गए।

परिजन ने इस लापरवाही के लिए लिटिया सेमरिया पुलिस चौकी पहुंचकर लिखित में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद जैसे ही यह मामला महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों तक पहुंचा तो उनके होश उड़ गए। धमधा CDPO धीरेंद्र प्रताप सिंह को जैसे ही इस मामले की जानकारी हुई उन्होंने संबंधित आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका को कारण बताओ नोटिस जारी किया और मामले में जांच के आदेश भी दिए हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it