छत्तीसगढ़

सागौन बंगले से लगे सरकारी दफ्तर को खाली कराया...पीडब्ल्यूडी की कामर्शियल काम्प्लेक्स बनाने की योजना

Admin2
15 Oct 2020 6:17 AM GMT
सागौन बंगले से लगे सरकारी दफ्तर को खाली कराया...पीडब्ल्यूडी की कामर्शियल काम्प्लेक्स बनाने की योजना
x
स्टॉफ व दफ्तर को सिरपुर भवन परिसर में शिफ्ट किया

रायपुर (जसेरि)। पीडब्ल्यूडी राजधानी में खाली पड़ी अपनी जमीन से कमाई करने की तैयारी कर रहा है। इसके लिए सबसे पहले शहर के कटोरातालाब और सिविल लाइंस के बीच की जमीन का चयन किया गया है, जहां पुराने सभी निर्माण को हटाकर कॉमर्शियल और रेसिडेंशियल कांप्लेक्स बनाने की योजना है। इसके लिए सागौन बंगले से लगे सभी सरकारी दफ्तरों को खाली करवा दिया है। लेकिन महीनों गुजरने के बाद भी इस प्रोजेक्ट पर कोई ठोस निर्णय नहीं हो सका है। यहां से पूरे स्टॉफ व दफ्तर को सिरपुर भवन परिसर की बिल्डिंग में शिफ्ट किया गया है। सूत्रों के मुताबिक जमीन के कॉमर्शियल उपयोग को लेकर मामला फंस गया है। इसको लेकर नए सिरे से सर्वे किया जा रहा है। यह भी बताया गया है कि सरकारी जमीन पर कांप्लेक्स बनाने वाली एजेंसी व उसके स्वरूप को लेकर मंथन चल रहा है, जिसपर मुहर लगनी बाकी है। जमीन मिलने के बाद सीआरडीसी की जिम्मेदारी : पीडब्ल्यूडी से अलग छत्तीसगढ़ सड़क विकास निगम (सीआरडीसी) इस जमीन पर कामर्शियल-रेसिडेंशियल कांप्लेक्स डेवलप करेगा। लेकिन सीआरडीसी के एमडी विलास भोसकर संदीपन के अनुसार उन्हें अभी तक जमीन नहीं मिली है। जमीन हैंडओवर होने के बाद ही सीआरडीसी यहां कुछ प्लान तय करेगा।

साढ़े पांच एकड़ का प्लाट : सागौन बंगला वाले परिसर में पीडब्ल्यूडी के दफ्तर और पुराने क्वार्टर वगैरह हैं, जिन्हें तोड़कर साढ़े 5 एकड़ का प्लाट निकाला जाएगा और उसमें निर्माण शुरू होगा। यहां पर प्रोजेक्ट के सफल होने के बाद ही राजधानी व प्रदेश के अन्य शहरों में इसे आगे बढ़ाया जाएगा। दरअसल पीडब्ल्यूडी महकमे की राजधानी सहित प्रदेशभर में सैकड़ों एकड़ जगह खाली पड़ी है या उसमें ऐसा निर्माण है जो अनुपयोगी हो चुका है। इन्हीं भूखंड का व्यावसायिक उपयोग कर विभाग अपनी आय बढ़ाने की तैयारी में है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta