छत्तीसगढ़

ट्रांसपोर्ट की आड़ में दूसरे राज्यों से हो रही शराब की तस्करी...

Admin2
30 Jan 2021 6:02 AM GMT
ट्रांसपोर्ट की आड़ में दूसरे राज्यों से हो रही शराब की तस्करी...
x
पुलिस ने जब्त की हरियाणा की 99 पेटी शराब

जसेरि रिपोर्टर

रायपुर। आबकारी विभाग ने बड़ी कार्रवाई करते हुए ट्रांसपोर्ट की आड़ में चल रही शराब तस्करी के मामले का भंडाफोड़ किया है। विभाग ने 99 पेटी हरियाणा की शराब जब्त की है, जिसकी कीमत 11 लाख रुपये बताई जा रही है। गिरफ्तार आरोपित से मामले में पूछताछ जारी है। वहीं मुख्य आरोपित ट्रांसपोर्टर संदीप सिंह फरार है। आबकारी विभाग गोगांव स्थित गोदाम मालिक से भी इस मामले में पूछताछ कर रहा है। गिरफ्तार आरोपित मयूर नान वाणी निवासी तिफरा मंडी बिलासपुर के खिलाफ प्रकरण कायम कर विवेचना में लिया गया।

विभाग से मिली जानकारी के अनुसार दौरान गश्त टीम में सहायक जिला आबकारी अधिकारी अजय पांडेय व उनकी टीम ने मुखबिर की निशानदेही पर शुक्रवार को सब्जी मार्केट देवपुरी से एक पिकअप वाहन की चेकिंग की। वाहन की चेकिंग के दौरान सब्जी वाहन में 22 सफेद बोरी बंद पेटी रखी हुई थी, जिसे चेक करने पर उसमें शराब मिली। आरोपित ड्राइवर मयूर नान वाणी से शराब के संबंध में पूछताछ की गई। उसकी निशानदेही पर रायपुर गोगांव स्थित मनोज गोयनका के गोदाम क्र. 12 में आबकारी की टीम ने दबिश दी। इस गोदाम को संदीप सिंह, मेसर्स गणपति ट्रांसपोर्ट निवासी हीरापुर रायपुर किराए पर लेकर रखा है, लेकिन वह मौके से फरार हो गया। गोदाम से 77 पेटी तीन अलग-अलग ब्रांड की शराब जब्त की गई है।

बड़ी खेप खपाने की आशंका : इतनी मात्रा में दूसरे राज्य की शराब पकड़े जाने से आबकारी विभाग हरकत में आ गया है। अंदेशा है कि काफी दिनों से यह काम चल रहा था। जिस गोदाम से शराब पकड़ी गई है, वहां से दूसरे जिलों में भी शराब भेजी गई है।

गोदाम मालिक को तीन दिन का समय : आबकारी विभाग ने गोगांव स्थित मनोज गोयनका के गोदाम के मालिक को तीन दिन का समय दिया है। मनोज को गोदाम क्र.12 का किरायानामा और अन्य दस्तावेज देने के लिए कहा गया है। अगर गोदाम के संबंध में सही दस्तावेज नहीं मिलते हैं तो मालिक पर भी विभाग कार्रवाई करने की तैयारी में है।

शराब तस्करी रोकने अधिसूचना के बाद भी नहीं खुले जांच केंद्र : छत्तीसगढ़ में शराब की तस्करी को रोकने के लिए एयरपोर्ट बस अड्डे और रेलवे स्टेशन में जांच केंद्र खोलने का निर्देश सरकार ने दिया है, लेकिन आबकारी विभाग की तरफ से इस पर कोई तैयारी नहीं हुई है। इसी का नतीजा है कि राजधानी रायपुर और इसके आस-पास के जिलों में शराब की अवैध तस्करी धड़ल्ले से हो रही है। भूमिया थाना क्षेत्र तिल्दा में रोड चेकिेंग के दौरान अवैध शराब का परिवहन कर रहा वाहन पकड़ा गया। रायपुर में ओडिशा और मध्यप्रदेश ब्रांड की अंग्रेजी शराब पकड़ी गई है। आबकारी विभाग ने शराब की तस्करी को रोकने के लिए केवल एक बोतल शराब के परिवहन की छूट दी है। इसके अलावा सरकार ने यह निर्णय लिया है कि बाहर से तस्करी कर लाई जाने वाली शराब को पकडऩे के लिए एयरपोर्ट, बस अड्डों, और रेलवे स्टेशनों में जांच केंद्र शुरू किए जाएं।

इसके लिए एक माह पहले अधिसूचना भी जारी कर दी गई थी। मगर, इसके बाद भी अभी तक विभागीय अधिकारियों की तरफ से जांच केंद्र खोलने को लेकर आगे की प्रक्रिया नहीं की गई है। अधिकारी इसके लिए कार्ययोजना तक नहीं बना पाए हैं। आबकारी विभाग के अधिकारी एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालने में लगे हैं। इस विषय पर आबकारी आयुक्त निरंजन दास ने कहा जांच केंद्र शुरू कराने का काम विभाग के प्रबंध संचालक त्रिपाठी को दिया गया है। इधर, प्रबंध संचालक का कहना है कि जांच केंद्र को लेकर क्या प्रगति हुई है, उसके बारे में विभाग के आयुक्त ही बता पाएंगे।

पुलिस ने गोदाम में मारा छापा, भारी मात्रा में शराब जब्त

आबकारी विभाग ने एक बार फिर बड़ी कार्रवाई की है. विभाग ने शहर के 2 अलग-अलग क्षेत्रों में दबिश देकर करीब 100 पेटी अवैध अंग्रेजी शराब बरामद किया है. पहली कार्रवाई रिंग रोड नंबर-1 में की गई, जहां से 22 पेटी अंग्रेजी शराब जब्त की गई. दूसरी कार्रवाई गो-गांव इलाके के गोडाउन से करीब 77 पेटी शराब बरामद किया है।

विभाग ने 99 पेटी हरियाणा की शराब जब्त की है। मामले की जांच की जा रही है। फरार आरोपित को जल्द ही पकड़ा जाएगा।

- अरविंद पाटले, जिला आबकारी उपायुक्त, रायपुर

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta