छत्तीसगढ़

उपेक्षा से पुराने कार्यकर्ताओं में नाराजगी : टीएस सिंहदेव

Admin2
24 Oct 2020 6:39 AM GMT
उपेक्षा से पुराने कार्यकर्ताओं में नाराजगी : टीएस सिंहदेव
x

दो मंत्रियों ने एल्डरमैन नियुक्ति को लेकर जारी की प्रतिक्रिया

जसेरि रिपोर्टर

रायपुर। कांग्रेस कार्यकर्ताओं में असंतोष की हवा को दो मंत्रियों के हालिया बयानों से फिर हवा मिलती दिख रही है। स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव के सरकार से कभी-कभी दूरी, उनके बयानों से इस तरह की अटकलों को हवा मिलती रही है। एक बार फिर उन्होंने कहा है कि प्रदेश की कांग्रेस सरकार ने संघर्ष के दिनों में काम करने वाले कार्यकर्ताओं को दरकिनार कर दिया है, जिससे कार्यकर्ता असंतुष्ट हैं। इस पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि ऐसा प्रदेश में नहीं है। हो सकता है, उनके क्षेत्र में कार्यकर्ताओं में असंतोष हो, इसी संदर्भ में ऐसा बयान दिया होगा।

अंबिकापुर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं से भेंट करने के दौरान पंचायत मंत्री ने कहा कि सरगुजा संभाग में ऐसा देखनेे में आ रहा है कि संघर्ष के दिनों में कांग्रेस के जिन कार्यकर्ताओं ने पार्टी को आगे ले जाने में भूमिका निभाई उन्हें छोड़ पार्टी में नए जुड़े लोगों को महत्व दिया जा रहा है। सिंहदेव का बयान आने के बाद पार्टी के बड़े नेताओं में उनके बयान को लेकर सनसनी फैल गई है। सरगुजा संभाग में यह देखा गया कि कांग्रेस के पुराने कार्यकर्ताओं को छोड़ विधायक और उनसे करीबी लोगों को महत्व दिया जा रहा है। इसका उदाहरण मनेंद्रगढ़ विधानसभा में देखने को मिला। जहां पार्टी से 20 साल से जुड़े और विपक्ष में रहने के दौरान पार्टी में आवाज बुलंद करने वालों को एल्डरमैन नहीं बनाया गया. वहीं नए जुड़े लोगों को इस पद पर मनोनयन किया गया। सभी एल्डरमैन विधायक के बहुत नजदीकी माने जाते है। ऐसा सरगुजा संभाग में संगठन में नियुक्ति को लेकर भी मतभेद के मामले सामने आ रहे है। कार्यकर्ताओं ने अपनी बातों से पंचायत मंत्री को अवगत कराया है। कांग्रेस कार्यकर्ताओं की उपेक्षा किए जाने की बात अंबिकापुर में मंत्री सिंहदेव ने बताई। सिंहदेव ने सारी बात सुनने के बाद कार्यकर्ताओं के असंतुष्ट होने की बात सरगुजा संभाग के संबंध में कही है। मामले में गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने ी सिंहदेव व्दारा कांग्रेस में असंतोष के बयान को लेकर प्रतिक्रिया जाननी चाही तो उन्होंने कहा कि प्रदेश में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं में असंतोष नहीं है। जिन्होंने संघर्ष के दिनों में साथ दिया उन्हें बराबर महत्व दिया जा रहा है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta