छत्तीसगढ़

रायपुर : आधी रात चाकूबाजों की आई शामत, 500 बदमाशों की पुलिस ने लगाई क्लास

Janta Se Rishta Admin
19 Oct 2020 6:07 AM GMT
रायपुर : आधी रात चाकूबाजों की आई शामत, 500 बदमाशों की पुलिस ने लगाई क्लास
x
राजधानी में बढ़ती चाकूबाजी की घटनाओं को लेकर पुलिस अब सख्ती दिखा रही है

रायपुर (जसेरि)। राजधानी में बढ़ती चाकूबाजी की घटनाओं को लेकर पुलिस अब सख्ती दिखा रही है। शनिवार-रविवार की रात पुलिस ने चाकूबाजी करने वाले बदमाशों के घरों में छापा मार कार्रवाई की है। पुलिस ने 5 साल में चाकूबाजी करने वाले 552 बदमाशों की सूची बनाई थी। उनके घर आधी रात पहुंची और उन्हें उठाकर थाने ले आई। रातभर उन्हें बैठाकर रखा गया। सुबह चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

पुलिस ने एक दर्जन से ज्यादा बदमाशों को जेल भेजा है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने 5 साल में चाकूबाजी करने वाले बदमाशों की सूची तैयार की है। उनका नाम, पता नोट किया गया। आधी रात को बदमाशों को पकडऩे के लिए हर थाने की तीन-तीन टीम बनाई गई। उन्हें थाने के अनुसार सूची दी गई। रात 12 बजे पुलिस की कार्रवाई शुरू हुई, जो सुबह 6 बजे तक चलती रही। पुलिस की टीम एक-एक इलाके में गई। अधिकांश बदमाश सो रहे थे। उन्हें घरों से उठाकर लाया गया। रातभर थाने में बैठाकर रखा गया। इसमें कुछ ऐसे लोग भी थे, जो एक ही बार चाकूबाजी या मारपीट के मामले में जेल हैं। उन्हें भी थाने लगाया गया। सुबह सभी की थाने में परेड लगाई है। सभी को चेतावनी दी गई है कि अगर किसी की अब शिकायत आई या किसी घटना में शामिल हुए तो उनके खिलाफ जिला बदर या राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई की जाएगी।

निकाले जा रहे पुराने रिकार्ड : राजधानी रायपुर में अपराधियों पर शिकंजा कसने पुलिस प्रशासन अभियान चला रहा है। राजधानी में बढ़ती चाकूबाजी की घटना को देखते हुए पुलिस ने गुंडे-बदमाशों की लिस्ट निकालना शुरू कर दिया है। उनपर सख्त कारवाई करने की कवायद शुरू कर दी है। बता दें कि शहर में लगातार चाकूबाजी की वारदात हो रही है। इसपर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अजय यादव के निर्देश पर एएसपी लखन पटले ने चाकूबाज करने वालों शातिरों को पकडऩे मुहिम शुरू की है। इसमें साल 2015 से चाकूबाजी की घटनाओं के अपराधियों के रिकार्ड निकाले जा रहे हैं।

ट्रैफिक चालान की रसीद आज से बंद, कार्रवाई अब हाईटेक, कैश नहीं चलेगा

राजधानी में के कुछ प्रमुख चौराहों पर सोमवार से पुलिस अगर किसी को ट्रैफिक नियम तोड़ते हुए पकड़ेगी तो उन्हें चालान की रसीद नहीं देगी। बरसों पुराने इस सिस्टम को बंद करते हुए ट्रैफिक पुलिस ने सारी कार्रवाई ई-चालान डिवाइस से करने का फैसला किया है। इसके लिए स्मार्ट सिटी ने 30 ई-डिवाइस भी दे दी है। अर्थात, सोमवार को अगर कोई भी ट्रैफिक नियमों के उल्लंघन में फंसा तो वह कैश जुर्माना नहीं दे पाएगा। यही नहीं, हाथ की रसीद के बजाय उसे जुर्माना का प्रिंटेड चालान दिया जाएगा, वह भी कार्ड वगैरह से मौके पर जुर्माना अदा करने के बाद। अफसरों ने बताया कि ई-चालान डिवाइस परिवहन विभाग से जुड़े हैं और इनका साफ्टवेयर ऐसा है कि पुलिस को केवल ट्रैफिक नियम तोडऩे वाली गाड़ी का नंबर डालना होगा। गाड़ी नंबर से ही उसके मालिक का नाम, पता और मोबाइल नंबर सब स्क्रीन में दिखने लगेगा। एक बटन दबाते ही तुरंत ई-चालान प्रिंट हो जाएगा। यह पूरा काम ऑटो-मोड पर होगा, सिर्फ कमांड ही देना होगा। यही नहीं, डिवाइस में कार्ड स्वाइप करने या ऑनलाइन पेमेंट की सुविधा दी गई। अर्थात चालान के लिए अब पुलिस को अलग से स्वाइप मशीन रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। स्मार्ट सिटी ने ये डिवाइस सौंपने के साथ-साथ शनिवार और रविवार को ट्रैफिक अफसरों को इसे चलाने का पूरा तरीका भी समझा दिया है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta