Top
छत्तीसगढ़

रायपुर: पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई के बाद भी नहीं रुक रहे अपराध

Admin2
22 Nov 2020 6:04 AM GMT
रायपुर: पुलिस की ताबड़तोड़ कार्रवाई के बाद भी नहीं रुक रहे अपराध
x
एक महीने के भीतर राजधानी में आधा दर्जन से ज्यादा हत्या के वारदात

जसेरि रिपोर्टर

रायपुर। राजधानी में बढ़ते अपराधों के बीच हत्या जैसी संगीन वारदात भी बढ़ी है। पिछले एक महीने के दौरान ही आधा दर्जन से ज्यादा हत्या के मामले सामने आये। इन मामलों में पुलिस ने तत्परता दिखते हुए ना सिर्फ मामले के तह तक पहुंची बल्कि आरोपियों को भी गिरफ्तार करने में कामियाब हुई। पुलिस एक ओर अपराधों को रोकने में पूरा ज़ोर लगा रही है। वही दूसरी ओर अपराधियों में कानून का खौफ नहीं होने से वारदातें भी बढ़ रही है। अपराधियों में जो आज हिम्मत बढ़ती जा रही है कहीं न कहीं उसके पीछे क़ानूनी व्यस्था में कुछ ढीलापन भी है।

हत्या जैसे मामले में पुलिस को भी ऐसा ही लगता है कि अपराधियों को आजकल जल्दी जमानत मिल जाती है जिसके चलते उनके हौसले और भी बुलंद हो गए है। पुलिस ने वही दूसरी तरफ अपनी तेज़ और कड़ी कार्रवाई को जारी रखा है जिसके चलते उन्होंने हत्या जैसे मामले में चंद घंटों के भीतर आरोपियों को गिरफ्तार कर लेते है।पुरानी रंजिश बनती हत्या की वजह : अक्सर ऐसे देखा गया है कि दो पक्षों में पुरानी रंजिश के चलते हत्या जैसी वारदातें भी हो जाती है जिसके बाद पुलिस भी जांच में जुट जाती है और मामले की गुत्थी को सुलझा कर आरोपी को न्यायालय में पेश करती है मगर कोरोना महामारी के चलते आरोपियों की सुनवाई को आगे बढाकर कोरोना टेस्ट और बाकि की सारी फॉर्मेलिटी को पूरा करने के लिए जमानत मिल जाती है जिससे आरोपियों के हौसले सातवें आसमान में पहुंच जाते है। जिससे हत्या जैसे संगीन अपराध भी आम हो जाते है।


गृह विभाग की बड़ी बैठक आज, पुलिस विभाग के आला-अधिकारी होंगे शामिल

गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू 22 नवंबर को प्रदेश में बढ़ रहे अपराधों को लेकर पुलिस विभाग के आला अधिकारियों की बैठक लेंगे। बैठक सुबह 11.00 बजे से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से होगी। इस बैठक में प्रदेश के सभी संभाग के पुलिस महानिरीक्षक, पुलिस महानिरीक्षक गुप्त वार्ता व सभी जिलों के पुलिस अधीक्षक शामिल होंगे।

पुलिस अपनी तरफ से बड़ी से बड़ी कार्रवाई कर रही है और हत्या के मामलों में भी विशेष टीम का गठन कर दो से तीन दिनों में मामले के खुलासे कर दिए जाते है। अब अपराधों को कम करने के लिए रायपुर पुलिस का एक अभियान जनता को देखने मिलेगा।

- लखन पटले, एएसपी रायपुर

आपसी विवाद के चलते हत्या

अब हत्या होने और हत्या करने वालों में एक और एंगल सामने आया है वो है आपसी विवाद। आपसी विवाद हर मामले की जड़ होती है। पुलिस का भी कहना है कि अगर कही हत्या होती है तो इसमें सबसे पहले आपसी विवाद के मसले की तलाश की जाती है। उसके बाद कोई और तहकीकात की जाती है। हत्या जैसे मामलों भी आरोपी कुछ न कुछ सबूत पुलिस के लिए छोड़ जाते है जिससे पुलिस भी चंद घंटों में आरोपियों की तलाश पूरी कर लेती है। हत्या जैसी वारदात एक समय में लोगों के मन में डर पैदा कर देता था मगर अब ऐसा कुछ देखने को नहीं मिलता है। और हत्या करने वाले आरोपी भी इस वारदात को आम वारदातों जैसा समझने लग जाते है।

नशे के चलते हत्या के बढ़े वारदात

राजधानी में पुलिस ने नशे के सौदागरों पर कमर तोड़ कार्रवाई की है, मगर उसके बाद भी नशा युवाओं को नहीं छोड़ता और युवा नशे का हाथ नहीं छोड़ते। अब नशे की वजह से भी काफी लोगों की हत्याएं राजधानी में हुई है जिसके चलते पुलिस ने अपनी कमर कस ली और नशे के सप्लायरों की कमर ही तोड़ दी। पुलिस ने रायपुर से लेकर मुंबई जैसे बड़े शहरों से भी ड्रग माफियों को गिरफ्तार कर यहां लाई है। जिससे अपराधियों के हौसले टूटते दिखे है। मगर हत्या की वारदातें आए दिन बढ़ती जा रही है मगर पुलिस भी ऐसे अपराधियों को धूल चटाने के लिए तैयार है।

एसएसपी ने दिए दिशा निर्देश

रायपुर में बढ़ते अपराधों के ग्राफ को देखते हुए रायपुर एसएसपी अजय यादव ने सभी थाना प्रभारियों की आज मीटिंग ली। इस मीटिंग में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा की गई। मीटिंग के दौरान पुलिस मुख्यालय से महिला संबंधी अपराधों के त्वरित निकाल के संबंध में दिये गये निर्देशों का अक्षरश पालन करने की हिदायत दी गई।

साथ ही पिछले 2 महीने में हुई घटनाओं में तत्काल गिरफ्तारी के निर्देश दिये गये। कोर्ट खुलने के बाद कोविड के दौरान लंबित चालान लगातार प्रस्तुत करने और लंबित अपराधों का त्वरित निराकरण करने के निर्देश दिये गये। साल के आखिरी दो महीने बचे है उसके चलते नंवबर माह चल रहा है इसलिए लंबित सभी अपराधों का दिसम्बर अंत तक हर हाल में निराकरण करने के निर्देश दिये गये। हाल में हुई चाकूबाजी की घटनाओं के मद्देनजर सभी निगरानी, गुंडा, बदमाशों एवं नये चाकूबाजों पर त्वरित कार्यवाही के लिए लगातार पैदल पेट्रोलिंग एवं बाईक पेट्रोलिंग स्वयं थाना प्रभारी की उपस्थिति में किये जाने और हर छोटी सी छोटी घटना को त्वरित कार्यवाही के निर्देश दिया गया। साथ ही लंबित मर्ग और शिकायतों का भी निराकरण करने के निर्देश दिये गये। सभी राजपत्रित अधिकारियों को अपने सब-डिविजन स्तर पर थानावार टीम बनाकर फरार आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु दीगर राज्यों में टीम भेजने एवं थानो की मॉनिटीरिंग करने के निर्देश दिये। असमाजिक तत्वों एवं अड्डेबाजी करने वालों एवं जुआ, सट्टा, कबाड़ी पर लगातार कार्यवाही के निर्देश दिये गये।


दुकान में घुसकर मारपीट, आरोपी फरार

राजधानी में अपराध इतने सक्रिय हो चुकें है कि अपराधी लोगों के घरों और उनके दुकानों में घुसकर मारपीट करने लगे है। आपको बता दें कि ये मामला दिवाली के एक दिन पहले की है जिसमें आशीष कुररिया ने एक व्यापारी किशोर चंद नायक के दुकान में घुसकर उससे मारपीट की। इस बात की शिकायत व्यापारी ने खम्हारडीह थाने में की। इस मामले को 9 दिन हो चुकें है मगर आरोपी आशीष कुररिया अभी भी फरार चल रहा है। देखा जाए तो पुलिस उसकी तलाश कर रही है मगर वहीँ दूसरी तरफ ऐसे अपराधियों की वजह से दूसरे अपराधियों की हिम्मत भी बढ़ जाती है। खम्हारडीह थाना प्रभारी ने बताया कि इस मामले में आरोपी के खिलाफ आईपीसी की धारा 452, 294, 506, 427 के अंतर्गत अपराध पंजीबद्ध किया गया और जल्द ही आरोपी आशीष कुररिया को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it