Top
छत्तीसगढ़

पुलिस और अपराधियों का चल रहा लुकाछिपी का खेल...ड्रग तस्करी के बीच नशीली दवाओं का भी चल रहा अवैध कारोबार

Rishi kumar sahu
17 Oct 2020 6:05 AM GMT
पुलिस और अपराधियों का चल रहा लुकाछिपी का खेल...ड्रग तस्करी के बीच नशीली दवाओं का भी चल रहा अवैध कारोबार
x

जसेरि रिपोर्टर

रायपुर। राजधानी में हो रहे अपराधों को कम करने के लिए नशे के कारोबारियों पर रोक लगाने के लिए पुलिस अभियान चला रही है। हर दिन आरोपियों को गिरफ़्तार कर ही रहे है। फिर भी अपराधी अपराध करने से बाज नहीं आ रहे हैं। आये दिन मारपीट चाकूबाजी और लूट जैसी वारदात देखने को मिल ही रही है। और वही दूसरी तरफ नशीली दवाइयों का अवैध कारोबार बेखौफ चल रहा है। युवाओं के बड़े वर्ग को हिंसक और पागल बनाने वाली नशीली दवाइयों पर कार्रवाई होती तो है लेकिन पूरे प्रदेश में नशे के कारोबारियों के नेटवर्क की पहुंच शहरों से गांवों की गलियों तक है। ये दवाइयां प्रतिबंधित हैं, डॉक्टर के पर्ची के बिना नहीं बेची जा सकतीं मगर फिर भी कुछ दवाई दुकानों में ये प्रतिबंधित दवाई बिक रही है। और दूसरी जगह आईपीएल के आने से सटोरियों की भी दीवाली शुरू हो गई। पूरे रायपुर में ऐसे कई पॉश इलाके है जहां सट्टा और जुआ खिलाया जाता है। मगर पुलिस को देखकर जुआरी वहां से भाग जाते है और सट्टे बाज हाथ में आये तो मुचलके में सबको जमानत देनी पड़ जाती है।

नशे की गोलियों से होती वारदातें : प्रदेश में चाकूबाजी, छिनटई के साथ घरेलू हिंसा के केस लगातार बढ़ रहे हैं। राजधानी में पहले एक युवक ने अपने तीन बच्चों को चाकू मारकर उनकी जान लेने की कोशिश की। बच्चे गंभीर रूप से घायल हो गए।

शराब, गांजा, चरस, ड्रग्स, अफीम तस्करी खेल खुलेआम : राजधानी की संड़ांध मारती गली-मोहल्लों में पुडिय़ा बाजों ने अड्डा बना रखा है, जहां से वह घरों में सप्लाई कर रहे है। सूत्रों के मुताबिक इस काळा कारोबार में छुटभैया नेताओं का हाथ है, जो उनसे अवैध वसूली कर उन्हें बचाने के लिए संरक्षण देकर गांजा और नशे के काले कारोबार को बढ़ावा दे रहे है। गांजा तस्करों का गिरोह नशेडिय़ों को सस्ते में नशा उपलब्ध करवा रहे है। हर गली मोहल्लो में 10 रुपए में गांजे की पुडिय़ा मिल रही है।

इन जगहों पर नशे के कारोबारियों ने बिछा रखा है जाल : बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन से लगे मोहल्लों से लेकर आऊटर के टाटीबंध, सरोना, कबीर नगर, मोहबा बाजार, हीरापुर, सोनडोंगरी, जरवाय, मोवा, पंडरी, काली नगर, वाल्मिकी नगर, खमतराई संन्यासी पारा, पुरानी बस्ती टूरी हटरी, रामनगर, उडिय़ा बस्ती सिविल लाइन, अशोक नगर, गुढिय़ारी, चूना भट्टी, मुर्रा भट्टी, गुढिय़ारी पड़ाव, राजा तालाब, देवेंद्र नगर, फोकट पारा, फाफाडीह, डब्ल्यू.आर.एस कालोनी की बस्ती, सुंदर नगर, चंगोराभाठा, भाटागांव, कालीबाड़ी, नेहरू नगर, रामकुंड, टिकरापारा, कटोरा तालाब, तेलीबांधा, राजेंद्र नगर, जोरा, लाभांडी जैसे इलाकों में अवैध नशे के कारोबारियों ने अपना जाल बिछा रखा है।

दवाइयां मिलती है बिना पर्ची के

नशेडिय़ों को कुछ दवाई दुकानों से डॉक्टर की पर्ची दिखाए बिना ही नशीली दवाई दे दी जाती है। नशेडिय़ों से डॉक्टर पर्ची मांगी जानी बंद है। दिलचस्प ये है कि नशेडिय़ों को ये दवाइयां गल्ले से लेकर पंक्चर की दुकानों में भी मिल रही हैं। रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग-भिलाई शहर के अलावा आस-पास के ग्रामीण इलाकों में भी ये दवाइयां मिलती जा रही है। प्रदेश में कुछ मेडिकल स्टोर्स नशे का कारोबार कर रहे हैं। दोगुनी-तिगुनी कमाई के चक्कर में दवा-दुकान वाले ऐसी दवाएं बेच रहे हैं, जिनका उपयोग करते ही दिमाग में नशा छा जाता है। ये दवाएं जीवन रक्षक तो हैं, लेकिन नशीली होने के कारण डॉक्टर की पर्ची के बिना बेचना बैन है। पर बाजार में दवाएं धड़ल्ले से मिल रही हैं। सैकड़ों युवा इन दवाओं की गिरफ्त में फंसकर पागलपन की दहलीज तक पहुंच चुके हैं।

बाइक से भी चल रहा रैकेट

नशीली दवाओं का धंधा करने वाले मेडिकल स्टोर्स संचालक रैकेट बनाकर काम कर रहे हैं। मेडिकल स्टोर्स से तो दवाएं परमानेंट कस्टमर को ही दी जाती हैं, लेकिन नए ग्राहकों के लिए वे पुराने कस्टमर की ही मदद ले रहे हैं। कई पुराने कस्टमर को कमीशन पर दवाओं का स्टॉक दे दिया जाता है। वे बाइक और आटो में घूमते-फिरते नशीली दवाएं बेच रहे हैं। रायपुर, बिलासपुर और दुर्ग-भिलाई की घनी आबादी और झुग्गी इलाके में नशीली दवाइयों का पागलपन ज्यादा है। फनसीडील हो या एल्प्राजोलम, नेट्रावेट हो या कोडीन और टोरेक्स सिरप नशे के आदी लोगों को आसानी से मिल रही है।

नशीली दवा बेचते दवा दुकान संचालक गिरफ्तार

थाना कबीर नगर क्षेत्र के अंतर्गत सोनडोंगरी बाजार चौक स्थित जय मां दुर्गा मेडिकल स्टोर में अवैध तरीके से प्रतिबंधित नशीली दवाई की बिक्री करते संचालक श्रवण कुमार साहू को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। नशे के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए कबीर नगर थाना पुलिस ने कार्रवाई की। पुलिस ने बताया कि मुखबिर से सूचना मिली थी कि मां दुर्गा मेडिकल स्टोर से नशीली दवा बेची जाती है। इस पर थाना कबीर नगर की टीम ने दुकान में छापामार कार्रवाई की। दुकान के संचालक द्वारा अवैध तरीके से प्रतिबंधित नशीली दवाई बिक्री करते हुए पाए जाने पर पुलिस की टीम ने जय मां दुर्गा मेडिकल स्टोर के संचालक श्रवण कुमार साहू को गिरफ्तार कर लिया। आरोपित के खिलाफ धारा 21, एनडीपीएस एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it