छत्तीसगढ़

लक्षण वाले मरीज जिनका एंटीजन टेस्ट निगेटिव है, उनका आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य करें - कलेक्टर अभिजीत सिंह

Admin2
13 Oct 2020 8:54 AM GMT
लक्षण वाले मरीज जिनका एंटीजन टेस्ट निगेटिव है, उनका आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य करें - कलेक्टर अभिजीत सिंह
x

नारायणपुर। कोरोना संक्रमण के प्रसार श्रृंखला को तोड़ने हेतु समुदाय स्तर पर कोरोना के लक्षण वाले मरीजों की पहचान के लिए कोरोना सघन सामुदायिक सर्वे अभियान चलाया जा रहा है। सर्वे दल द्वारा घर-घर पहुँचकर लक्षण वाले मरीजों से जानकारी एकत्रित की जा रही है। ऐसे लोग जिनमें कोरोना के लक्षण हैं, वे टेस्ट होने एवं रिपोर्ट आने तक घर में ही रहे, कहीं आये-जाए नहीं। लक्षण वाले मरीजों का एंटीजन किट की रिर्पाेट निगेटिव आने पर आरटीपीसीआर टेस्ट किया जाता है। लेकिन लोगों में यह भ्रंातियां है कि रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद भी दुबारा टेस्ट क्यों किया जाता है। आरटीपीसीआर टेस्ट नाक एवं मंुह (गले) से किया जाता है, जिसकी रिपोर्ट की सत्यता अधिक है, लोग टेस्ट कराने से डरे नहीं। अगर लोग टेस्ट कराने से मना कर रहे हैं, तो उन्हें सलाह दिया जाये कि टेस्ट करें, नहीं मानने पर सख्ती से कार्यवाही करते हुए उनका टेस्ट करें। उक्त बातें कलेक्टर श्री अभिजीत सिंह ने आज कोरोना वायरस कोविड-19 के संक्रमण एवं रोकथाम के लिए गठित जिला स्तरीय कोरोना टास्क फोर्स समिति की बैठक में कही। बैठक में कलेक्टर ने सर्वे किये गए क्षेत्र, घरों की संख्या एवं जांच किये गए लोगों तथा कोरोना लक्षण वाले मरीजों सहित ऐसे मरीज जिनको बाहर रिफर किया गया है, उनके स्वास्थ्य के बारे में भी जानकारी ली। बैठक कलेक्टोरेट के सभाकक्ष में हुई। बैठक में अनुविभगीय अधिकारी राजस्व दिनेश कुमार नाग, डिप्टी कलेक्टर सर्वश्री गौरीशंकर नाग, वैभव क्षेत्रज्ञ, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ ए.आर.गोटा सहित अन्य सदस्य उपस्थित थे।

कलेक्टर सिंह ने ओरछा में कोविड केयर सेंटर बनाने के लिए भवन का चिन्हांकन तथा कोविड केयर सेंटर में लगने वाली अन्य जरूरी व्यवस्था के लिए मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिए थे। आज बैठक में ओरछा में कोविड केयर सेंटर के संचालन हेतु व्यवस्था की जानकारी ली।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta