छत्तीसगढ़

राजधानी में दुबई से ऑपरेट हो रहा ऑनलाइन सट्टा

Admin2
8 July 2021 6:11 AM GMT
राजधानी में दुबई से ऑपरेट हो रहा ऑनलाइन सट्टा
x

डीजीपी के फटकार के बाद एक्शन में पुलिस, राजधानी में ऑनलाइन जुए-सट्टे का गिरोह फूटा

बिहार के 14 सटोरिए समेत 18 गिरफ्तार; 18.40 लाख रु. का सामान जब्त

मुख्य सरगना भिलाई के सौरभ और रवि जो विदेश में बैठकर चला रहे अवैध कारोबार

रायपुर के डॉन का क्या होगा?

राजधानी के नेहरू नगर, कालीबाड़ी चौक, संजय नगर, टिकरापारा, संतोषी नगर, बैरन बाजार, नयापारा, शंकर चौक, बिजली ऑफिस, नयापारा डबरी, रामकुंड, रामनगर, गुढिय़ारी, गोगांव, पहाड़ी चौक, कोटा, भवानी नगर, पुरानी बस्ती, चुना भट्टी, आज़ाद चौक, खपरा भट्टी, आकाशवाणी काली मंदिर, सिविल लाइन में सट्टा-जुआ का कारोबार चलता है। जुआ माफियों ने अपना अड्डा नेहरू नगर और नई बस्ती क्षेत्र के अलावा कई जगहों पर बना कर अवैध कारोबार शुरू कर दिया है। गौरतलब है कि इस कारोबार से लगे लोगों के हौसले इतने बुलंद हो चुके है कि अब दिनदहाड़े खुले मैदानों में भी सट्टा पर्ची काटी जा रही है। पुलिस ने फिलहाल ऑनलाइन सट्टे में लगे सटोरियों को पकड़ा है लेकिन शहर में गली-मोहल्ले में ठिकाने बना कर सट्टा पट्टी कटवाने वाले बड़े सटोरियों पर हाथ नहीं डाल रही है।

पुलिस की गिरफ्त में ये सटोरिये

बेलगहना बिलासपुर निवासी विकास अग्रवाल, बरमकेला, रायगढ़ निवासी सचिन अग्रवाल, धरमजयगढ़, रायगढ़ निवासी अनिल अग्रवाल उर्फ अतुल, सहरसा, बिहार निवासी दीपक कुमार मेहता, राकेश कुमार सिंह, राकेश कुमार मेहता, मिथिलेश कुमार मेहता, अशोक कुमार मेहता, पसरहा, विक्की कुमार पटेल, अजय कुमार मेहता, सुड्डू कुमार, श्रवण कुमार, खगडिय़ा निवासी हेमराज व श्रीकांत कुमार, बलौदाबाजार निवासी खिलेश्वर नामदेव, मधेपुरा निवासी सर्वेश कुमार सिंह व पाण्डव मेहता, भागलपुर निवासी हरिनंदन कुमार शामिल हैं।

जसेरि रिपोर्टर

रायपुर। छत्तीसगढ़ के रायपुर में सट्टे के बड़े कारोबार का पर्दाफाश हुआ है। पुलिस ने जुए और सट्टे के धंधे में लगे 18 सटोरियों को गिरफ्तार किया है। इनमें से 14 बिहार के रहने वाले हैं। पुलिस ने आरोपियों से कैश, मोबाइल, कार समेत करीब 18.40 लाख रुपए का सामान बरामद किया है। पकड़े गए आरोपी विदेश में बैठे भिलाई गैंग की मदद से इस कारोबार को चला रहे थे। कार्रवाई तेलीबांधा थाना पुलिस और साइबर सेल ने संयुक्त रूप से की है।

जानकारी के मुताबिक, पुलिस को मंगलवार को सूचना मिली कि कुछ लोग कार से घूम-घूम कर सट्?टा चला रहे हैं। इस पर साइबर सेल की मदद से गाड़ी को अवंति विहार के पास ट्रेस कर लिया। पुलिस गाड़ी के पास पहुंची तो अंदर तीन युवक मोबाइल, लैपटॉप लेकर बैठे थे। पुलिस को देखते ही उसे बंद कर दिया। जब उसकी जांच की गई तो पता चला कि ऑनलाइन जुए और सट्टे का संचालन किया जा रहा था।

क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल और चुनाव एग्जिट पोल जैसे एप से सट्टा

तीनों आरोपियों ने पुलिस को बताया कि वे एप और ऑनलाइन तीन पत्ती, क्रिकेट, हॉकी, फुटबॉल व अन्य स्पोट्र्स और चुनाव एक्जिट पोल में सट्टा व जुए का संचालन करते हैं। इसके लिए सिविल लाइंस क्षेत्र के तरूण नगर में एक मकान भी किराये पर ले रखा है। इस पर पुलिस ने मकान में छापा मारा तो वहां 15 लोग अलग-अलग मोबाइल और लैपटॉप के साथ मिले। सभी सट्टा चलवा रहे थे।

ग्राहकों को देते हैं ऑनलाइन आईडी

सटोरियों ने बताया कि वे विभिन्न एप और लिंक से ऑनलाइन आईडी ग्राहकों को देते हैं। इसमें लॉगिन कर वे रकम का भुगतान करते हैं। इसके एवज में सटोरियों की ओर से उन्हें वर्चुअल क्वॉइन देकर सट्टा खिलवाया जाता है। आरोपियों के पास से करोड़ों रुपए का हिसाब, 4 लैपटॉप, 34 मोबाइल, विभिन्न इलेक्ट्रानिक डिवाइस, क्रेटा वाहन और 1.30 लाख रुपए कैश सहित 18.40 लाख रुपए का सामान बरामद हुआ है।

बैंकों में फर्जी खाते, हवाला से रुपए होते हैं ट्रांसफर

आरोपियों ने बताया कि मुख्य सरगना भिलाई निवासी सौरभ और रवि हैं। जो विदेश में बैठकर इस कारोबार का संचालन करते हैं। उन्होंने अलग-अलग बैंकों में फर्जी खाते खोल रखे हैं। इनसे ही रकम ट्रांसफर होती है। सटोरियों को उनके हिस्से की रकम हवाला के जरिए दी जाती है। सौरभ और रवि अपने फर्जी बैंक खातों में ज्यादा रकम आने पर रुपए निकालने के बाद उसे बंद कर देते हैं। फिर नया खाता खुलवाया जाता है।

किराये में ले रखा है मकान

पूछताछ में पुलिस को पता चला कि सटोरियों ने सट्टा/जुआ संचालित करने के लिए थाना सिविल लाइन क्षेत्रांतर्गत तरूण नगर स्थित पॉश कालोनी में किराये में मकान ले रखे हैं। इसके अलावा सटोरिये चार पहिया वाहन में भी घूम-घूम कर सट्टा/जुआ का संचालन करते थे और जीतने वालों को रकम पहुंचाते थे।

14 सटोरिये बिहार के रहने वाले

पुलिस ने बताया कि सटोरियों द्वारा प्रतिदिन करोड़ो रुपयों के सट्टा/जुआ का कारोबार का संचालन किया जाता है। पुलिस अधीक्षक शहर लखन पटले, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अपराध अभिषेक माहेश्वरी एवं नगर पुलिस अधीक्षक सिविल लाइन नसर सिद्धकी के निर्देशन में सायबर सेल एवं थाना तेलीबांधा पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा की गई कार्यवाही में पकड़े गये सटोरियों में से 14 सटोरिये बिहार के निवासी हैं। उनके कब्जे से चार लैपटॉप, 34 मोबाइल फोन, विभिन्न इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस, नगदी एक लाख तीस हजार रुपये एवं करोड़ों रुपये के सट्टा का हिसाब जब्त किया गया है।

घटना में प्रयुक्त चार पहिया क्रेटा वाहन क्रमांक सी जी/13/डब्ल्यू/9335 को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है। सटोरियों से जब्त सामान की कुल कीमत लगभग 18 लाख 40 हजार रुपये बताई जा रही है। सटोरियों के विरूद्ध थाना तेलीबांधा में अपराध क्रमांक 252/21 धारा 4क जुआ एक्ट के तहत अपराध पंजीबद्ध किया गया है। सटोरियों के विरूद्ध रायपुर पुलिस का यह अभियान लगातार रहेगा जारी।

विदेश में बैठे हैं मास्टरमाइंड

सटोरियों ने बताया कि मुख्य सरगना सौरभ एवं रवि निवासी भिलाई जिला दुर्ग हैं, जो विदेश में बैठकर इस कारोबार का संचालन करते हैं। सौरभ एवं रवि के द्वारा अलग-अलग बैंकों में फर्जी खाते खोलकर ग्राहकों से रकम स्थानांतरित कराई जाती है। पकड़े गये सटोरियों को उनके हिस्से का रकम हवाला के माध्यम से दी जाती है। सौरभ एवं रवि द्वारा फर्जी बैंक खातों में ज्यादा रकम आने पर रकम का आहरण कर खाता को बंद करा दिया जाता है और नया खाता खुलवाया जाता है। पूछताछ में कई बैंक खातों की जानकारी प्राप्त हुई है, खातों को सीजिंग करने की प्रक्रिया की जा रही है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta