छत्तीसगढ़

कभी यहां सुनाई देती थी बारूद और बंदूक की गूंज, अब होगा चहुमुंखी विकास

Janta Se Rishta Admin
28 Jun 2022 3:42 AM GMT
कभी यहां सुनाई देती थी बारूद और बंदूक की गूंज, अब होगा चहुमुंखी विकास
x

राजनांदगांव। घोर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों को विकास की मुख्य धारा से जोडऩे के लिये सुदूर वनांचल क्षेत्रों में शासन द्वारा रोड कनेक्टीविटी के लिए विशेष प्रयास किये जा रहे हैं। 3 करोड़ 62 लाख 99 हजार रूपये राशि की लागत से मानपुर विकासखंड अंतर्गत 7.30 किलोमीटर कोरकट्टी जंक्शन से कनेली मार्ग में पुल-पुलिया सहित निर्माण कार्य किया गया। आरसीपीएलडब्ल्यूई आरआरपी-2 योजना के अंतर्गत लोक निर्माण विभाग संभाग राजनांदगांव द्वारा यह रोड 26 अप्रैल 2022 को पूर्ण की गई। इससे अधोसंरचना मजबूत हुई है। कभी यहां बारूद की गूंज, बंदूक की आवाज सुनाई देती थी। लेकिन अब यहां सड़क के निर्माण से न जाने कितने ही रास्ते विकास के नये सिरे खोल देगी, जिससे इस क्षेत्र का कायाकल्प और चहुमुंखी प्रगति होगी। वर्ष 2009 में 13 साल पहले कोरकट्टी में यहां नक्सली हिंसा में पुलिस अधीक्षक श्री विनोद चौबे एवं पुलिस के जवान घने जंगलों के बीच शहीद हुए थे। जिसकी पीड़ा और टीस आज भी मन में बनी हुई है। ऐसी पथरीली राहों को सुगम बनाने न जाने कितनों लोगों की शहादत, मेहनत और हिम्मत शामिल है।

इस मार्ग के निर्माण होने से ग्राम कोरकोट्टी, हनैकला, नागुटोला, चिखलाकसा, कनेली, चावांरगांव के ग्रामवासियों को प्रत्यक्ष रूप से एवं आस-पास के लगभग 10 ग्रामों के ग्रामवासियों को अप्रत्यक्ष रूप से सुगम यातायात की सुविधा प्राप्त हो रही है। मार्ग के निर्माण से कृषि कार्य में लगे किसान लाभान्वित हो रहे हैं तथा नक्सल प्रभावित क्षेत्र के ग्रामवासियों को ब्लाक मुख्यालय एवं जिला मुख्यालय आने-जाने में सुविधा हो रही है, जो क्षेत्रवासियों के लिए महत्वपूर्ण है। इस महत्वपूर्ण मार्ग के निर्माण जैसी शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, खाद्य जैसी बुनियादी सुविधाएं तीव्र गति से इन क्षेत्रों में पहुंचेगी। बारहमासी आवागमन सुलभ होगी। रोड के बन जाने से ग्रामवासियों में खुशी की लहर है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta