छत्तीसगढ़

भ्रामक खबर, स्कूल शिक्षा विभाग ने किया खंडन

Janta Se Rishta Admin
27 Jun 2022 12:33 PM GMT
भ्रामक खबर, स्कूल शिक्षा विभाग ने किया खंडन
x

रायपुर। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा ऐसी किसी योजना के प्रचलित होने का आधिकारिक रूप से खंडन किया गया है। उर्दू शिक्षकों की भर्ती को लेकर यदि किसी अन्य विभाग द्वारा कोई प्रक्रिया प्रचलन में हो भी तो उसकी मंशा को लेकर इस वायरल समाचार की भाषा बेहद आपत्तिजनक है ।अत:इस वायरल पोष्ट को फॉरवर्ड करना तथा अन्य तरीकों से इसका प्रचार -प्रसार घोर आपत्तिजनक है।

झूठा आरोप, शिकायत कर्ता को ही लगा 5 हजार का जुर्माना

अंबिकापुर - बेबुनियाद और निराधार शिकायत करने पर मनरेगा लोकपाल द्वारा शिकायत कर्ता के विरुद्ध 5000 रुपये अर्थदण्ड से दंडित करने का अनुशंसा किया गया है। मनरेगा लोकपाल द्वारा पारित अवार्ड के अनुसार आरटीआई कार्यकर्ता व शिकायतकर्ता श्री डीके सोनी के द्वारा मैनपाट के कामलेश्वपुर एकलव्य विद्यलय में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना द्वारा खेल मैदान समतली करण में मजदूरी राशि की गड़बड़ी की शिकायत की गई। जांच करने पर पाया गया कि उक्त कार्य ग्रामीण यांत्रिकी सेवा अम्बिकापुर द्वारा कराया गया है। दस्तवेजों के अवलोकन पर पाया गया कि कमलेश्वरपुर के एकलव्य आवासीय विद्यालय के खेल मैदान में के समतलीकरण हेतु शासन द्वारा 37.20 लाख रुपये की स्वीकृति देकर अनावेदक एजेंसी को क्रियान्वित एजेंसी बनाया गया। उक्त एजेंसी द्वारा कार्य किया जाकर मजदूरी के रूप में 2,66,888 रुपये का भुगतान किया गया। कड़ी स्थल पर बोर्ड पाया गया। सामग्री मद में कोई व्यय नहीं किया गया है। तत्कालीन कार्यपालन अभियंता द्वारा जिला पंचायत कार्यालय को अवगत कराया गया है कि भूमि पर ग्रामीणों का कब्जा होने के कारण कार्य में बाधा होने से की स्थिति में कार्य कराया जाना संभव नहीं है। तदनुसार मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत सरगुज़ा द्वारा शेष कार्य में बाधा होने से कार्य निरस्त करते हुए किये गए कार्य की मजदूरी राशि 266888 का स्वीकृत राशि 37.20 लाख में समायोजन कर बचत राशि 34 लाख 53 हजार 112 रुपये शासन के खाते में सुरक्षित है।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta